Mango: कैंसर व डायबिटीज समेत बहुत सी बीमारियों से बचाता है फलों का राजा आम

Spread the love

आम फलों का राजा कहलाता है। यह देश-विदेश में लोकप्रिय फल है, जिसका उपयोग केवल फल के रूप में नहीं बल्कि जूस बनाकर, चटनी के रूप में, सब्जी में, आम पना में, मिल्कशेक में, पापड़ आदि में होता है। इसमें कई सारे पोषक तत्व होते हैं। इसमें विटामिन ए, विटामिन सी, विटामिन डी और मिनरल होते हैं। गर्मियों के मौसम में बाजार में आम बिकने लगते हैं और इसका सबसे ज्यादा उपयोग गर्मियों में ही होता है। शायद ही कोई ऐसा होगा, जिसे गर्मियों में आम खाना पसंद नहीं होगा। हम यहां बता रहे हैं आम खाने के उपयोग, फायदे और नुकसान के बारे में-

आम की कुछ प्रचलित किस्में

अल्फांसो – महाराष्ट्र के रत्नागिरी में उत्पन्न होता है।
हिमसागर – पश्चिम बंगाल में उत्पन्न होने वाला आम।
बंगनपल्ली – आंध्र प्रदेश में उत्पन्न होने वाला आम।
दसेहरी – लखनऊ और मलिहाबाद में होने वाला आम।
बादामी – कर्नाटक में उत्पन्न होने वाला आम। इसे कर्नाटक का अल्फांसो भी कहा जाता है।
केसर – गुजरात के सौराष्ट्र में उत्पन्न होने वाला आम।
तोतापुरी – आंध्र प्रदेश, तेलंगाना, तमिलनाडु और कर्नाटक में उत्पन्न होने वाला आम।
लंगड़ा – वाराणसी, उत्तर प्रदेश में उगाया जाने वाला आम।
मनकुरद और मुसरद – यह आम गोवा में पाया जाता है।
मालदा – इसकी खेती बिहार के दीघा में होती है।
जर्दालू – यह भी बिहार में पाया जाने वाला आम है।
नीलम – यह आम हैदराबाद में पाया जाता है।

आम के हर नाम के पीछे एक कहानी

आम का स्वाद ही नहीं, बल्कि इसका नाम भी बहुत मायने रखता है। आपको जानकर हैरानी हो सकती है कि आम के हर नाम के पीछे एक कहानी छुपी है। आम जब थोड़ा कच्चा रहता है, तो उसमें विटामिन-सी की मात्रा ज्यादा होती है। वहीं, जब यह पक जाता है, तो इसमें विटामिन-ए की मात्रा अधिक हो जाती है। आम का वैज्ञानिक नाम मेंगीफेरा इंडिका है और संस्कृत में आम को आम्रः कहते हैं।

उत्पादन में पहले नंबर पर भारत

आम उत्पादन की अगर बात करें, तो इसमें भारत का नाम सबसे पहले आता है। आम उत्पादन के मामले में भारत नंबर-1 है। अल्फांसो सबसे महंगे और चर्चित आमों में से एक है। अल्फांसो की खेती मुख्य रूप से भारत के पश्चिमी भाग में की जाती है, जिसमें रत्नागिरी, रायगढ़ और भारत का कोंकण क्षेत्र शामिल है। दुनिया भर में अन्य फलों की तुलना में सबसे ज्यादा आम खाया जाता है। आम को भारत का राष्ट्रीय फल कहा गया है। आम सिर्फ भारत ही नहीं, बल्कि पाकिस्तान और फिलीपीन्स का भी राष्ट्रीय फल है। आम के पेड़ बांग्लादेश का राष्ट्रीय पेड़ है। आम की लगभग 100 से भी ज्यादा किस्में पाई जाती हैं। अगर सबसे भारी आम की बात करें, तो इसमें सहारनपुर के हाथीझूल आम का नाम आता है। इस एक आम का वजन करीब तीन से चार किलो तक हो सकता है।

आम के पत्ते और छिलके भी फायदेमंद

आम के साथ इसके पत्ते और छिलके भी फायदेमंद होते हैं। आम के पत्तों को न सिर्फ पूजा में और घर के द्वार में लगाने के लिए उपयोग किया जाता है, बल्कि कई प्रकार की दवाइयां बनाने में भी इसका उपयोग किया जाता है। लोगों का मानना है कि भगवान बुद्ध आम के पेड़ के नीचे ही बैठकर ध्यान किया करते थे।

