बैंक के साथ धोखाधडी रोकने के लिए बढ़ाई सीए की भूमिका

Spread the love

बैंक ऑडिट पर हुआ सेमिनार का आयोजन

किशनगढ़, 1 अप्रेल। किशनगढ़ सीए संस्थान की ओर से 1 अप्रेल को मेगा सेमिनार का आयोजन किया गया। यह सेमिनार बैंक ऑडिट और प्रीप्रेसन ऑफ़ एमओसी पर आयोजित की गई।

इस सेमिनार में मुख्य अथिति सीआईआरसी चेयरमैन सीए अतुल महरोत्रा (लखनऊ) एवं वाइस चेयरमैन सीए किशोर बरडिया (रायपुर) थे। मुख्य अथिति ने सेमिनार में वर्चुअल ज्वाइन किया और साथ ही विशिष्ट अथिति आरसीएम सीए लोकेश महेश्वरी, सचिव सीआईआरसी, सीए अनिल कुमार यादव सिकासा चेयरमैन सीआईआरसी एवं सीए अंकित सोमानी और सीए आकाश भार्गोती थे और साथ ही आरसीएम सीए कीर्ति जोशी (इन्दोर), सीए मनीषा बियानी (रांची), सीए नितिन गुप्ता (गाजियाबाद) ने सेमिनार में वर्चुअल ज्वाइन किया।

इस सेमिनार के मुख्य वक्ता सीए अजय अटोलिया एवं सीए दिनेश कुमार जैन थे, जिनका स्वागत उद्बोधन सीए संस्थान कमेटी ने किया। साथ ही दुपट्टा पहनाकर और स्मृति चिन्ह भेंट कर स्वागत किया गया।

सीए अतुल महरोत्रा एवं सीए किशोर बर्दिया ने बताया कि इस वर्ष बैंक ऑडिट शुरू हो चुके है। सभी सरकारी बैंकों की शाखाओ को सीए द्वारा अपनी बहियों को ऑडिट कराना अनिवार्य है। इसमें सीए का चयन आईसीएआई के एमईएफ द्वारा बैंक का एलएचओ करता है।

इस सेमिनार के वक्ता सीए अजय अटोलिया ने बैंक ऑडिट के बारे में बताया। बैंकिंग सेक्टर में बढ़ रही धोखाधड़ी पर अंकुश के लिए आरबीआई सख्त हो गया है। कई नियम बदले और कुछ नियमों को नय सिरे से जोड़ा गया है। साथ ही बैंक ऑडिट को लेकर भी बदलाव हुआ है। बैंक के साथ धोखाधड़ी नहीं हो। इसके लिए ्रसीए का रिपोर्टिंग पार्ट बढ़ा दिया गया है। इन्हीं बदलावों और ऑडिट में सावधानी के बारे में बताया गया। सेमिनार में 2 सत्र में वक्ताओं ने कहा कि हर खाते में प्रत्येक तीन माह में लोन का ब्याज जमा होना चाहिए। ऐसा नहीं होने पर बैंक खाते को एनपीए घोषित कर देता है, परंतु 3 सितंबर 2020 को न्यायालय ने 31 मार्च 2021 तक किसी भी खाते को एनपीए घोषित नहीं करने के निर्देश दिए हैं। इसी बीच न्यायालय ने यह आदेश 23 मार्च को वापस ले लिया है। अब बैंक मार्च के शेष दिनों में ऐसे खातों में शीघ्र रिकवरी करवाए नहीं तो अप्रैल में बैंक ऑडिट में बड़ी संख्या में खाते एनपीए घोषित होंगे।

सेमिनार में जयपुर से आए सीए दिनेश कुमार जैन ने बताया कि आरबीआई ने 2 महीने पहले बैंकों का फॉर्मेट बदला है। यह बैंक की हर गतिविधि की रिपोर्ट तैयार करेंगे। इसके अलावा सीए दिनेश जैन ने प्रीप्रेसन ऑफ़ एमओसी के बारे में बताया।

किशनगढ़ ब्रांच के अध्यक्ष सीए मोहित जैन ने सभी अथिति एवं वक्ता और सेमिनार में आये सभी श्रोतागण का आभार व्यक्त किया। साथ ही बताया कि इसके लिए एक पेनल भी बनाया गया है, जिसके तहत किसी मेम्बर्स को कोई क्वेरी है तो वो पेनल से पूछ सकते हैं और समस्या का समाधान कर सकते हैं।

इस सेमिनार में सीए सीएम अगरवाल, सीए आर ए गुप्ता, सीए सुशिल बंसल, सीए प्रवीण जैन, सीए अखिलेश शर्मा, सीए आशीष गुप्ता, सीए सुरेश रामचंदानी, सीए साकेत कालानी, सीए विपिन परीक एवं सीए 50 से अधिक मेम्बर्स ने भाग लिया

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *