प्यार में अंधा हुआ बेटा, मां को फेंक दिया नहर में

Spread the love

हत्या के आरोप में बेटा व उसका दोस्त गिरफ्तार

हनुमानगढ़। रिश्तों की मिठास में घुली कड़वाहट ने मां को ही मौत की नींद सुला दिया। वजह सिर्फ इतनी सी थी कि मां ने बेटे को दूसरी जाति की लड़की से लव मैरिज करने से रोक दिया। दोस्त के साथ मिलकर मां की नहर में डुबोकर हत्या के मामले में जंक्शन पुलिस ने शनिवार को दोनों नामजद आरोपियों को गिरफ्तार किया तो यह खुलासा हुआ। पुलिस ने हत्या के आरोप में मृतका जसविन्द्र कौर के पुत्र सोनू उर्फ हरदीप सिंह निवासी वार्ड 59, सुरेशिया तथा उसके दोस्त बादल सिंह पुत्र बलजीत सिंह निवासी वार्ड 53, सुरेशिया को गिरफ्तार किया है। दोनों आरोपियों को रविवार को मजिस्ट्रेट के समक्ष पेश किया जाएगा।
मामले की जांच कर रहे सीओ एससी/एसटी सेल प्रहलादराय ने बताया कि आरोपी सोनू उर्फ हरदीप ने पूछताछ में स्वीकारा कि वह माता को तूड़ी लाने के बहाने बाइक पर बैठाकर नहर पर ले गया। साथ में उसका दोस्त बादल सिंह भी था। वहां मौका देखकर दोनों ने जसविन्दर कौर को नहर में फेंक दिया। नहर में पानी का बहाव तेज होने एवं डूबने की कोई सूचना नहीं होने के कारण शव बहकर आगे चला गया। बाद में सूरतगढ़ थाना क्षेत्र में नहर से शव बरामद किया गया। दोनों आरोपियों से वारदात में किसी अन्य की संलिप्तता आदि को लेकर पूछताछ की जा रही है।

घर में हुआ था विवाद

आरोपी सोनू उर्फ हरदीप ने पुलिस पूछताछ में स्वीकारा कि कुछ माह पहले उसने दूसरी जाति की लड़की से विवाह करने की बात कही तो माता एवं पिता ने इनकार कर दिया। इस बात को लेकर घर में विवाद भी हुआ। इसके चलते उसका पसंद की लड़की से विवाह नहीं हो सका। इसी बात को लेकर वह मां से रंजिश रखने लगा था। बाद में जब पिता ट्रक लेकर चले गए तो दोस्त के साथ मिलकर वारदात को अंजाम दिया।

दो जुलाई को दर्ज कराई गुमशुदगी

राजसिंह पुत्र सुरजीत सिंह निवासी वार्ड 59, सुरेशिया ने जंक्शन पुलिस को चार जुलाई को रिपोर्ट दी थी कि वह 13 जून को ट्रक लेकर जम्मू गया था। पीछे घर में उसकी पत्नी जसविन्दर कौर तथा बेटा सोनू उर्फ हरदीप सिंह थे। पुत्री मनदीप कौर ने 15 जून को सूचना दी कि हरदीप का मां के साथ झगड़ा हो गया। उसके बाद से मां लापता है। तलाश करने के बावजूद माता का पता नहीं चला। दो जुलाई को गुमशुदगी दर्ज कराई तो पुलिस जांच में पता चला कि 17 जून को सूरतगढ़ थाने में मर्ग दर्ज हुई थी। नहर से महिला का शव बरामद किया गया था। कपड़ों, झुमकों आदि के आधार पर पहचान की तो वे पत्नी जसविन्दर कौर के निकले। बाद में अपने स्तर पर पड़ताल की तो पता चला कि पुत्र हरदीप सिंह ने अपने दोस्त बादल सिंह पुत्र बलजीत सिंह निवासी वार्ड 53 सुरेशिया के साथ मिलकर पत्नी की हत्या कर दी। आरोपी तूड़ी लाने के बहाने पत्नी को नहर पर ले गए तथा मारकर शव नहर में फेंक दिया। पुलिस ने आरोपों के आधार पर दोनों के खिलाफ मामला दर्ज कर जांच शुरू की। आरोपियों को हिरासत में लेकर सख्ती से पूछताछ की तो हत्या की गुत्थी सुलझती चली गई।

About newsray24

Check Also

बुजुर्ग किसान पर घोर अत्याचार नाक कान काटे और पांव तोड़े

Spread the love बेटी की दूसरी शादी तय किए जाने से थे नाराज आरोपी गंभीर …

Leave a Reply

Your email address will not be published.