सृष्टि के पीछे है आध्यात्म

Spread the love

व्हाट इज सेल्फ. अवेयरनेस लुकिंग बियॉन्ड द साइंस ऑफ अट्रैक्शन पुस्तक का विमोचन


जयपुर.
राजस्थान केंद्रीय विश्वविद्यालय में 20 जुलाई 2021 को व्हाट इज सेल्फ. अवेयरनेस लुकिंग बियॉन्ड द साइंस ऑफ अट्रैक्शन नामक एक अंतरराष्ट्रीय पुस्तक का विमोचन
प्रो. विपिन गुप्ता द्वारा लिखित व्हाट इज सेल्फ. अवेयरनेस लुकिंग बियॉन्ड द साइंस ऑफ अट्रैक्शन नामक पुस्तक का विमोचन 20 जुलाई 2021 को राजस्थान केंद्रीय विश्वविद्यालय में ऑनलाइन किया गया। प्रो. एच. आर. नागेंद्र कुलाधिपति एस.व्यासा विश्वविद्यालय बेंगलुरु पुस्तक विमोचन समारोह के मुख्य अतिथि थे। पुस्तक के विमोचन के बाद लेखक द्वारा व्हाट इज सेल्फ. अवेयरनेस लुकिंग बियॉन्ड द साइंस ऑफ अट्रैक्शन विषय पर एक वार्ता प्रस्तुत की गयी। राजस्थान केंद्रीय विश्वविद्यालय के कुलपति प्रभारी प्रो. नीरज गुप्ता ने समारोह की अध्यक्षता की।
समारोह में मौजूद अतिथियों व प्रतिभागियों को संबोधित करते हुए प्रो. विपिन गुप्ता ने बताया कि यह पुस्तक प्रकृति द्वारा नियंत्रित जटिल प्रक्रियाओं की खोज के सिद्धांत और यह मनुष्यों के संपूर्ण विकास को कैसे प्रभावित करती है के इर्द गिर्द घूमती है । यह आकर्षण के नियम से हटकर देखने के बारे में है। इस पुस्तक में पाठक वैज्ञानिक उपमाओं और भारत के प्राचीन ज्ञान के बीच एकता लाने के लिए लेखक के निरंतर आग्रह को महसूस कर सकते हैं। यह पुस्तक आपको विज्ञान में उस अंध विश्वास और हमारे सदियों पुराने दर्शन को त्यागने की आदत पर पुन: विचार तथा उसमें परिवर्तन करने पर मजबूर कर देगी। यदि सृष्टि के पीछे विज्ञान है तो उस सृष्टि के पीछे एक आध्यात्मिक पहलू भी है। हमारी दिव्यता किस प्रकार प्रकृति का एक उपहार है इसकी एक अद्भुत व्याख्या इसमें की गई है।
नई किताब सेल्फ.अवेयरनेस लुकिंग बियॉन्ड द साइंस ऑफ अट्रैक्शन वीआईपीआईएन परियोजना. वास्टली इंटीग्रेटेड प्रोसेसेस इनसाइड नेचर प्रकृति के अंदर व्यापक रूप से एकीकृत प्रक्रिया के अंतर्गत सातवीं किताब है। इनसे पूर्व. डॉ. गुप्ता ने अंतरराष्ट्रीय स्तर पर अठारह प्रसिद्ध पुस्तकों का लेखन अथवा संपादन किया है।
इस अवसर पर समारोह के मुख्य अतिथि प्रो. एच आर नागेंद्र कुलाधिपति एस.व्यासा विश्वविद्यालयए बेंगलुरु ने कहा कि यह पुस्तक आध्यात्मिक सामग्री को जोडकऱ कुल गुणवत्ता प्रबंधन प्रणाली की ओर बढऩे में मदद करेगी।
राजस्थान केंद्रीय विश्वविद्यालय के कुलपति प्रभारी प्रो. नीरज गुप्ता ने कहा कि प्रो. विपिन गुप्ता की पुस्तकों द्वारा भारतीय ज्ञान भविष्य में विज्ञान के लिए मार्गदर्शन का स्रोत साबित होगा। उन्होंने कहा कि पुस्तक की सामग्री को आत्मसात करने में कुछ समय लगेगा लेकिन यह एक अच्छी शुरुआत है और भारतीय ज्ञान को पूरी तरह से मंत्रमुग्ध कर देने वाली है।
पुस्तक के लेखक डॉ. विपिन गुप्ता जैक एच ब्राउन कॉलेज ऑफ बिजनेस एंड पब्लिक एडमिनिस्ट्रेशन कैलिफोर्निया स्टेट यूनिवर्सिटी सैन बर्नार्डिनो यूएसए में सेंसीबल मैनेजमेंट एंड एप्रोप्रिएट साइंस के प्रोफेसर हैं। डॉ. गुप्ता भारतीय प्रबंधन संस्थान से एमबीए पाठ्यक्रम के 1990 बैच के स्वर्ण पदक विजेता हैं और उन्होंने व्हार्टन स्कूल से पीएच.डी. की है ।
डॉ. संजय गर्ग सहायक आचार्य प्रबंधन विभाग और डॉ. संजीब पात्रा सह आचार्यए योग विभाग राजस्थान केन्द्रीय विश्वविद्यालय ने कार्यक्रम का समन्वयन किया और धन्यवाद प्रस्ताव प्रस्तुत किया। कार्यक्रम का संचालन कंप्यूटर विज्ञान विभाग की सहायक आचार्य डॉ. निष्ठा केसवानी ने किया।

About newsray24

Check Also

लायंस क्लब के शिविर में 280 रोगियों की नेत्र जांच

Spread the love मदनगंज किशनगढ़. लायन्स क्लब किशनगढ़ क्लासिक के तत्वावधान में जिला अंधता निवारण …

Leave a Reply

Your email address will not be published.