मन-वचन-काय की सरलता का नाम आर्जव

Spread the love

किया भक्तिभाव से पूजन

मदनगंज.किशनगढ़.
पंचायत अध्यक्ष विनोद पाटनी ने पर्यूषण पर्व के तीसरे दिन आर्जव धर्म पर शास्त्र वाचन करते हुए कहा कि मन-वचन-काय की सरलता का नाम आर्जव है। साधना का आधार बिन्दु ही आर्जव धर्म है। आर्जव को नष्ट करने वाली माया कषाय है। माया कषाय दो तरह की होती है। बाहर कुछ और भीतर कुछ और होती है। राम-राम जपना पराया माल अपना की कूटनीति है। मायाचारी, छल, कपट करना स्वयं को धोखा देना है। कपट अविश्वास को पैदा कर देता है। पाटनी ने कहा कि जिनेंद्र भगवान की बगुला भक्ति नहीं वास्तविक भक्ति करो। जहां वक्रता है वहां धर्म नहीं। जहां सरलता है वहीं धर्म है। धर्म में टेढ़ापन नहीं, सरलपन होता है। अत मायाचारी को छोडना ही हमारी उन्नति है।

श्रीजी का अभिेषक, शांतिधारा एवं पूजन

मदनगंज.किशनगढ़. श्री मुनिसुव्रतनाथ दिगंबर जैन पंचायत के तत्वाधान में आयोजित रुपनगढ रोड स्थित श्री मुनिसुव्रतनाथ मंदिर में पयुर्षण पर्व के तृतीय दिन उत्तम आर्जव धर्म दिवस पर प्रात: श्रीजी के पंचामृत अभिषेक.शांतिधारा व पूजन की गई। उपमंत्री दिनेश पाटनी ने बताया कि शांतिधारा करने का सौभाग्य सुशील कुमार अभिषेक कुमार रोहित कुमार गंगवाल परिवार छोटा लम्बा वाले को प्राप्त हुआ। श्रावक. भक्तों द्वारा पंच परमेष्ठी पूजन, देव शास्त्र गुरु पूजन, पंचमेरु पूजन, नव देवता पूजन सोलह कारण पूजन, दसलक्षण पूजन, चौबीस भगवान की पूजन, पाŸवनाथ भगवान की पूजन की। भक्तों द्वारा सामायिक, प्रतिक्रमण, भक्तामर पाठ, आलोचना पाठ कर यथाशक्ति अनुसार व्रत एवं उपवास रखें।
कार्यकारिणी सदस्य विमल बाकलीवाल ने बताया कि सायंकालीन मूलनायक मुनिसुव्रतनाथ भगवान, महावीर भगवान, पाŸवनाथ भगवान, आचार्य वर्धमान सागर महाराज, पद्मावती माता एवं क्षेत्रपाल बाबा की वीर संगीत मंडल की मधुर लहरियों पर नाचते गाते भक्ति भाव से संगीतमय आरती की गई। तत्पश्चात संध्याकालीन धार्मिक एवं सांस्कृतिक कार्यक्रम के तहत 2 सितंबर उत्तम आर्जव धर्म पर श्री महावीर महिला मंडल द्वारा म्यूजिकल अंताक्षरी प्रतियोगिता आयोजित की गई। जिसमें 3-3 व्यक्तियों की 5 टीमें बनाई गई। 6 राउंड के जरिए एक विजेता टीम को चुना गया।
पर्व के तहत 3 सितंबर को महावीर महिला मंडल द्वारा 9 से 15 वर्ष तक के बच्चों के लिए धार्मिक भक्ति नृत्य प्रतियोगिता आयोजित की जाएगी।
इस दौरान पंचायत अध्यक्ष विनोद पाटनी, सुभाष बडजात्या, दिलीप कासलीवाल, चेतन प्रकाश पांडया, कैलाश गंगवाल, सुमेर गोधा, जयकुमार दोषी, भागचंद बोहरा, महेंद्र पाटनी उरसेवा, पुष्पेंद्र बाकलीवाल, राजकुमार वैद, महावीर कालानाडा, राजेश पांडया, ओमप्रकाश गोधा, रमेश पापड़ीवाल, मुकेश पांडया, अमित सेठी, राजकुमार चौधरी, विकास पाटनी सहित सैकड़ों भक्त मौजूद रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.