आम खाने के फायदे

कैंसर से बचाव

आम में मौजूद एंटीऑक्सीडेंट कोलोन कैंसर, ल्यूकेमिया और प्रोस्टेट कैंसर से बचाव में फायदेमंद हैं। इसमें क्यूर्सेटिन, एस्ट्रागालिन और फिसेटिन जैसे ऐसे कई तत्व होते हैं, जो कैंसर से बचाव करने में मददगार होते हैं। लोगों की खराब जीवनशैली की वजह से दिन-ब-दिन कैंसर का खतरा बढ़ रहा है। इसलिए, खाने-पीने का ध्यान रखना जरूरी है। खाने की बात करें, तो आम कैंसर जैसी घातक बीमारी का खतरा कम कर सकता है। आम के फल के गूदे में कैरोटिनॉइड, एस्कॉर्बिक एसिड, टरपेनोइड्स और पॉलीफेनॉल्स होते हैं। इन तमाम खूबियों के कारण आम में कैंसर के खतरे को कम करने का गुण होता है। वर्ष 2010 में किए गए एक वैज्ञानिक अध्ययन ने भी आम के एंटी-कार्सिनोजेनिक प्रभावों का समर्थन किया है
आम में मौजूद एंटीकैंसर गुण को मैंगिफरिन का नाम दिया गया है, जो फलों में पाया जाने वाला यौगिक है। मैंगिफरिन पेट व लिवर में कैंसर कोशिकाओं और अन्य ट्यूमर कोशिकाओं को बढ़ने से रोकता है। वर्ष 2015 में किए गए एक अन्य अध्ययन में पाया गया कि आम के पॉलीफेनॉल्स स्तन कैंसर को दबा देते हैं। टेक्सास ए एंड एम यूनिवर्सिटी द्वारा प्रकाशित एक रिपोर्ट के अनुसार आम में मौजूद पॉलीफेनॉलिक यौगिकों में एंटीऑक्सीडेंट गुण होते हैं, जो ऑक्सिडेटिव स्ट्रेस को कम करने में मदद करते हैं। इसके अलावा, इन यौगिकों में एंटी-इंफ्लेमेटरी गुण भी होता है।

  1. दिल के लिए आम खाने के फायदे

आम में फाइबर और विटामिन सी खूब होता है। इससे बैड कोलेस्ट्रॉल संतुलन बनाने में मदद मिलती है। हृदय स्वस्थ तो आप स्वस्थ। हृदय को स्वस्थ रखने के लिए लोग खाने का खास ध्यान रखते हैं। अगर आप मौसमी फल आम को भी अपनी डायट में शामिल कर लें, तो दिल अच्छी तरह स्वस्थ हो सकता है। आम के सेवन से दिल की बीमारी का भी खतरा कम हो सकता है। इसमें मौजूद पोषक तत्व दिल को स्वस्थ रखने में मदद कर सकते हैं। इसलिए, आम के मौसम में इसका सेवन करना न भूलें।

  1. कोलेस्ट्रॉल के लिए आम के फायदे

जिन्हें कोलेस्ट्रॉल के खतरे से बचना है, वो भी आम का सेवन कर सकते हैं। आम में प्रचुर मात्रा में न्यूट्रासिटिकल मौजूद होता है, जो कोलेस्ट्रॉल के स्तर को कम करने में मदद कर सकता है। एक वैज्ञानिक अध्ययन में चूहों पर मैंगिफरिन (आम में मौजूद अहम यौगिकों में से एक) का प्रयोग किया गया, जिससे उनमें कोलेस्ट्रॉल का स्तर कम हो गया। यह एचडीएल (उच्च घनत्व वाले लिपोप्रोटीन) यानी अच्छे कोलेस्ट्रॉल के स्तर को बढ़ाने में भी मदद कर सकता है।

  1. रोग प्रतिरोधक शक्ति के लिए आम के फायदे अगर शरीर को स्वस्थ रखना है, तो रोग प्रतिरोधक क्षमता का सही होना बहुत जरूरी है। अगर ऐसा नहीं हुआ, तो मौसम बदलने से या धूल-मिट्टी के कारण आसानी से शरीर संक्रमण का शिकार हो सकता है। इसलिए आम को अपनी डाइट में शामिल कर आप अपनी रोग प्रतिरोधक शक्ति को बढ़ा सकते हैं। रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने में विटामिन-सी काफी मदद करता है और आम विटामिन-सी से भरपूर है। राजस्थान में किए गए एक अध्ययन के अनुसार, विटामिन-सी एलर्जी की समस्या को कम करता है और संक्रमण से लड़ने में मदद कर सकता है। इसलिए, इसका सेवन न सिर्फ स्वाद के लिए बल्कि अपनी सही सेहत के लिए भी करें।
  2. त्वचा के लिए है फायदेमंद

