सांसद दीयाकुमारी ने किया भरतपुर जिले में प्रचार

Spread the love


जयपुर.
राजसमंद सांसद दीयाकुमारी ने कहा कि कांग्रेस के संवेदनहीन शासन से आम जनता पूरी तरह से निराश हो चुकी है। हत्या और बलात्कार की घटनाएं आम बात हो गई है ऐसा लगता है जैसे प्रदेश में कानून का खौफ अपराधियों के मन से निकल चुका है। सांसद दीया ने भरतपुर जिले के कामां में कामां और पहाड़ी पंचायत समिति व जिला परिषद सदस्यों के समर्थन में चुनाव प्रचार करते हुए आम जनता से गांव की बनने वाली सरकार में भाजपा का परचम फहराने की अपील की।

चुनाव प्रचार के बाद किए मेहंदीपुर बालाजी के दर्शन.

सांसद दीयाकुमारी ने मेहंदीपुर बालाजी महाराज के दर्शन कर महंत किशोर पुरी महाराज के चित्र पर पुष्पांजलि अर्पित की। इस अवसर पर महंत नरेश पुरी महाराज सिद्ध पीठ मेहंदीपुर बालाजी का आशीर्वाद लिया व प्रदेश की खुशहाली की कामना की। चुनाव प्रचार पर पहुंची प्रदेश महामंत्री व सांसद दीयाकुमारी का मेहंदीपुर बालाजी, महुआ, सिकंदरा, खेड़ली मोड़, खेड़ली, कठूमर, नगर, डीग, कामां में स्वागत किया गया।

खरीफ विपणन सत्र में खरीद कार्यों से लगभग 129.03 लाख किसान लाभान्वित

धान की खरीद खरीफ विपणन सत्र 2019.20 में पिछले उच्च स्तर 773.45 लाख मीट्रिक टन को पार करते हुए अब तक के उच्चतम स्तर पर पहुंच चुकी है। लगभग 129.03 लाख किसान मौजूदा खरीफ विपणन सत्र में एमएसपी मूल्यों पर हुए खरीद कार्यों से लाभान्वित हो चुके हैं और उन्हें 1,64,951.177 करोड़ रुपये का भुगतान किया जा चुका है।
वर्तमान खरीफ 2020-21 में धान की खरीद इसकी बिक्री वाले राज्यों में सुचारू रूप से जारी है। 23-8-2021 तक 873.68 लाख मीट्रिक टन से अधिक धान का क्रय किया जा चुका है। इसमें खरीफ फसल का 707.69 लाख मीट्रिक टन और रबी फसल का 165.99 लाख मीट्रिक टन धान शामिल है जबकि पिछले वर्ष की इसी समान अवधि में 763.01 लाख मीट्रिक टन धान खरीदा गया था।
गेहूं की खरीद का कार्य वर्तमान रबी विपणन सत्र 2021-22 के लिए इसकी खरीद वाले राज्यों में पूरा हो चुका है। अब तक 18-08-2021 तक 433.44 लाख मीट्रिक टन गेहूं की खरीद की गई थी जो कि अब तक की खरीद का सबसे उच्चतम स्तर हैए क्योंकि इसने आरएमएस 2020-21 के पिछले उच्च स्तर 389.93 लाख मीट्रिक टन गेहूं की खरीद के आंकड़े को पार कर लिया है जबकि पिछले साल की इसी समान अवधि में 389.93 लाख मीट्रिक टन गेहूं खरीदा गया था।
लगभग 49.20 लाख किसान मौजूदा रबी विपणन सत्र में एमएसपी मूल्यों पर हुए खरीद कार्यों से लाभान्वित हो चुके हैं और उन्हें 85603.57 करोड़ रुपये का भुगतान किया जा चुका है।
इसके अलावा प्रदेशों से मिले प्रस्ताव के आधार पर तमिलनाडु, कर्नाटक, महाराष्ट्र, तेलंगाना, गुजरात, हरियाणा, मध्य प्रदेश, उत्तर प्रदेश, ओडिशा, राजस्थान और आंध्र प्रदेश जैसे राज्यों से खरीफ विपणन सत्र 2020-21 एवं रबी विपणन सत्र 2021 तथा ग्रीष्म सत्र 2021 के लिए मूल्य समर्थन योजना पीएसएस के तहत 109.58 लाख मीट्रिक टन दलहन और तिलहन की खरीद को भी मंजूरी प्रदान की गई। आंध्र प्रदेश, कर्नाटक, तमिलनाडु और केरल राज्यों से 1.74 लाख मीट्रिक टन खोपरा बारहमासी फसल को क्रय करने के लिए भी स्वीकृति दी गई थी। यदि अधिसूचित फसल अवधि के दौरान संबंधित राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों में बाजार की दरें एमएसपी से नीचे चली जाती हैं तो राज्य की नामित खरीद एजेंसियों के माध्यम से केंद्रीय नोडल एजेंसियों द्वारा इन राज्यों तथा केंद्र शासित प्रदेशों को मूल्य समर्थन योजना पीएसएस के अंतर्गत दलहन, तिलहन और खोपरा फसल की खरीद के प्रस्तावों की प्राप्ति पर भी मंजूरी दी जाएगी ताकि पंजीकृत किसानों से वर्ष 2020-21 के लिए अधिसूचित किये गए न्यूनतम समर्थन मूल्य पर सीधे इन फसलों के एफएक्यू ग्रेड की खरीद की जा सके।
खरीफ 2020-21 और रबी 2021 तथा ग्रीष्म सत्र 2021 के तहत 23-08-2021 तक सरकार द्वारा अपनी नोडल एजेंसियों के माध्यम से 11,91,926.47 मीट्रिक टन मूंग, उड़द, अरहर, चना, मसूर, मूंगफली की फली, सूरजमुखी के बीजए सरसों के बीज और सोयाबीन की खरीद एमएसपी मूल्यों पर की गई है। इस खरीद से तमिलनाडु, कर्नाटक, आंध्र प्रदेश, मध्य प्रदेश, महाराष्ट्र, गुजरात, उत्तर प्रदेश, तेलंगाना, हरियाणा, ओडिशा और राजस्थान के 6,96,803 किसानों को 6,686.59 करोड़ रुपये की आय हुई है। इसमें ग्रीष्म सत्र की 1,00,000 मीट्रिक टन मूंग भी शामिल है जिसकी खरीद मूल्य स्थिरीकरण निधि योजना के तहत मध्य प्रदेश में न्यूनतम समर्थन मूल्य पर प्रगति पर है।
इसी तरह से फसल सत्र 2020-21 के दौरान 5,089 मीट्रिक टन खोपरा बारहमासी फसल की खरीद कर्नाटक और तमिलनाडु राज्यों से की गई है। इसके लिए 3,961 किसानों को लाभान्वित करते हुए न्यूनतम समर्थन मूल्य पर 52 करोड़ 40 लाख रुपये की अदायगी की गई है। विपणन सत्र 2021-22 के लिए तमिलनाडु से 51000 मीट्रिक टन खोपरा खरीदने की मंजूरी दी जा चुकी है और 23-08-2021 तक तमिलनाडु में 36 किसानों को लाभान्वित करते हुए 0.09 करोड़ रुपये के एमएसपी मूल्य वाले 8.30 मीट्रिक टन खोपरा की खरीद की गई है।

About newsray24

Check Also

हारित भवन में डांडिया आज से

Spread the love मदनगंज किशनगढ़. श्री हरियाणा गौड़ ब्राह्मण पंचायत संस्था युवासंघ मदनगंज के सचिव …

Leave a Reply

Your email address will not be published.