प्रधानमंत्री ने की रोज़गार मेले की शुरूआत

Spread the love

10 लाख कर्मियों के लिए भर्ती अभियान
अभियान के प्रथम चरण में 75,000 नवनियुक्त अभ्यर्थियों को वर्चुअल माध्यम से नियुक्ति पत्र जारी किये

जयपुर. जयपुर में उपस्थित अश्विनी वैष्णव, रेल, संचार, इलेक्ट्रॉनिक्स एवं सूचना प्रौद्योगिकी मंत्री, भारत सरकार ने युवाओं को देश सेवा के लिये समर्पित होने तथा राष्ट्र प्रथम सर्वदा प्रथम का मूलमंत्र दिया

पीएम नरेन्द्र मोदी ने आज दिनांक 22.10.2022 को युवाओं के लिये केन्द्र सरकार के विभिन्न विभागों में भर्तियों के अभियान रोज़गार मेला की शुरूआत कीे। रोज़गार मेला के अन्तर्गत केन्द्र सरकार के विभिन्न विभागों में 10 लाख युवाओं को नियुक्ति देने के अभियान की शुरूआत की गई। श्री नरेन्द्र मोदी, माननीय प्रधानमंत्री ने रोजगार मेला के प्रथम चरण में 75000 नवनियुक्त अभ्यर्थियों को वर्चुअल माध्यम से नियुक्ति पत्र जारी किया।

उत्तर पश्चिम रेलवे के मुख्य जनसम्पर्क अधिकारी कैप्टन शशि किरण के अनुसार नरेन्द्र मोदी, प्रधानमंत्री ने युवाओं के लिये भर्ती अभियान रोज़गार मेला की शुरूआत कर इस अभियान के प्रथम चरण में देश के 50 स्थानों पर वर्चुअल माध्यम से जुडे़ 75000 नवनियुक्ति अभ्यर्थियों को नियुक्ति पत्र जारी किये और उनको संबोधित करते हुये कहा कि आज भारत की युवा शक्ति के लिए एक महत्वपूर्ण अवसर है। बीते आठ वर्षों में देश में रोजगार और स्वरोजगार का जो अभियान चल रहा है, आज उसमें एक और कड़ी जुड़ रही है। ये कड़ी है रोज़गार मेले की। आने वाले महीनों में इसी तरह लाखों युवाओं को भारत सरकार द्वारा समय-समय पर नियुक्ति पत्र सौंपे जाएंगे।

उन्होंने कहा कि आप सभी ऐसे समय में भारत सरकार के साथ जुड़ रहे हैं, जब देश आज़ादी के अमृतकाल में प्रवेश कर चुका है। विकसित भारत के संकल्प की सिद्धि के लिए हम आत्मनिर्भर भारत के रास्ते पर चल रहे हैं। इसमें हमारे इनोवेटर्स, हमारे एंटरप्रन्योर्स, हमारे उद्यमी, हमारे किसान, सर्विसेज़ और मैन्युफेक्चरिंग से जुड़े हर किसी की बहुत बड़ी भूमिका है। यानि विकसित भारत का निर्माण सबके प्रयास से ही संभव है। सबका प्रयास की इस भावना को तभी जागृत किया जा सकता है, जब हर भारतीय तक मूल सुविधाएं तेज़ी से पहुंचें, और सरकार की प्रक्रियाएं तेज़ हों, त्वरित हों।

आज़ादी के अमृतकाल में विकसित भारत के निर्माण के सारथी हमारे युवा हैं, आप सभी हैं। आज जिन्हें नियुक्ति पत्र मिला है, उनसे मैं विशेष तौर पर कहना चाहूंगा कि आप जब भी दफ्तर आएंगे अपने कर्तव्य पथ को हमेशा याद करें। आपको जनता की सेवा के लिए नियुक्त किया जा रहा है। 21वीं सदी के भारत में सरकारी सेवा सुविधा का नहीं, बल्कि समय सीमा के भीतर काम करके देश के कोटि-कोटि लोगों की सेवा करने का एक कमिटमेंट है, एक स्वर्णिम अवसर है। मुझे विश्वास है कि आप इस बड़े संकल्प को ध्यान में रखते हुए, सेवाभाव को सर्वोपरि रखेंगे। याद रखिए, आपका सपना आज से शुरु हुआ है, जो विकसित भारत के साथ ही पूरा होगा। आज धनतेरस का पावन पर्व है, हमारे यहां इसका अत्यंत महत्व भी है। दिवाली भी सामने आ रही है, यानि एक त्यौहारों का पल है। उसमें आपके हाथ में ये पत्र होना आपके त्यौहारों को अधिक उमंग और उत्साह से भर देंगे साथ में एक संकल्प से भी जोड़ देंगे जो संकल्प एक सौ साल का जब भारत की आजादी का समय होगा। अमृतकाल के 25 साल आपके जीवन के भी 25 साल, महत्वपूर्ण 25 साल आईये मिलकर के देश को नई ऊंचाईयों पर ले जाएं।

