ईआरसीपी को राष्ट्रीय परियोजना का दर्जा दिलाने के लिए किया प्रचार- प्रसार

Spread the love

जमवारामगढ़/ विकास शर्मा। उपखंड क्षेत्र जमवारामगढ़ में समाज सेवकों द्वारा विभिन्न गांवों में ईआरसीपी परियोजना को राष्ट्रीय परियोजना का दर्जा दिलाने के लिए प्रचार प्रसार किया गया।

इस दौरान समाज सेवकों ने शुक्रवार को सुरेंद्र गुर्जर चौमुखा की ढाणी, जमवारामगढ़ हाल पटवारी ग्राम पंचायत भावनी से मिलकर “ईआरसीपी, पूर्वी राजस्थान नहर परियोजना को राष्ट्रीय परियोजना का दर्जा दिलाने बाबत चर्चा की गई तथा जमवारामगढ़ बांध में पानी लाओ पर सभी नौजवानों से बात की गई। राम अवतार भारतीय व एडवोकेट मानसिंह मीना ने बताया कि जमवारामगढ़ यदि ईआरसीपी परियोजना राष्ट्रीय परियोजना घोषित होती है तो जमवारामगढ़ बांध में पानी आएगा। यहां पर आमजन को खेती के लिए पानी मिलेगा, पशु पक्षियों को पीने का पानी प्राप्त होगा, औद्योगिक क्षेत्र को बढ़ावा मिलेगा, जिससे यहां के नौजवानों को रोजगार प्राप्त होगा।

जमवारामगढ़ बांध में सन 1981 में एशियाई नौकायान हुए थे, लेकिन धीरे-धीरे जमवारामगढ़ बांध में अतिक्रमण करने व पानी का दुरुपयोग करने से आज स्थिति सभी के सामने है। यदि बांध में पानी होता तो स्थाई और अस्थाई तौर पर लगभग 10 हजार लोगों को रोजगार प्राप्त होता। सभी ने मिलकर ईआरसीपी परियोजना को राष्ट्रीय परियोजना घोषित करवाने बाबत जो मुहिम शुरू की है। उसमें आप सभी लोगों के साथ व सहयोग की आवश्यकता है, जिससे जमवारामगढ़ बांध में पानी आ सके और यहां पर पुनः खुशहाली व हरियाली हो सकें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *