TVS RTR 160 4V व BAJAJ Pulser N160 में नेक टू नेक फाइट

Spread the love

जयपुर। लगभग एक दशक पहले भारत के बाइक मार्केट पर जापानी कंपनी Yamaha और Suzuki ने 150-160cc सेंगमेंट पर दो बाइकों के जरि‍ए कब्‍जा कर लि‍या था। दोनों कंपनि‍यां स्पोर्टीनेस, प्रीमियम फील और फ्लेयर वाली दो बाइक FZ और Gixxer लेकर आई थी। दोनों बाइक्‍स को ग्राहकों ने हाथोंहाथ लि‍या और इन्‍हें कस्‍टमर्स ने उम्‍मीद से ज्‍यादा पसंद कि‍या। लेकि‍न अब स्‍थि‍ति‍यां बदल गई है। अब इस सेंगमेंट की बाइक्‍स में दो भारतीय कंपनि‍यों बजाज और टीवीएस का दबदबा है।
TVS अपने जबरदस्त सक्षम RTR 160 4V के साथ इस सेगमेंट पर राज कर रहा है, बाइक में पि‍छले चार वर्षों से लगातार अपडेट कि‍ए जाते रहे हैं, जिससे कस्‍टमर्स में आज भी इसका क्रेज बरकरार है। वहीं नए बजाज पल्सर N160 भी युवाओं की पहली पसंद बनी हुई है, लेकि‍न लगता अब दोनों बाइक्‍स में कड़ा मुकाबला होने वाला है।

शहर की सड़कों पर मुकाबला कांटे का

इस स्‍पर्धा में अब यदि पल्‍सर को अपनी पॉजि‍शन बरकरार रखने है तो उसे इंजन को अधि‍क दक्ष बनाना होगा। हालांक अभी पल्‍सर दो-वाल्व सिलेंडर-हेड को स्पोर्ट करते हुए 1.6hp की पावन जनरेट करता है। साथ ही यह टीवीएस की अपाचे से 8 किग्रा भारी है। लेकिन यह टॉर्क के मामले में अपाचे के लगभग बराबर है। कभी स्‍पीड में यानी शहरों की सड़कों पर दोनेां बाइक्‍स की स्‍पीड और पॉवर लगभग समान ही नजर आती है। हालांकि‍ RTR का मोटर थोड़ा अधिक मोटा लगता है, और इसकी ग्लाइड थ्रू टेक्नोलॉजी इसकी पुष्‍टि‍ भी करती है, लेकिन पल्सर के इंजन में ऐसी बहुत सी खूबि‍यां हैं, जो आपको अट्रेक्‍ट करती हैं। यह 1,500rpm की गति‍ की कारण शहर की सड़कों पर पि‍क अप के मामले में अपाचे से आगे है। स्‍लीक थ्रॉटल पहली नजर में ही कस्‍टमर्स को पसंद आ जाता है। साइलेंसर और इंजन की ध्‍वनि अपाचे से ज्‍यादा बढ़ि‍या है। गियरशिफ्ट भी शानदार रूप से स्लीक हैं। लेकिन खुली सड़क पर यह अपाचे से पीछे छूट जाती है।

हाईव पर अपाचे का दमदार प्रदर्शन

हाईवे पर, अपाचे की प्राकृतिक क्रूज़िंग गति उल्लेखनीय रूप से अधिक है, और यह पल्सर की तुलना में काफी अधिक आराम के साथ 100kph की स्‍पीड पकड़ सकती है, जो इसे पसंद करने के लि‍ए बड़ा कारण हो सकता है। हाईवे पर सफर के दौरान बजाज टॉप-एंड पर पीछे हटना शुरू कर देता है और 90kph से आगे संघर्ष करता नजर आता है। अपाचे RTR का प्रदर्शन इस मामले में पल्‍सर से काफी बेहतर है। अपाचे पल्सर की तुलना में लगभग 5 सेकंड पहले 100kph की स्‍पीड पकड़ लेता है। स्‍पीड के मामले में 60kph पर, पल्सर केवल लगभग आधा सेकंड पीछे है, और यहां तक ​कि 80kph पर, अंतर अभी केवल एक सेकंड से भी कम रहता है। लेकिन 80kph से 100kph तक TVS पल्सर को अपनी धूल खाने के लिए छोड़ देती है। दोनों बाइक का शहर में नेक टू नेक प्रदर्शन है, लेकि‍न हाईवे पर अपाचे अपने प्रति‍योगी पल्‍सर को पीछे छोड़ देता है।

स्पोर्टी राइडिंग पोजीशन से मि‍लता है कंफर्ट

पल्सर आपको अपाचे की तुलना में अधिक आक्रामक सीट प्रोवाइड कराती है। यह आपको अधिक स्पोर्टी राइडिंग पोजीशन में बैठाती है। क्लबमैन-स्टाइल हैंडलबार काफी कम और पतला है, और फुट पेग थोड़ा पीछे भी सेट हैं। कुल मिलाकर, यह काफी आकर्षक है। वहीं अपाचे RTR में आपका ऊपरी शरीर अधिक सीधा होता है, जिसमें लंबा, चौड़ा हैंडलबार है। लेकिन इसमें फुट रेस्‍ट काफी ऊपर रखे गए हैं। जि‍सके कारण राइडर के पैर कंफर्ट फील नहीं करते हैं। बाइक पर बैठने के कुछ घंटों के बाद पैर ऐंठन महसूस करने लगते हैं, लेकि‍न पल्‍सर में ऐसा नहीं है, उसमें राइडर को कंफर्ट फील होता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.