इस अवसर पर अश्विनी वैष्णव, रेल, संचार, इलेक्ट्रॉनिक्स एवं सूचना प्रौद्योगिकी मंत्री, भारत सरकार ने जयपुर में आयोजित समारोह में नवनियुक्त कर्मियों को बधाई दी और उनका अभिन्नदन करते हुये कहा कि आपको दीपावली के पावन अवसर पर देश सेवा का सौभाग्य मिला है। सभी युवाओं जिन्हें केन्द्र सरकार के रेलवे, पोस्ट, गृह, रक्षा, वित्त और श्रम विभागों में नियुक्ति प्राप्त अभ्यर्थियों को राष्ट्र प्रथम सर्वदा प्रथम का मूलमंत्र दिया और कहा कि इस अवसर को देश निर्माण के लिये समर्पित करें तथा अपनी ऊर्जा को सही दिशा में लगाकर सकारात्मक परिणाम प्राप्त करें। वैष्णव ने अपने संबोधन में रेलवे के बारे में बताते हुये कहा कि वर्तमान में रेलवे में काफी बदलाव आया है और देश की आवष्कताओं के लिये बदलाव की जरूरत भी है। स्टेशनों और ट्रेनों में पहले जहाँ गन्दगी रहती है अब वहाँ साफ-सफाई का स्तर बहुत अच्छा हो गया है। स्टेशनों पर विश्वस्तरीय सुविधाएं प्रदान करने के लिये पहले चरण में 200 स्टेशनों पर रि-डेवलेपमेंट का कार्य किया जा रहा है, जिसमें 138 स्टेशनों का मास्टर प्लान तैयार हो गया है। राजस्थान में जयपुर, गांधीनगर जयपुर, जोधपुर, उदयपुर, जैसलमेर, अजमेर, बीकानेर, पाली मारवाड, कोटा, डाकनिया तालव जैसे बडे स्टेशनों पर वर्ल्ड क्लास सुविधाएं उपलब्ध करवाने के लिये रि-डेवलेपमेंट कार्य किया जा रहा है। राजस्थान में वर्तमान में 20 प्रोजेक्ट का सर्वे का कार्य किया गया है, जिनको जल्द स्वीकृत किया जायेगा तथा 57000 करोड़ रूपये के प्रोजेक्ट स्वीकृत है। माननीय प्रधानमंत्री के नेतृत्व में इस वर्ष राजस्थान को रिकार्ड 7565 करोड़ रूपय बजट आंवटन किया गया है। रेलवे में आधारभूत ढ़ांचे में सुदृढीकरण के लिये 12 किलोमीटर प्रतिदिन रेल लाइन का निमार्ण किया जा रहा है तथा आने समय इसका 20 किलोमीटर प्रतिदिन करने का लक्ष्य निर्धारित किया है। संचार के क्षेत्र में बताते हुये अश्विनी वैष्णव ने कहा कि वर्तमान में भारत में संचार सेवाओं में नई तकनीक का समावेश किया जा रहा है तथा 4 जी, 5 जी नेटवर्क उपलब्ध करवाने वाले 5 देश के बाद भारत 6ठा राष्ट्र बन गया है, इस तकनीक को अब भारत द्वारा अन्य देशों को प्रदान किया जायेगा।

रोज़गार मेला में उपस्थित रामचरण बोहरा, सांसद, जयपुर, घनश्याम तिवाड़ी, सांसद, राज्यसभा, किरोडी लाल मीना, सांसद, राज्यसभा तथा सतीश पूनिया, प्रदेशाध्यक्ष, भारतीय जनता पार्टी, राजस्थान व विधायक, आमेर ने इस अवसर पर सभी नवनियुक्त युवाओं को बधाई प्रदान की तथा उनको धनतेरस व दीपावली की शुभकामनाएं प्रदान कर उनके उज्जवल भविष्य की कामना की।

कार्यक्रम में विजय शर्मा, महाप्रबंधक-उत्तर पश्चिम रेलवे ने माननीय रेल, संचार, इलेक्ट्रॉनिक्स एवं सूचना प्रौद्योगिकी मंत्री, भारत सरकार, अश्विनी वैष्णव तथा गणमान्य जनप्रतिनिधियों तथा उपस्थित युवाओं का रोज़गार मेला में अमूल्य समय प्रदान करने के लिये धन्यवाद ज्ञापित किया।

गणपति नगर, जयपुर में आयोजित समारोह में केन्द्र सरकार के विभिन्न विभागों के 365 नवनियुक्त कर्मचारियों को नियुक्ति पत्र प्रदान किया गया। रेलवे विभाग में नियुक्त जयपुर में 49, बीकानेर में 14 तथा जोधपुर में 11 कर्मियों को नियुक्ति पत्र प्रदान किये गये। समारोह में रेलवे के साथ-साथ डाक, गृह, राजस्व, रक्षा, वित्त व श्रम और रोजगार विभाग के प्रतिनिधिगण भी उपस्थित थे।

रोज़गार मेला अभियान युवाओं को रोजगार के अवसर प्रदान करने और नागरिकों का कल्याण सुनिश्चित करने की प्रधानमंत्री की निरंतर प्रतिबद्धता को पूरा करने की दिशा में एक महत्वपूर्ण कदम है। प्रधानमंत्री के निर्देशानुसार, सभी मंत्रालय और विभाग मिशन मोड में स्वीकृत पदों की मौजूदा रिक्तियों को भरने की दिशा में सतत् काम कर रहे हैं। यह भर्तियां मिशन मोड में मंत्रालयों और विभागों द्वारा स्वयं के स्तर पर/यूपीएससी/एसएससी/रेलवे भर्ती बोर्ड इत्यादि एजेंसियों के माध्यम से की जा रही हैं। भर्तियों में पारदर्शिता और सुगमता के लिए चयन प्रक्रियाओं को सरल और तकनीकी रूप से सक्षम बनाया गया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.