आम के गुदे का पैक लगाने या फिर उसे चेहरे पर मलने से चेहरे पर निखार आता है और विटामिन सी संक्रमण से भी बचाव करता है।

  1. पाचन क्रिया को ठीक रखने में
    आम में ऐसे कई एंजाइम्स होते हैं जो प्रोटीन को तोड़ने का काम करते हैं। इससे भोजन जल्दी पच जाता है। साथ ही इसमें उपस्थित साइर्टिक एसिड, टरटैरिक एसिड शरीर के भीतर क्षारीय तत्वों को संतुलित बनाए रखता है। आम का सेवन करने से पाचन संबंधी समस्याओं से भी राहत मिल सकती है। इसमें लैक्सेटिव यानी पेट को साफ करने का गुण होता है। यहां तक कि इससे कब्ज की समस्या भी दूर होती है। जब कब्ज की परेशानी नहीं होगी, तो पाचन शक्ति में भी सुधार होगा। साथ ही आम फाइबर का अच्छा स्त्रोत है, इस कारण से भी पाचन शक्ति में सुधार होता है।
  2. मोटापा कम करने में

मोटापा कम करने के लिए भी आम एक अच्छा उपाय है। आम की गुठली में मौजूद रेशे शरीर की अतिरिक्त चर्बी को कम करने में बहुत फायदेमंद होते हैं। आम खाने के बाद भूख कम लगती है, जिससे ओवर ईटिंग का खतरा कम हो जाता है।

  1. सेक्स क्षमता बढ़ाने में
    आम में विटामिन ई अधिक पाया जाता है और इससे सेक्स क्षमता बढ़ती है। साथ ही ये पौरुष बढ़ाने वाला फल भी माना गया है।
  2. स्मरण शक्ति में मददगार
    जिन लोगों को भूलने की बीमारी हो, उन्हें आम का सेवन करना चाहिए। इसमें पाया जाने वाला ग्लूटामिन एसिड नामक एक तत्व स्मरण शक्ति को बढ़ाने में उत्प्रेरक की तरह काम करता है। साथ ही इससे रक्त कोशिकाएं भी सक्रिय होती हैं। इसीलिए गर्भवती महिलाओं को आम खाने की सलाह दी जाती है।
  3. गर्मी से बचाव

गर्मियों में अगर आपको दोपहर में घर से बाहर निकलना है तो एक गिलास आम का पना पीकर निकलिए। न तो आपको धूप लगेगी और न ही लू। आम का पना शरीर में पानी के स्तर को संतुलित बनाए रखता है।

  1. नेत्र ज्योति बढ़ाने में सहायक

शरीर के अन्य अंगों की तरह आंखों का ध्यान रखना भी जरूरी है। उम्र के साथ आंखों की रोशनी कम होना सामान्य है, लेकिन कम उम्र में ही ऐसा हो, तो इसका मतलब यह है कि पोषक तत्वों की कमी के कारण ऐसा हो रहा है। खासकर, विटामिन-ए की कमी का असर आंखों की रोशनी पर पड़ता है। ऐसे में आम का सेवन आंखों को स्वस्थ रख सकता है, क्योंकि इसमें विटामिन-ए मौजूद होता है। इसके अलावा, मानव आंख के दो प्रमुख कैरोटेनॉइड हैं – ल्यूटिन और जियाजैंथिन। आम को जियाजैंथिन का समृद्ध स्रोत माना गया है और यह आंखों को स्वस्थ रखने में मदद कर सकता है। यह उम्र के साथ आंखों की रोशनी को कमजोर होने से बचा सकता है। एक अध्ययन के अनुसार, आम में मौजूद क्रिप्टोजैन्थिन नामक कैरोटिनॉइड उम्र के साथ होने वाली कमजोर दृष्टि की समस्या को कम करने में मदद कर सकता है।

  1. दिमाग के लिए आम के फायदे

अगर आम खाने के फायदे देखें, तो आम दिमाग को तेज रखने के लिए और याददाश्त मजबूत करने में भी मदद करता है। आम में मौजूद बायोएक्टिव घटक दिमाग को स्वस्थ रखता है। इसके अलावा, एनसीबीआई की वेबसाइट पर प्रकाशित एक अध्ययन से साबित हुआ है कि आम के अर्क में कुछ ऐसी चीजें होती हैं, जिससे याददाश्त तेज होती है। वहीं, थाईलैंड में हुए एक अन्य अध्ययन में आम में न्यूरोप्रोटेक्टिव गुण होने की पुष्टि की गई है।

