उत्तरप्रदेश में बनेगा 35 करोड़ पौधरोपण का रिकॉर्ड

Spread the love

वन क्षेत्र और हरियाली बढ़ाने का लक्ष्य


लखनऊ.
उत्तर प्रदेश सरकार ने पौधरोपण का एक बड़ा लक्ष्य तय किया है जिसके अंतर्गत मंगलवार 5 जुलाई को 25 करोड़ पौधरोपण का रिकॉर्ड कायम किया जाएगा। गौरतलब हो मिशन 35 करोड़ के तहत इस साल उत्तर प्रदेश में वनमहोत्सव के पहले दिन यानि पांच जुलाई को 25 करोड़ पौधरोपण का रिकॉर्ड बनेगा। इस अवसर पर राज्यपाल आनंदी बेन पटेल लखनऊ के कुकरैल में, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ चित्रकूट में और उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य और ब्रजेश पाठक क्रमश: अयोध्या एवं प्रयागराज में पौधरोपण करेंगे।
वनमहोत्सव के इस अभियान में कृषि जलवायु की अनुकूलता एवं स्थानीय मांग के अनुसार अलग-अलग प्रजातियों के पौधरोपण के साथ अमृत वन, नगर वन, खाद्य वन, शक्ति वन, बाल वन, युवा वन, गंगा वन, स्मृति वाटिका, नक्षत्र वाटिका एवं पंचवटी की भी स्थापना होगी।
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ पहले ही यह मंशा जता चुके हैं कि वर्षा काल में जो पौधरोपण हो वह संबंधित क्षेत्र के कृषि जलवायु क्षेत्र के अनुसार हो। उनकी मंशा के अनुरूप अलग-अलग जिलों के लिए चिह्नित 29 प्रजाति और 943 विरासत वृक्षों को केंद्र में रखकर पौधरोपण का अभियान चलेगा।
इसमें राष्ट्रीय वृक्ष बरगद के साथ देशज पौधे पीपल, पाकड़, नीम, बेल, आंवला, आम, कटहल और सहजन जैसे औषधीय पौधों को वरीयता दी जाएगी। वन विभाग के अपर प्रमुख सचिव मनोज कुमार के अनुसार हमारी तैयारियां पूरी हैं। 35 करोड़ लक्ष्य के सापेक्ष 46.49 करोड़ पौधे पौधशालाओं में उपलब्ध हैं। इनमें से 40.47 करोड़ तो सिर्फ वन विभाग की पौधशालाओं में हैं। इसके अलावा उद्यान, रेशम और निजी पौधशालाओं में क्रमश: 1.51, 0.46, 4.05 करोड़ पौधे उपलब्ध हैं। पौधरोपण के लिए ये सभी पौधे नि:शुल्क उपलब्ध कराए जाएंगे।
वहीं 15 अगस्त को स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर 5 करोड़ पौधरोपण का लक्ष्य तय किया गया है। इसके अलावा 6 और 7 जुलाई को क्रमश: 2.5, 2.5 करोड़ पौधे लगाए जाएंगे।

पांच साल में 175 करोड़ पौधों के रोपण का लक्ष्य

स्टेट ऑफ फॉरेस्ट की रिपोर्ट 2021 के अनुसार उत्तर प्रदेश के कुल भौगोलिक क्षेत्रफल के 9.23 फीसद हिस्से में वनावरण है। 2013 में यह 8.82 फीसदी था। रिपोर्ट के अनुसार 2019 के दौरान कुल वनावरण एवं वृक्षावरण में 91 वर्ग किलोमीटर की वृद्धि हुई है। वर्ष 2030 तक सरकार ने इस रकबे को बढ़ाकर 15 फीसद करने का लक्ष्य रखा है। इसके लिए सरकार ने अगले पांच साल में 175 करोड़ पौधों के रोपण का लक्ष्य रखा है। मिशन 35 करोड़ इसी की कड़ी है। उल्लेखनीय है कि योगी सरकार शुरू से ही वर्षाकाल में सघन पौधरोपण करा रही है। नतीजतन 2017-18 से 2021-2022 के दौरान सरकार के प्रयास से 101.49 करोड़ पौधरोपण हो चुका है।

About newsray24

Check Also

कृष्णापुरी में लगाए प्लास्टिक मुक्त के पोस्टर

Spread the love मां भारती रक्षा मंच का जागरूकता अभियान मदनगंज-किशनगढ़.मां भारती रक्षा मंच का …

Leave a Reply

Your email address will not be published.