NJCA के तत्वावधान में पुरानी पेंशन योजना बहाली के लिए चल क्रमिक भूख हड़ताल से जुड़ी महिला कर्मचारी

Spread the love

जयपुर. भारतीय रेलवे की दोनों मान्यता प्राप्त ट्रेड यूनियन NFIR ओर AIRF के संयुक्त मोर्चा NJCA के आव्हान पर जयपुर रेलवे स्टेशन के मुख्य परिसर में उत्तर पश्चिम रेलवे मजदूर संघ, नार्थ वेस्टर्न रेलवे एम्प्लाइज यूनियन, ओबीसी एम्प्लाइज एसोसिएशन, एससी एसटी एम्प्लाइज एसोसिएशन के नेतृत्व में दिनांक 08 जनवरी 2024 से चल रही क्रमिक भूख हड़ताल में बड़ी संख्या में महिला रेल कर्मचारी भी जुड़ गई यह क्रमिक भूख हड़ताल दिनांक 08 जनवरी 2024 से 11 जनवरी 2024 तक रोज सुबह 09 बजे से शाम 06 तक रहेगी।
इस भूख हड़ताल में सभी रेल कर्मचारी अपनी प्रमुख मांग नई पेंशन योजना को समाप्त कर पुरानी पेंशन योजना बहाली के लिए कर रहे है। इस क्रमिक भूख हड़ताल में आज UPRMS के याकत अली, याकूब अली, मोहम्मद फिरोज, महेश शर्मा( खवारानीजी) , तौसीफ अहमद, काडी बाई , गीता देवी , अहसान खान , महेश शर्मा , नीलम जाटव , सीमा मीना, मंजू मीना, राशि , सुमन चौधरी, सरोज धाकड़, बिमला चौधरी, छवि राठौर, पूजा कनोरिया, शर्मिला ख्यालिया, संतरा मीना, लाली मीना, जीताराम, अमित, सौरभ , तरुण , नेहा यादव, कंचन कंवर , अर्चना देवी , रिंकी देवी , सुनीता लखारा , कविता मीना, उषा कंवर , दीपिका, नीरज , मोनिका , नीतू , सुनीता , बबलू केसी , गगन गोड , संदीप अग्रवाल , योगेश कुमार मीणा , भगवान सिंह मीणा, अहमद , रोहिताश गोस्वामी, दीपक सैन , महेंद्र चौधरी, शंकर मीना , NWREU के गोपाल मीना, सुरेंद्र सिंह बधाला, क्रष्ण शर्मा, रवि यादव, सतीश ज्याणी , सुभाष मीना, लक्ष्मी , जितेंद्र चौधरी , धीरज नागर , योगिता , सुमन मीना , कमलेश मेहरा , कमलेश मीना , SCSTEA के सुनील मीना सहित सेकड़ो रेल कर्मचारी महिला रेल कर्मी क्रमिक भूख हड़ताल पर बैठे। साथ ही इस क्रमिक भूख हड़ताल में लगातार चार दिन तक सेकड़ो रेल कर्मचारी क्रम बदल बदल कर लगातार इस भूख हड़ताल में बैठेंगे।
इस दौरान उत्तर पश्चिम रेलवे मजदूर संघ के मंडल अध्यक्ष सौरभ दीक्षित ने बताया की हमारी पेंशन की लड़ाई में बड़ी संख्या में महिला कर्मचारियों का जुड़ना इस बात को इंगित करता है कि कर्मचारी के सुखद भविष्य के लिए पेंशन का होना अतिआवश्यक है जहां एक ओर सरकार महिला शक्ति को बढ़ावा देने पर जोर देती है और दूसरी तरफ पेंशन नही देकर महिला कर्मचारियों के भविष्य के साथ कुठाराघात कर रही है। आज यहां बैठी महिला शक्ति एक परिवर्तन का संकेत है अगर केंद्र सरकार समय रहते नही जागती है तो हम सब केंद्रीय रेल कर्मी आने वाले लोकसभा चुनाव में वोट की चोट से इस सरकार को जगाने का काम करेंगे। पेंशन हर तरीके से कर्मचारी का सहारा होती है और अगर यह सरकार पेंशन ही नही दे रही है तो फिर हम ऐसे चुप नही बैठेंगे ओर आगामी समय मे एक बड़े आंदोलन का रूप लेकर पेंशन के लिए अंतिम समय तक लड़ाई लड़ने का काम करेंगे।
NWREU के पदाधिकारी सतीश ज्याणी ओर सुरेंद्र बधाला ने बताया कि हमारी प्रमुख मांग न्यू पेंशन स्कीम को समाप्त कर पुरानी पेंशन योजना बहाल करने की है यह हठधर्मी सरकार जब तक OPS लागू नही करेगी तब तक हम दोनों मान्यता प्राप्त यूनियन NJCA के नेतृत्व में लगातर विभिन्न तरीकों से आंदोलन करते रहेंगे साथ ही आने वाले समय मे रेल का चक्का जाम करने का काम करेंगे और यह क्रमिक भूख हड़ताल सिर्फ इसलिय की जा रही है कि सामान्य रेल यात्रियों को उनकी यात्रा में किसी प्रकार की कोई परेशानी नही हो वरना सभी रेल कर्मचारी लगातार आमरण अनसन पर बैठने को तैयार है।
इस क्रमिक भूख हड़ताल में सेकड़ो रेल कर्मचारीयो ने भाग लिया और क्रम दर क्रम बदल कर भूख हड़ताल पर बैठे रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.