नोटिस का देना होगा ऑनलाइन जवाब

Spread the love

एससीएन यू/एस 148 ए पर चर्चा
सीए संस्थान की ओर से वीसीएम का आयोजन


मदनगंज-किशनगढ़.
दी इंस्टीट्यूट ऑफ चार्टर्ड अकाउंटेंट ऑफ इंडिया की किशनगढ़ शाखा ने श्रीगंगानगर और पाली के संयुक्त तत्वाधान में आज एक वीसीएम का आयोजन किया गया।
यह वीसीएम एससीएन यू/एस 148ए के संबंध में पुनर्मूल्यांकन कार्यवाही और मुद्दों में पेचीदगियां पर आयोजित किया गया। इस कार्यक्रम में स्वागत उद्बोधन किशनगढ़ सीए शाखा अध्यक्ष सीए मोहित जैन ने किया। इसके तत्पश्चात श्रीगंगानगर शाखा अध्यक्ष सीए दीरज कुमार लीला एव पाली शाखा अध्यक्ष सीए धनपत राज गदीया ने सभी अतिथि एवं मेंबर्स का स्वागत किया। इसमें सीए मनोज गुप्ता जोधपुर से वक्ता रहे।
सीए मनोज गुप्ता ने बताया के बारे में बताया की एससीएन यू/एस 148ए के संबंध में पुनर्मूल्यांकन कार्यवाही और मुद्दों में पेचीदगियां के बारे मे बताया आयकर के तहत पुनर्मूल्यांकन प्रक्रिया के बारे मे बताया की कोई भी करदाता धारा 148 में प्राप्त नोटिस को हल्के में ना ले। नोटिस प्राप्त होते ही विधिक सलाह लें। यह नोटिस प्राप्त होने के 30 दिनों में अपने आर्थिक व्यवहार को पुन: देखकर आयकर विवरणी फाइल करना होती है। उक्त धारा में नोटिस जारी करने से पहले विभाग के अधिकारी को पूर्ण विश्वास होना चाहिए कि कुछ आय कर के दायरे से बाहर रह गई है। अगर बिना पूर्ण तैयारी और केवल जांच के लिए नोटिस जारी होता है तो कई न्यायालयीन फैसलों के अनुसार यह नोटिस अवैध हो जाएगा। इन नोटिस के दायरे में ऐसे भी लोग आए हैं जो नियमित विवरणी फाइल नहीं कर रहे हैं।
पिछले कुछ महीनो में कई करदाताओं को ऐसे नोटिस प्राप्त हुए हैं। अब इन सभी नोटिस का जवाब आनलाइन पोर्टल पर देना होगा। इसके अलावा इनसे संबंधित कई तरह के सवालों के जवाब दिए। कार्यक्रम के बीच में सवाल जवाब शैली में सभी सदस्यों से प्रश्न किए एवं उन्होंने सही उत्तर भी दिए। संचालन सीए दिनेश कुमार जैन, भूतपूर्व सचिव सीआईआरसी ने किया। सीए दिनेश कुमार जैन ने बताया कि इसमें करीब 500 सीए सदस्यों ने पंजीकरण किया एवं भाग लिया। यह मीटिंग जूम के माध्यम से की गई साथ ही यूटयूब पर लाइव प्रदर्शित हुआ।

Leave a Reply

Your email address will not be published.