रेल बजट – उत्तर-पश्चिम रेलवे को 6724 करोड़ रुपए आवंटित

Spread the love

गत वर्ष की तुलना में 44 प्रतिशत अधिक का प्रावधान

जयपुर, 3 फरवरी। केन्द्र सरकार की ओर से पेश किए गए बजट में उत्तर पश्चिम रेलवे को विभिन्न कार्यों के लिए बजट का आवंटन किया गया है। बजट में उत्तर पश्चिम रेलवे को प्राथमिकता के साथ गत वर्ष की तुलना में अधिक बजट का आवंटन किया गया है। उत्तर पश्चिम रेलवे को वर्ष 2022-23 के बजट में 6724.29 करोड़ आवंटित किए गए हैं, जो कि गत वर्ष के 4672.55 करोड़ की तुलना में 43.91 प्रतिशत अधिक है।
उत्तर पश्चिम रेलवे के महाप्रबंधक विजय शर्मा ने बजट पर आयोजित प्रेस वार्ता में बताया कि इस वर्ष बजट में रेल संरक्षा तथा यात्री सुविधाओं पर विशेष ध्यान केन्द्रित किया गया है। संरक्षा के लिये इस वर्ष बजट में 1100 करोड़ रूपए से अधिक का प्रावधान किया गया है। संरक्षा के अहम मद ट्रेक नवीनीकरण के लिए भी 495 करोड़, रेलवे समपारो़ पर रोड ओवर ब्रिज तथा रोड अण्डर ब्रिज के लिये 480 करोड़ रूपये का बजट में प्रावधान किया गया है। इसके अतिरिक्त सिग्नल से सम्बंधित कार्यों के लिये 117 करोड़ एवं समपार फाटकों पर संरक्षा कार्योंं हेतु 39 करोड़ रूपये का आवंटन किया गया है।

यात्री सुविधाओं के लिए 441 करोड़

इसी प्रकार यात्री सुविधाओं के मद पर उत्तर पश्चिम रेलवे को इस वर्ष 441 करोड रूपये का आवंटन किया गया है। इस मद में स्टेशनों पर लिफ्ट, एस्केलेटर, प्लेटफार्म का उन्नयन, स्टेशनों पर प्रकाश व्यवस्था, कोच गाइडेंस बोर्ड, कम्प्यूटर आधारित उद्घोषणा प्रणाली इत्यादि के कार्य किये जायेंगे। अधिक बजट आवंटन से यात्री सुविधाओं के लिये किये जा रहे कार्यों को गति प्राप्त होगी तथा इस मद में नये कार्यों को भी सम्मलित किया जा सकेगा।
विजय शर्मा के अनुसार आधारभूत अवसंरचना को सुदृढ़ करने के लिये जिनमें नई लाइनें, आमान परिवर्तन के कार्य जो प्रगति पर है उनके लिये भी पर्याप्त बजट का प्रावधान किया गया है, ताकि इनकों गति प्रदान की जा सके। बजट में नई लाइनों के लिये 227 करोड़, आमान परिवर्तन के लिये 103 करोड़ तथा दोहरीकरण के लिये 604 करोड़ रूपये के बजट का आवंटन किया गया है। इसके अतिरिक्त रेलमार्गो के विद्युतीकरण के लिए 1198.26 करोड़ रूपये का प्रावधान किया गया है। उत्तर पश्चिम रेलवे पर अभी तक 2489 किलोमीटर रेल लाइन पर विद्युतीकरण का कार्य पूर्ण कर लिया गया है। इस वर्ष 305 किलोमीटर मार्ग का विद्युतीकरण पूर्ण किया गया है तथा आगामी 2 माह में 462 किलोमीटर मार्ग का विद्युतीकरण किया जाना प्रस्तावित है। उत्तर पष्चिम रेलवे पर 60 जोडी यात्री गाडिया इलेक्ट्रिक ट्रेक्षन पर संचालित हो रही है।
इसी प्रकार ब्रिज कार्यों के लिये 28 करोड़, सिगनल कार्यों के लिये 117.47 करोड़, रोलिंग स्टॉक के लिए 14.10 करोड़, यातायात सुविधाओं के लिये 63.20 करोड़, कारखाना कार्यो के लिये 45.72 करोड, कर्मचारी कल्याण के लिये 12.30 करोड़ तथा प्रशिक्षण कार्य के लिये 4.30 करोड़ रूपये का बजट आवंटन किया गया है।

उत्तर पश्चिम रेलवे पर वर्तमान में प्रगति पर कार्यों के लिये बजट आवंटन
नई लाइन:

  1. दौसा-गंगापुरसिटी (92.67 किमी) 114 करोड़
  2. गुढ़ा-ठठाना मीठडी परीक्षण ट्रैक (25 किमी) 50 करोड़

दोहरीकरण:

  1. फुलेरा-डेगाना (108.75 किमी) 278.5 करोड
  2. डेगाना-राई का बाग (145 किमी) 294 करोड

आमान परिवर्तन:

  1. मावली-बडी सादडी (81.01 किमी) व नाथद्वारा-नाथद्वारा टाउन 85 करोड

विद्युतीकरण:
विभिन्न रेलखंडों का विद्युतीकरण 1198 करोड

अन्य कार्य

  1. खातीपुरा-जयपुर के उपग्रह स्टेशन (सेटेलाईट स्टेषन) के रूप में नई टर्मिनल सुविधा का
    विकास 33.5 करोड
  2. जेनाल-भीलड़ी नया ब्लाक स्टेषन 10 करोड़
  3. उत्तर पष्चिम रेलवे पर स्टेशनों पर लघु उन्नयन व सुधार कार्य 1 करोड
  4. जयपुर-अजमेर रेलखण्ड पर इंटरमिडियट ब्लाक सिगनल कार्य 1.5 करोड
  5. बनवाली-श्रीगंगानगर के गुडस शेड की षिफ्टिंग 2.76 करोड
  6. उत्तर पष्चिम रेलवे पर स्टेशनों पर ऊपरी पैदल पुल/हाई लेवल प्लेटफार्म 7.59 करोड
  7. जोधपुर करखाना- आवधिक ओवरहालिंग सुविधाएं बढाने के लिये आधुनिकीकरण 15 करोड
  8. बीकानेर व जोधपुर मण्डल पर आधुनिक सिगनल प्रणाली का प्रावधान 48 करोड
  9. मल्टी सेक्शन डिजीटल एक्सल काउंटर, हाई अवेलिबिलिटी सिंगल सेक्शन डिजीटल एक्सल काउंटर, ड्यूल वीडियो डिस्पले यूनिट, एलईडी सिगनल, पावर सप्लाई का प्रावधान 55 करोड
  10. कवच संरक्षा प्रणाली हेतु रेडियो सर्वे 3 करोड
  11. टेलिकॉम सिस्टम का अपग्रेडेशन 11 करोड
  12. समपार फाटको पर इंटरलॉकिंग 15 करोड
  13. समपार फाटको पर इमरजेन्सी स्लाइड बूम, वॉयस लोगर, रिमोट टर्मिनल यूनिट का प्रावधान 18 करोड

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *