सुरक्षा दीवार में लगाई घटिया सामग्री, बिना पीसीसी किए ही बना रहे दीवार

Spread the love
शिवपुरा में बनाई जा रही सुरक्षा दीवार।

जमवारामगढ़ वन्य जीव अभयारण्य क्षेत्र के शिवपुरा तालवा गांव का मामला
बूज- खवारानीजी।
जमवारामगढ़ वन्य जीव अभ्यारण क्षेत्र के खवारानीजी ग्राम पंचायत मुख्यालय स्थित ग्राम शिवपुरा में तालवा वन क्षेत्र में पहाडी के नीचे चल रहे चारीदीवारी निर्माण कार्य को मापदंडों के अनुसार नहीं किया जा रहा है। वन कार्मिक की मिलीभगत से ठेकेदार व वन सुरक्षा समिति द्वारा जमकर लीपापोती की जा रही है।
स्थानीय ग्रामीणों ने बताया कि वन विभाग के कार्मिकों की मिलीभगत से ठेकेदार द्वारा चारदीवार चिनाई कार्य में बिना पीसीसी किए ही दीवार चुनाई कार्य किया जा रहा है। जबकि सुरक्षा दीवार की चिनाई करने से पहले सीमेंट व 40 एम एम रोडी डालकर बनास की बजरी का मसाला डालकर पीसीसी करनी चाहिए। लेकिन ऐसा नहीं करके सीधे ही पत्थर डालकर सुरक्षा दीवार की चिनाई की जा रही है। बिना सीमेंट के मसाले के ही पत्थरो को नीव में डालकर सूखी चिनाई कर रहे हैं। उसके ऊपर फिर मसाला डाल रहे हैं, जिससे निचे की चिनाई के सूखे पत्थरो को कोई देख नहीं पाए। ग्रामीणों ने बताया कि वन विभाग की सुरक्षा दीवार में चारदीवारी निर्माण कार्य मापदंडों के अनुरूप नहीं किया जा रहा है।
वन सुरक्षा समिति की अनदेखी से जो कार्य कर रहा है, वह ठेकेदार इसमें बनास की बजरी की जगह थौलाई बाण गंगा नदी से रेता लाकर उसमें चिनाई कर रहा है।जिससे चार दीवारी कार्य में बिल्कुल घटिया सामग्री उपयोग में ली जा रही है। वन विभाग के जिम्मेदार कार्मिक अपने बचाव में कार्य को सही बताकर पल्ला झाड रहे हैं। वन विभाग के घटिया निर्माण को लेकर ग्रामीणों ने वन विभाग के प्रति नाराजगी व्यक्त की है।
इस संबंध में क्षेत्रीय वन अधिकारी प्रेमशंकर मीणा का कहना है कि यह कार्य वन सुरक्षा समिति करवा रही है। बजरी के लिए मैंने उनको कह दिया है कि यह बजरी नहीं चलेगी, फिर भी मैं एक बार मौका निरीक्षण करके ही बता पाउंगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *