शिक्षक कर्तव्य बोध के साथ देश निर्माण का कार्य करे

Spread the love


मदनगंज किशनगढ़. राजस्थान शिक्षक संघ(राष्ट्रीय) उपशाखा किशनगढ़ के कर्तव्य बोध पखवाड़ा के तहत आयोजित व्याख्यान वाला में बोलते हुए मुख्य वक्ता देवाराम प्रांत कथा आयाम प्रमुख चित्तौड़ प्रांत ने कहा कि शिक्षक कर्तव्य बोध के साथ राष्ट्र निर्माण का कार्य करें। मुख्य वक्ता ने स्वामी विवेकानन्द व नेताजी सुभाष चन्द बोस के जीवन पर प्रकाश डालते हुए शिक्षकों से आह्वान किया कि हमे महापुरुषो के जीवन चरित्र को आत्मसात करते हुए राष्ट्रनिर्माण में योगदान देना चाहिए। शिक्षक विद्यार्थियों में देश प्रेम के साथ संस्कारयुक्त शिक्षा देवे। आजादी को अक्षुण्ण बनाये रखने के लिए युवा पीढ़ी में देश के प्रति समर्पण के भाव जागृत करे और अपने कर्तव्य का ईमानदारी से निर्वहन करे।
मुख अतिथि प्रदेश महामन्त्री महेंद्र लखारा ने सम्बोधित करते हुए कहा कि राजस्थान का एकमात्र शिक्षक संगठन है जो अधिकारों से पहले कर्तव्य की बात करता है। कर्तव्य के प्रति समर्पण राजस्थान शिक्षक संघ (राष्ट्रीय) की पहचान है। विशिष्ठ अतिथि संगठन के संरक्षक रामावतार शर्मा ने शिक्षकों को संगठित रहने की बात कही। साथ ही शिक्षकों को अपने कर्तव्यों को पहचानने पर जोर दिया।
नगर सहकार्य वाह हेमराज ने संबोधित करते हुए कहा कि शिक्षक जीवन मे श्री राम के आदर्शों को अपनाने के साथ विद्यार्थियों को सनातन संस्कृति की रक्षा कर देश निर्माण का पाठ पढ़ाये ।
चेतन प्रकाश व्यास ने अपने अध्यक्षीय उद्बोधन में सन्गठन की रीति नीति पर प्रकाश डालते हुए। बताया कि राजस्थान शिक्षक संघ राष्ट्रीय प्रतिवर्ष 12 जनवरी स्वामी विवेकानंद जयंती से 23 जनवरी नेताजी सुभाष चंद्र बोस जयंती तक कर्तव्य बहुत पकवाड़ा बनाता है इसी के तहत आज उपशाखा किशनगढ़ में व्याख्यानमाला का आयोजन किया जा रहा है अध्यक्ष व्यास ने उपशाखा के द्वारा वर्ष पर्यंत किये गए शिक्षक हितों व सामाजिक सरोकार के कार्यो की जानकारी दी।
उपशाखा मंत्री सरदार सिंह चौधरी ने सभी अतिथियों व शिक्षकों का आभार व्यक्त करते हुए आगे भी इसी सहयोग देने की अपील की।
संगठन के प्रदेश विभाग संगठन मंत्री पवन कुमावत भी संबोधित किया।
इस अवसर पर जिला मंत्री चेतन जिन्दागल उपशाखा सभाध्यक्ष सुभाष चंद शर्मा कोषाध्यक्ष राधेश्याम शर्मा ,महिला मंत्री राजश्री शर्मा,उपाध्यक्ष रणजीत जाट,प्रदेश कार्यालय मंत्री रतनलाल माली, अरविंद पारीक,गणेश राम जाट, सुरेश बराला, नीरज पारीक ,राजेंद्र वैष्णव, राजेश कुमार मालाकार, चंद्र मोहन सिंह सिसोदिया, सुशील शर्मा ,घनश्याम शर्मा,राजेन्द्र सैन, धर्मेंद्र नरूका , चंदा मीणा, प्रेरणा शर्मा, उर्मिला शर्मा, मधुमति वैष्णव, सुनीता शर्मा संतोष चौधरी, शिवजीराम कुम्हार, मुकेश कुमार कुमावत, सुखपाल जाट, राकेश कुमार टेलर आदि सेकड़ो शिक्षक उपस्थित रहे। मंच संचालन सतीश शर्मा ने किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published.