शुन्यकाल में सांसद दीया ने उठाया ट्रेनों के ठहराव का मुद्दा

Spread the love

सुरक्षा की दृष्टि से बंद ट्रेनों के ठहराव को पुनः शुरू करवाने की कवायद

राजसमंद। संसद के शीतकालीन सत्र के दौरान सांसद दीया कुमारी ने कोरोनाकाल के दौरान बंद किए गए ट्रेनों के ठहराव को पुनः शुरू करवाने की रेल मंत्रालय से मांग की है।

शून्यकाल में आसान के माध्यम से केंद्रीय रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव के समक्ष ट्रेनों के ठहराव का मुद्दा उठाते हुए सांसद दीया कुमारी ने कहा की पीएम नरेंद्र भाई मोदी के मार्गदर्शन और रेल मंत्री वैष्णव के अथक प्रयासो से भारतीय रेल नई ऊचांइओं को छू रही है तथा आधुनिक तकनीक के उपयोग से वैश्विक स्तर पर अपनी नई पहचान बना रही है। सांसद ने कहा की कोरोना काल के दौरान संसदीय क्षेत्र राजसमंद के कई रेलवे स्टेशनो पर ट्रेनों का ठहराव सुरक्षा की दृष्टि से बंद कर दिया गया था जिसे पुनः शुरू करवाने की सख्त आवश्यकता है।

सांसद दीया ने सदन के पटल पर उल्लेख करते हुए कहा की ट्रेन संख्या 14813 – 14814 का ठहराव गोटन, जालसू और खेडूली पर, ट्रेन संख्या 14721-14722, 19223-19224, 19225-19226 14887-14888 का ठहराव गोटन पर तथा ट्रेन संख्या 19031-19032 का ठहराव सैंदड़ा पर बंद होने से स्थानीय निवासियों को भारी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। ट्रेन से आवागमन करने वाले यात्रियों को निजी एवं अन्य वाहनों से यात्रा करनी पड़ रही है। इससे इन्हें आर्थिक भार वहन करना पड़ रहा है। ट्रेनों के ठहराव पुनः शुरू करवाने के लिए विभिन्न सामाजिक संगठन, जनप्रतिनिधि और स्थानीय निवासी लगातार मांग कर रहे हैं।

इसके अलावा जोधपुर से दिल्ली-सराय रोहिल्ला के मध्य संचालित होने वाली ट्रेन नं. 22421-22422 सालासर एक्सप्रेस का संचालन कोहरे के कारण 1 दिसम्बर 2022 से 28 फरवरी 2023 तक स्थगित कर दिया गया है। यह ट्रेन डेगाना और मेड़ता स्टेशन पर रुकती है। मंत्रालय द्वारा इस सम्बंध में पुर्नविचार करते हुए ट्रेन संख्या 22421-22422 सालासर एक्सप्रेस का संचालन पुनः शुरू करवाया जाना चाहिए।

Leave a Reply

Your email address will not be published.