अगले कुछ माह में तय होगा नया सीडीएस

Spread the love

सरकार लाई प्रक्रिया में तेजी


जयपुर.
हेलीकॉप्टर दुर्घटना में देश के पहले चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ (सीडीएस) जनरल बिपिन रावत का निधन होने के बाद से रिक्त पद को भरने की प्रक्रिया में तेजी आ गई है। अगले सीडीएस का चयन करने के लिए मेडिकल फिटनेस को महत्वपूर्ण मानदंड रखा गया है। इसलिए केंद्र सरकार अगले सीडीएस की नियुक्ति से पहले करीब 30 सेवारत और सेवानिवृत्त अधिकारियों के स्वास्थ्य रिकॉर्ड की जांच कर रहा है।
देश के पहले सीडीएस जनरल बिपिन रावत का 08 दिसंबर 2021 को नीलगिरी जिले के कुन्नुर में एक हेलीकॉप्टर दुर्घटना में निधन हो गया था। लगभग छह माह से खाली पड़ी सीडीएस की कुर्सी को भरने की प्रक्रिया तेज हो गई है। सरकार जल्द से जल्द नए सीडीएस का चयन करना चाहती है ताकि सेनाओं के आधुनिकीकरण एवं थिएटर कमांड के गठन की प्रक्रिया को आगे बढ़ाया जा सके। सरकार अगले सीडीएस के रूप में उसी सैन्य अधिकारी को जनरल बिपिन रावत का उत्तराधिकारी बनाना चाहती है जो तीनों सेनाओं में सक्रिय रूप से तालमेल बिठाने और थिएटर कमांड की निर्माण प्रक्रिया पर तेजी से ध्यान केन्द्रित कर सके।
सरकार ने नए सीडीएस का चयन करने के लिए 30 अधिकारियों का चयन किया हैए जिनमें सेवारत और सेवानिवृत्त अधिकारी हैं। इस बार सीडीएस के चयन में मेडिकल फिटनेस को महत्वपूर्ण मानदंड बनाया गया है। हालांकि सेवारत सैन्य अधिकारियों के मेडिकल रिकॉर्ड सरकार के पास उपलब्ध हैं लेकिन विशेष रूप से सेवानिवृत्त अधिकारियों के चिकित्सा इतिहास का बारीकी से अध्ययन किया जाएगा। सरकार ने तीनों सेनाओं के मौजूदा प्रमुखों समेत पांच वरिष्ठतम अधिकारियों के विवरण मांगे हैं। इसके अलावा तीनों सेनाओं के सेवारत 12 कमांडर.इन.चीफ रैंक के अधिकारियों के बारे में जानकारी मांगी गई है।
नए सीडीएस के चयन की प्रक्रिया तेज करते हुए सरकार ने जनवरी 2020 से सेवानिवृत्त हुए सेना प्रमुखों और कमांडर इन चीफ के रैंक के सभी अधिकारियों के रिकॉर्ड भी मांगे हैं। हाल ही में सेवानिवृत्त हुए नौसेना प्रमुख एडमिरल केबी सिंह, वायु सेना प्रमुख एयर चीफ मार्शल आरकेएस भदौरिया और सेना प्रमुख जनरल एमएम नरवणे भी विचाराधीन सूची में हैं। एक सैन्य कमान का नेतृत्व करने के बाद थ्री स्टार रैंक पर सेवानिवृत्त हुए कमांडर इन चीफ स्तर के अधिकारी भी इस सूची का प्रमुख हिस्सा हैं। इनमें उत्तरी सेना के पूर्व कमांडर रणबीर सिंह, पश्चिमी वायु कमान के प्रमुख अमित देव, पूर्व उप थल सेनाध्यक्ष लेफ्टिनेंट जनरल सीपी मोहंती और दक्षिणी नौसेना कमान के पूर्व प्रमुख एडमिरल एके चावला शामिल हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *