सरपंचों ने की ग्राम पंचायत कार्यालयों पर तालाबंदी, 22 को विधानसभा का घेराव

Spread the love

जमवारामगढ़, 14 मार्च (विकास शर्मा)। उपखंड क्षेत्र जमवारामगढ़ में राजस्थान सरपंच संघ के निर्देशन में जिला सरपंच संघ के बैनर तले सोमवार को जमवारामगढ़ विधानसभा की सभी ग्राम पंचायतों के सरपंचों ने ग्राम पंचायत कार्यालयों पर तालाबंदी की।

पंचायत समिति जमवारामगढ़ सरपंच संघ की अध्यक्ष सुनीता रूपेश शर्मा एवं पंचायत समिति आंधी के सरपंच संघ के अध्यक्ष अटल गुप्ता के नेतृत्व में सरपंच संघ को मजबूती देने एवं सभी मांगों के लिए तथा अपने हक की लड़ाई के लिए सरपंचों ने ग्राम पंचायत कार्यालयों पर यह तालाबंदी की। आगे की रणनीति के तहत सरपंच संघ की मांगे पूरी नहीं हुई तो प्रशासनिक कार्यों का बहिष्कार किया जाएगा। साथ ही 22 मार्च को जयपुर में विधानसभा व सीएम हाऊस का घेराव करेंगे। इस दौरान सभी सरपंचों ने पंचायत कार्यालयों पर तालाबंदी कर एकता दिखाई है।

सरपंच संघ के सदस्यों ने कहा कि पंच-सरपंच तो 24 घंटे सीधे आम-आदमी के संपर्क में रहता है। देश की सभी सरकारों को बनाये रखना या विपक्ष में बैठाने का काम यह सब पंचायती राज के जनप्रतिनिधियों की ताकत पर निर्भर करता है। बिना ग्राम पंचायतों के पंच-सरपंचों के बिना कोई भी सरकार कुछ भी नही कर सकती है।

जरूरत पड़ी तो जयपुर कूंच – सुनिता रूपेश

जब तक हमारी सभी मांगों को पूरी नहीं करते तब तक सरपंच संघ राजस्थान के आदेशानुसार ग्राम पंचायत कार्यालयों पर सांकेतिक तालाबंदी कर सरकारी कार्यों का बहिष्कार जारी रखेंगे व जरुरत पडऩे पर जयपुर विधानसभा का घेराव करेंगे। -सुनिता रूपेश शर्मा, सरपंच संघ अध्यक्ष, जमवारामगढ़

सरकार ने की वादा खिलाफी – बाबूलाल

सरकार को हमारी मांगे माननी चाहिए। सरकार ने पहले आश्वासन देकर वादा खिलाफी की है तथा बजट में भी सरपंचों को कुछ नहीं दिया। सरकार ने समझौता कर लिखित में आदेश नहीं निकाले।-बाबूलाल मीणा, सरपंच, ग्राम पंचायत गठवाडी व संरक्षक सरपंच संघ जमवारामगढ़

पंच-सरपंचों की अनदेखी -बदाम देवी

आज पंचायत राज के जनप्रतिनिधि केवल एक रबड़ की मोहर बनकर रह गए हैं, जिनका काम केवल जाति प्रमाण पत्र, मूल निवास प्रमाण पत्र, आय प्रमाण पत्र, राशन कार्ड, जनधन कार्ड बनाने का ही रह गया है। मूल कार्य गांवों के विकास के लिए आज अधिकारी वर्ग ही निर्णय लेता है, जो भी जिला स्तर और उपखण्ड स्तर पर। आज पंचायती राज के जनप्रतिनिधियों की अवहेलना हो रही है, जिससे सभी पंच व सरपंचों में रोष है। -बदाम शर्मा, सरपंच, ग्राम पंचायत राहोरी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *