सनातन धर्म के गौरव को बढ़ाने का दायित्व ब्राह्मण समाज पर : ओझा

Spread the love

देश भर से राजधानी जयपुर में जुटे विप्र समाज के नेतृत्वकर्ता, सकल ब्राह्मण समाज की एकता, अखंडता एवं उत्थान के लिए किया मंथन

जयपुर/ सवाई माधोपुर। विश्व ब्राह्मण महासभा (ट्रस्ट)के बैनर तले रविवार को राज्य की राजधानी जयपुर में विश्व समन्वय संघर्ष समिति की बैठक एवं विप्र सम्मान समारोह कार्यक्रम बड़े ही हर्षोल्लास के साथ सम्पन्न हुआ। जिसमें सम्पूर्ण भारत वर्ष से विभिन्न ब्राह्मण समाज से जुड़े बड़े पदाधिकारी एवं नेतृत्वकर्ता एक जगह एक मंच पर एक साथ जुटे और ब्राह्मण समाज की एकता, अखंडता एवं सामाजिक उत्थान के लिए विचार विमर्श कर आगे की रणनीति तय की। देश के वर्तमान के हालातों के मद्देनजर अपनी अस्मिता को लेकर चुनाव जैसे मुद्दों पर भी चिन्तन किया । राष्ट्रीय अध्यक्ष श्रीमती डॉ अनीता मिश्रा (राजस्थान) के नेतृत्व एवं संयोजन में सफलता पूर्वक आयोजित विश्व समन्वय संघर्ष समिति की बैठक एवं विप्र सम्मान समारोह में ब्राह्मण रत्न एवं उच्च कोटि के विचारक तथा आरएएस अधिकारी पंकज कुमार ओझा ने मुख्य वक्ता के रूप में गहरी छाप छोड़ी। उन्होंने ने उपस्थित विप्र बन्धुओं को संबोधित करते हुए कहा कि सनातन धर्म के गौरव को बढ़ाने का मुख्य दायित्व ब्राह्मण समाज पर ज्यादा है। इसलिए इस समाज को अपने-अपने स्थान पर कार्य करते रहना चाहिए। उन्होंने यह भी कहा कि आज कुछ विचार धाराएं सनातन धर्म पर हमला करने का प्रयास कर रही हैं। इसका मुकाबला करने का दायित्व ब्राह्मण समाज का है। ओझा बोलें की ब्राह्मण समाज के युवा अपने-अपने स्थान का ध्यान रखते हुए सनातन धर्म को और अधिक गौरवशाली बनाने का प्रयास करें। उन्होंने कहा कि सनातन धर्म के विरुद्ध जो षडयंत्र रचे जा रहे हैं उससे भविष्य में हिदू धर्म पर प्रश्न चिन्ह लगने की संभावना से भी इंकार नहीं किया जा सकता है। ऐसी परिस्थितियों में ब्राह्मण समुदाय का दायित्व और अधिक बढ़ जाता है। प्रदेश अध्यक्ष डा. विनोद कुमार शास्त्री ने बताया कि भारत ब्राह्मण जोड़ो यात्रा के अंतर्गत गुलाबी नगरी जयपुर में संपूर्ण भारत के भिन्न भिन्न प्रांतों में कार्यरत ब्राह्मण संस्थाओं के पदाधिकारी एकत्रित होकर ब्राह्मणों की एकता, ब्राह्मणों के उत्थान एवं कल्याण के लिए राजधानी जयपुर में ब्राह्मण महासभा भवन के सामने स्थित अखिल जांगिड़ ब्राह्मण धर्मशाला विद्याधर नगर, सेक्टर 4, जयपुर में एक मंच पर एक साथ जुटे और एक दिवसीय कार्यशाला में वर्तमान हालातों और परिदृश्य पर गहराई से मंथन किया।

सम्मेलन में आर्थिक आधार पर आरक्षण लागू करने ,एट्रोसिटी एक्ट में माननीय सर्वोच्च न्यायालय के निर्णय अनुसार बदलाव, परशुराम जयंती पर राष्ट्रीय अवकाश, ईडब्ल्यूएस आरक्षण का कोटा 15% करने, एवं केसीआर कि तेलंगाना सरकार की तरह अधिकार तथा बजट संपन्न विप्र कल्याण आयोग के गठन किये जाने ,हिंदू धर्म के सनातन मंदिरों, मठों को सरकारी नियंत्रण से मुक्त करने के आदि के प्रस्तावों पर विचार विमर्श कर उन्हें पास किया। अखिल भारतीय ब्राह्मण समाज राष्ट्रीय अध्यक्ष पंडित सुरेंद्र चतुर्वेदी ने बताया कि ब्राह्मणों की राष्ट्रीय एकता के लिए अयोध्या ,वाराणसी काशी विश्वनाथ, प्रयागराज, उज्जैन के बाद अब जयपुर में देशभर के ब्राह्मण संस्थाओं के प्रतिनिधियों ने एक जगह जुटकर ब्राह्मणों की एकता , अखंडता और समाज के उत्थान पर मंथन किया। अगला राष्ट्रीय ब्राह्मण सम्मेलन शिवाजी की धरती मराठों के गढ़ ज्योतिर्लिंग त्रंबकेश्वर नाशिक महाराष्ट्र में होगा। यह जानकारी भी कार्यक्रम में दी गई। सम्मेलन मे उज्जैन मध्य प्रदेश से अखिल भारतीय ब्राह्मण समाज राष्ट्रीय अध्यक्ष पंडित सुरेंद्र चतुर्वेदी, सर्वश्री वीरेंद्र त्रिवेदी, प्रदेश महामंत्री रमाकांत शर्मा, चंद्रशेखर शर्मा , बंटी राजेंद्र शर्मा ,पंडित सतीश शर्मा ,जगदीश शर्मा , दीपक गुरु आदि पदाधिकारी गणों को विप्र शिरोमणि सम्मान से सम्मानित किया गया। जयपुर राष्ट्रीय ब्राह्मण सम्मेलन में दिल्ली, कर्नाटक, तेलंगाना, हैदराबाद ,महाराष्ट्र ,पंजाब ,गोवा, मध्य प्रदेश ,बिहार, उत्तर प्रदेश, गुजरात, आसाम ,मुंबई सहित देश भर के सभी राज्यों के ब्राह्मण संस्थाओं के प्रतिनिधि शामिल हुए।

कार्यक्रम की अध्यक्षता राज्य प्रशासनिक अधिकारी एवं ब्राह्मण समाज के विद्वान व कुशल वक्ता पंकज कुमार ओझा झा ने की। संगठन की राष्ट्रीय अध्यक्ष डॉ. अनीता मिश्रा ने अपने उद्बोधन में कहा कि मैं हमेशा गरीबों के साथ रही हूं और आगे भी रहूंगी और लोगों की सेवा करती रहूंगी। मूर्ति मीना ने कहा की हम आपके साथ हैं । प्रदेश अध्यक्ष डॉ.विनोद शास्त्री ने कहा कि शिक्षा से वंचित छात्रों को शिक्षा से जोड़ने का कार्य करेंगे। इससे पूर्व कार्यक्रम के प्रथम सत्र में नमो नमो मोर्चा की प्रदेश अध्यक्ष एवं कार्यक्रम की मुख्य अतिथि श्री मती मूर्ति मीणा द्वारा कार्यक्रम संयोजक एवं राष्ट्रीय अध्यक्ष डा.अनीता मिश्रा, राष्ट्रीय महामंत्री सुरेश मूले(महाराष्ट्र) एवं प्रदेश अध्यक्ष डा. विनोद शास्त्री सहित मंचासीन अतिथियों द्वारा भगवान श्री परशुराम जी की प्रतिमा के समक्ष दीप प्रज्वलित कर तथा माल्यार्पण कर कार्यक्रम का उद्घाटन किया गया। समारोह में राजस्थान सहित देश भर के 151 लोगों को विप्र सर्वजन शिरोमणि अवार्ड से सम्मानित किया गया। जिसके चलते उन्हें प्रणाम- पत्र एवं स्मृति चिन्ह भेंट कर तथा उनका साफा पहनाकर तथा महिलाओं को शाल ओढ़ाकर स्वागत सत्कार किया गया। इस अवसर पर सांस्कृतिक कार्यक्रमों की भी धूम रही। समारोह में अनेक वक्ताओं ने अपने- अपने विचार रखे। कार्यक्रम में विद्वानगण के अलावा सकल ब्राह्मण समाज के पुरुषों के साथ महिलाओं एवं बच्चों ने भी बखूबी हिस्सा लिया।

पत्रकार चन्द्रशेखर शर्मा एवं किसान नेता राजेंद्र वैद्य को भी मिला सम्मान

विश्व ब्राह्मण महासभा (ट्रस्ट) द्वारा आयोजित विश्व समन्वय संघर्ष समिति की बैठक एवं विप्र सम्मान समारोह में ब्राह्मण रत्न के रूप में सवाई माधोपुर जिले से भारत टाईम्स अखबार के सवाई माधोपुर ब्यूरो प्रमुख व पत्रकार चन्द्रशेखर शर्मा, भारतीय किसान यूनियन (अ) के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष व ब्राह्मण समाज के युवा नेता राजेंद्र वैद्य, ब्राह्मण समाज गंगापुर सिटी के पूर्व अध्यक्ष हेमंत शर्मा व ओम प्रकाश शर्मा व अनिल जैमन (दौसा) सहित कई विद्वान व गणमान्य तथा दर्जनों लोग भी सम्मान समारोह में सम्मानित किए गए।

Leave a Reply

Your email address will not be published.