अजमेर संसदीय क्षेत्र में डीएपी खाद एवं यूरिया की हो समुचित आपूर्ति : चौधरी

Spread the love

अजमेर सांसद भागीरथ चौधरी ने केन्द्रीय उर्वरक मंत्री, प्रदेश के मुख्यमंत्री एवं मुख्य सचिव को लिखा पत्र, रखी मांग
रबी फसल की बुआई के लिए आवश्यक है डीएपी एवं यूरिया खाद

अजमेर. अजमेर सांसद भागीरथ चौधरी ने अजमेर संसदीय क्षेत्र के अजमेर जिलें एवं दूदू क्षेत्र के साथ-साथ आस-पास के सभी इलाको में डीएपी खाद की समुचित आपूर्ति कराने हेतु केन्द्रीय रसायनिक एवं उर्वरक मंत्री मनसुख एल. मंडाविया एवं प्रदेश के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत एवं प्रदेश की मुख्य सचिव उषा शर्मा को पत्र लिखकर किसानों एवं ग्रामीणों को ईफको एवं कृभकों कम्पनी द्वारा डीएपी एवं युरिया खाद की अविलम्ब उपलब्धता कराने की मांग रखी। सांसद चौधरी ने पत्र के माध्यम से सरकार को अवगत कराया कि गत 15-20 दिनों से संसदीय क्षेत्र अजमेर में जन संपर्क के दौरान दूदू एवं केकडी विधानसभा क्षेत्र के साथ-साथ सम्पूर्ण अजमेर जिले के किसानों एवं ग्रामीणों ने मुझे व्यक्तिशः एवं दूरभाष पर सम्पर्क कर डीएपी खाद एवं युरिया की समुचित आपूर्ति नहीं होने से इसकी कमी के बारें में अवगत कराया है।

वर्तमान में अजमेर संसदीय क्षेत्र में उक्त डीएपी खाद के अन्तर्गत ईफको के साथ-साथ कृभको कम्पनी की आपूर्ति की जा रही है। चूंकि इस वर्ष अजमेर लोकसभा क्षेत्र में बहुत अच्छी वर्षा हुई हैं, तथा रबी की बुआई बहुत ज्यादा रहने वाली हैं। सम्पूर्ण राजस्थान में सबसे ज्यादा सरसों एवं चनें की बुआई इसी क्षैत्र में होती हैं। रबी फसल की बुवाई को लेकर अन्नदाता द्वारा खेतों की हकाई कर तैयार कर लिए गए है, प्रदेश में चना, सरसों आदि की बिजाई का समय भी लगभग प्रथम नवरात्रा से अर्थात सितम्बर अंत व अक्टूबर माह प्रारम्भ होता है। लेकिन क्षेत्र में डीएपी खाद एवं युरिया का स्टाक लगभग शून्य हैं। ईफको कम्पनी के अधिकारियों द्वारा अभी तक डीएपी खाद एवं युरिया की आपूर्ति आगे से कम्पनी द्वारा आंवटन नहीं किये जाने से संसदीय क्षेत्र के ग्रामीणों एवं किसानों को खाद का वितरण नहीं हो पा रहा है। जिससे ग्रामीणों एवं किसानों में रोष व्याप्त हो रहा है और उन्हे रबी की फसल बुवाई में परेषानी आ सकती है। और क्षेत्र के किसान खाद एवं युरिया के लिए दर-दर भटकनें पर मजबूर होंगा। साथ ही साथ आने वाले 10 दिनों के बाद स्थिति भयानक होने वाली हैं। चूकि मेरे संसदीय क्षेत्र में रबी फसल 2022 की बुआई के लिए लगभग 15000 मेट्रिक टन डीएपी खाद एवं युरिया की और महत्ती आवश्यकता है, ताकि किसानों को पर्याप्त आपूर्ति हो पाए। अतः आप इस संबंध में अजमेर रैक पाईंट पर इफको की 2 डीएपी एवं 02 युरिया की रैक की आपुर्ति सुनिश्चित कराने के लिए राजस्थान प्रदेश के विभागीय उच्चाधिकारियों एवं ईफको को अविलम्ब निर्देशित कराकर, अजमेर संसदीय क्षेत्र के अजमेर जिले एवं जयपुर जिलें के दूदू क्षेत्र में पर्याप्त डीएपी खाद व युरिया की समूचित आपूर्ति कराये जाने का श्रम करावें।

Leave a Reply

Your email address will not be published.