अहिंसा सबसे बड़ा धर्म – आचार्यश्री वर्धमान सागर

Spread the love

  • श्रीमद् जिनेंद्र पंचकल्याणक प्रतिष्ठा महोत्सव की पत्रिका का विमोचन
  • ग्राम नगर में मंगल प्रवेश आज

  • मदनगंज किशनगढ़।
    मार्बल नगरी किशनगढ़ में आयोजित होने वाले श्रीमद् जिनेंद्र पंचकल्याणक प्रतिष्ठा महोत्सव के लिए श्री महावीर जी से किशनगढ़ के लिए वात्सल्य वारिधि आचार्य वर्धमान सागर महाराज ससंघ के विहार के दौरान ग्राम पचेवर में अल्प प्रवास के दौरान आचार्य वर्धमान सागर महाराज ने धर्मोपदेश देते हुए कहा कि धर्म को धारण दुख से मुक्ति के लिए किया जाता है। मित्र वह है जो दुखो को दूर करे तथा मित्र को संकट में कभी नही डाले। धर्म व्यक्ति नही है, धर्म को धारण करने वाला धर्मात्मा होता है। गुरु की संगति व धर्म की महिमा करने वाले को फल अवश्य मिलता है। अहिंसा धर्म का पालन करना चाहिए। धर्म करने से ही जन्म की महिमा होती है। अहिंसा सबसे बड़ा धर्म है। हमारी आत्मा धर्म पालन करने के लिए हमें प्राप्त हुई है। आचार्यश्री ने कहां कि अहिंसा पालन के लिए हम विश्व को कहते हैं लेकिन आज हम अपने परिवार के सदस्यों के साथ ही अहिंसा का पालन नहीं कर पा रही है। जो गलत है। व्यक्ति पंच इंद्रियों में फंसा हुआ है, जिस कारण संयम धारण करने की बाधा आती है। आचार्य ने कहा कि लोग भगवान की पवित्रता के लिए अभिषेक करते हैं। भगवान तो पवित्र है। उनको हम क्या पवित्र कर पाएंगे। मनुष्य भगवान का अभिषेक अपने कर्मों व कषाय की समाप्ति के लिए भगवान का अभिषेक कर भगवान की तरह पवित्र होने के लिए करता है।

  • श्रीमद् जिनेंद्र पंचकल्याणक प्रतिष्ठा महोत्सव की पत्रिका का विमोचन
    श्री मुनिसुव्रतनाथ दिगंबर जैन पंचायत के तत्वावधान में वात्सल्य वारिधि आचार्य वर्धमान सागर महाराज ससंघ के सानिध्य एवं गणिनी आर्यिका सरस्वती माताजी ससंघ तथा गणिनी यशस्वीनी माताजी ससंघ के पावन उपस्थिति में 22 से 27 जनवरी तक श्री शांतिनाथ दिगंबर जैन नूतन जिनालय एवं श्री चंद्रप्रभु दिगंबर जैन मंदिर नूतन मानस्तंभ का होने जा रहा श्रीमद जिनेंद्र पंचकल्याणक प्रतिष्ठा महोत्सव की पत्रिका का विमोचन वात्सल्य वारिधि आचार्य वर्धमान सागर महाराज के आशीर्वाद से ग्राम पचेवर में हुआ। इस आर के मार्बल के चेयरमैन अशोक पाटनी, पारसमल पांड्या, राजेश पांड्या, मुकेश पांडया, मिलाप चंद जैन, संजय जैन, भागचंद जैन सहित पचेवर जैन समाज के गणमान्य जन मौजूद थे।

  • भगवान के माता पिता की गोद भराई
    वात्सल्य वारिधि आचार्य वर्धमान सागर महाराज ससंघ के सानिध्य में 22 जनवरी से आयोजित होने वाले श्री मद जिनेंद्र पंचकल्याणक महोत्सव के दौरान भगवान के माता पिता बनने सुशीला देवी एवं विजय कुमार कासलीवाल कुचील वालों की छोल भराई का कार्यक्रम जीवन ज्योति नगर में आयोजित किया गया। इस दौरान अनिल कुमार, मुकेश कुमार सेठी एवं सुनील कुमार, राजेश कुमार, पीयूष पाटनी, सुनील गंगवाल, राकेश मोहन पहाड़िया, दिलीप कासलीवाल, सुभाष कटारिया, सुभाष सेठी, प्रवीण गंगवाल, विनोद चौधरी, प्रकाश गंगवाल, ओम प्रकाश सेठी, आशीष सेठी, गौरव पाटनी आदि मौजूद थे।

  • ग्राम नगर में मंगल प्रवेश आज

  • वात्सल्य वारिधि आचार्य वर्धमान सागर जी महाराज का मंगल प्रवेश 12 जनवरी को निकटवर्ती ग्राम नगर में होगा धर्म अनुरागी संजय पापड़ीवाल ने बताया कि आचार्य श्री वर्धमान सागर जी महाराज का मंगल विहार महावीर जी से किशनगढ़ के लिए चल रहा है जिसके तहत 12 जनवरी को दोपहर 1 बजे ग्राम आवडा से आचार्यश्री ससंघ मंगल विहार कर करीब सायं 4 बजे ग्राम नगर में मंगल प्रवेश करेंगे। ग्राम नगर में आचार्यश्री के भव्य स्वागत अभिनंदन के लिए तैयारियां पूरी कर ली गई है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.