चुनौतियों से भरा होगा नया साल, शुभ नहीं शनिवार से शुरुआत

Spread the love
महाकाली ज्योतिष साधना केंद्र जयपुर के निदेशक डॉ. योगेश शर्मा

दिनेश प्र. शर्मा / नई दिल्ली। भारतीय ज्योतिष शास्त्र के अनुसार आने वाला वर्ष 2022 अत्यंत चुनौतीपूर्ण व उथल-पुथल से भरे रहने का संकेत दे रहा है। इस बार नव वर्ष 2022 का आरंभ शनिवार से हो रहा है और साल का अंत भी शनिवार को ही होगा, जो शासन प्रशासन से लेकर आमजन तक के लिए शुभ नहीं है।
महाकाली ज्योतिष साधना केंद्र जयपुर के निदेशक डॉ. योगेश शर्मा ने बताया कि साल 2022 के स्पर्श की लग्न कुंडली में कन्या लग्न और राशि वृश्चिक है। चंद्रमा, मंगल और केतु तृतीय स्थान में हैं। इससे भारत देश का पराक्रम तो बढ़ेगा, लेकिन राजनीतिक अस्थिरता का योग भी बनेगा तो दूसरी और बुध लग्नेश होने के साथ बुध शनि की युक्ति समाज में और प्रवृत्ति में निरंकुशता को बढ़ाएगी। इस बार नव संवत्सर 2079 में राजा शनिदेव होंगे तो वही मंत्री का पद गुरु ग्रह को मिलेगा।

किसानों के फिरेंगे दिन

डॉ. शर्मा ने बताया कि जनवरी फरवरी और मार्च के महीने का फलादेश इस तरह से रहेगा देश मेंअन्न की उत्पत्ति बहुत अच्छी रहेगी। अन्न का उत्पादन बहुत अधिक होगा, किसानों की आर्थिक समस्या में सुधार होगा। छोटे बालकों को शारीरिक पीड़ा बहुत ज्यादा रहेंगी, देश में कहीं कहीं ओलावृष्टि, प्राकृतिक प्रकोप देखने को मिलेगा। जल में रहने वाले जीवों को बहुत अधिक कष्ट रहेगा। अलसी, चना, गुड़, खांड़, उड़द में तेजी देखने को मिलेगी। बिहार और पूर्वी उत्तर प्रदेश में राजनीतिक उठापटक देखने को मिलेगी। चोरी की घटनाएं बहुत ज्यादा होंगी। रोगों में वृद्धि देखने को मिलेगी। शृृंगार से संबंधित वस्तुएं महंगी होंगी। व्यापारी वर्ग और मध्यम वर्ग के लोग परेशान रहेंग। उनकी आर्थिक स्थिति ठीक नहीं रहेगी।

अप्रेल से जून में बढ़ेंगी बीमारियां

अप्रैल मई-जून माह में चौपाएं पशुओं को पीड़ा रहेगी, उनको किसी ने किसी बीमारी का सामना करना पड़ेगा। लोगों में रोगों की वृद्धि बहुत ज्यादा रहेंगी। उल्टे सीधे काम करने वाले व गलत तरीके से पैसा कमाने वाले लोग पकड़े जाएंगे वह दंडित होंगे। हरियाणा, पंजाब व कुरुक्षेत्र में कष्ट रहेगा। वहां किसी न किसी रूप में उपद्रव या समस्याएं ज्यादा रहेंगी। ब्राह्मण वर्ग पीडि़त रहेगा, मठाधीशो में आपसी कलह ज्यादा रहेगा। शेयर बाजार में बहुत ज्यादा उठापटक रहेगी, जो-तिल महंगे होंगे।

कम होगी बारिश, लाशों के ढेर लगेंगे

जुलाई-अगस्त सितंबर माह में देश में वर्षा सामान्य से 20 प्रतिशत कम होगी तो कहीं कहीं नदियों में उफान देखने को मिलेगा। पूर्व की भांति पृथ्वी के ऊपर लाशों के ढेर लगेंगे, हो सकता है युद्ध के कारण या कोई महामारी के कारण या अन्य कारणों से ऐसा होने के संकेत हैं। सभी धातुएं महंगी होंगी। अनाज महंगा होगा, विदर्भ में उपद्रव होने के संकेत हैं। महाराष्ट्र में सरकार गिरने की भी संभावना है। उत्तर प्रदेश, बिहार में बाढ़ के हालात बनेंगे, वहां समस्याएं ज्यादा रहेंगी, कहीं कहीं पर आकाशीय बिजली या सर्पदंश की घटनाएं बहुत ज्यादा देखने को मिलेगी।

ठग और पाखंडियों की आएगी शामत

अक्टूबर-नवंबर और दिसंबर में देश में कहीं-कहीं अधिक वर्षा होने से फसलों को नुकसान होगा। पंजाब में उपद्रव देखने को मिलेगा। वहां किसी न किसी रूप में अशांति रहेगी। पाखंडियों में भय व्याप्त होगा या ठगी करने वाले लोग पकड़े जाएंगे। आंख, कान, नाक और गले की बीमारियां ज्यादा होंगी।
डॉ. शर्मा ने बताया कि कुल मिलाकर साल 2022 के फलादेश में यह देखने को मिलता है कि विश्व में कहीं-कहीं युद्ध की भी संभावना बन रही है। महाराष्ट्र में सरकार गिरने की संभावना भी बन रही है। देश के उत्तर और दक्षिणी भारत में वर्षा अधिक होगी। फसल खराब होने की संभावना रहेगी, देश में चौपाएं जानवरों में रोग अधिक होंगे।

About newsray24

Check Also

Fear of Chair: थाने की कुर्सी, जिस पर बैठने से भी डरते हैं पुलिस के अधिकारी

Spread the love जोधपुर। जोधपुर पुलिस कमिश्नरेट के बाड़मेर जिले के पच्चीस पुलिस थानों में …

Leave a Reply

Your email address will not be published.