  1. ब्लड प्रेशर के लिए आम के फायदे

अगर बात करें उच्च रक्तचाप की तो आम का सेवन बहुत फायदेमंद हो सकता है। उच्च रक्तचाप की वजह से लोगों को हृदय संबंधी समस्याओं का खतरा बढ़ जाता है। ऐसे में अगर आम का सेवन किया जाए, तो यह बहुत लाभकारी हो सकता है। इसलिए, अगर ब्लड प्रेशर के खतरे से बचना है, तो आम के मौसम में इसका सेवन जरूर करें।

  1. गर्मी से बचाव

ये तो सभी जानते हैं कि आम गर्मियों के मौसम का फल है। यह शरीर को गर्मियों में चलने वाली गर्म हवा यानी लू से बचा सकता है। गर्मी के दिन में पके आम का जूस पीने से गर्मी के प्रकोप से बचा जा सकता है, क्योंकि यह न सिर्फ शरीर को ताजगी देता है, बल्कि हाइड्रेट भी करता है (29)। इसके अलावा, कई लोग लू लगने से और बुखार आने से कच्चे आम को उबालकर शरीर पर लगाते हैं, ऐसा माना जाता है कि इससे शरीर ठंडा हो सकता है। गर्मी के प्रकोप से बचने के लिए पके आम के अलावा कच्चे आम का पना या रस भी पी सकते हैं।

  1. डायबिटीज के लिए आम के फायदे

मधुमेह यानी डायबिटीज के मरीज कई चीजों को खाने से कतराते हैं। खासकर, आम को लेकर उन्हें उलझन रहती है कि वो इसे खाएं या नहीं, तो हम इस उलझन को दूर करते हैं। डायबिटीज में कुछ हद तक आम का सेवन किया जा सकता है। मोटे लोगों में डायबिटीज का खतरा ज्यादा होता है। मोटापे से ग्रस्त 20 वयस्कों पर किए गए अध्ययन से पता चला है कि 12 सप्ताह तक ताजे आम के आधे भाग के सेवन से रक्त शर्करा का स्तर कम हो जाता है। शोधकर्ताओं के अनुसार, आम में फाइबर और मैंगिफरिन होता है। इतना ही नहीं एक अन्य अध्ययन से साबित हुआ है कि आम के छिलके के अर्क में एंटीडायबिटिक गुण होते हैं।

इसके अलावा, मोटापे से ग्रस्त लोगों में टाइप 2 डायबिटीज के खतरे को भी कम किया जा सकता है, क्योंकि इसमें एंटी-डायबिटिक गुण मौजूद होते हैं, जो ब्लड ग्लूकोज के स्तर में सुधार करते हैं। इतना ही नहीं, जिन्हें टाइप 2 डायबिटीज है, उनमें हाई कोलेस्ट्रॉल के खतरे को भी कम किया जा सकता है। ऐसे में मधुमेह रोगी अपनी स्वास्थ्य स्थिति और शुगर लेवल के अनुसार डॉक्टरी सलाह के बाद आम को आहार में शामिल कर सकते हैं।

  1. गर्भावस्था में आम खाने के फायदे
    गर्भावस्था के दौरान भी आम का सेवन फायदेमंद हो सकता है। गर्भवती महिला को पोषक तत्व और पौष्टिक आहार की बहुत जरूरत होती है, खासकर विटामिन-ए की। ऐसे में आम का सेवन लाभकारी हो सकता है, क्योंकि आम विटामिन-ए से भरपूर होता है। फिर भी इसका सेवन संतुलित मात्रा में ही करें, क्योंकि इसके ज्यादा सेवन से जेस्टेशनल डायबिटीज होने का खतरा बढ़ सकता है। वहीं, अगर किसी को गर्भकालीन मधुमेह है, तो आम के सेवन से पहले डायटीशियन या डॉक्टर से सलाह लें।
  2. वजन कम करने के लिए आम के फायदे

आजकल मोटापा या बढ़ता वजन हर दूसरे व्यक्ति की परेशानी है। ऐसे में अगर व्यायाम व योग के साथ सही डाइट पर ध्यान दिया जाए, तो इससे छुटकारा मिल सकता है। वजन घटाने के लिए आप अपनी डाइट में आम को शामिल कर सकते हैं। सिर्फ आम ही नहीं एक अध्ययन के अनुसार आम का छिलका (जो हम आमतौर पर फेंक देते हैं) भी मददगार साबित हो सकता है। इसके अलावा आम में फाइबर होता है, जो वजन घटाने में काफी मदद कर सकता है। मिनेसोटा विश्वविद्यालय के एक अध्ययन में यह साबित हुआ कि फलों और सब्जियों में मिलने वाले डाइटरी फाइबर के सेवन से वजन घटाने में काफी सहायता हो सकती है। इसलिए, अपने आहार में आम को जरूर शामिल करें।

  1. अस्थमा या दमा के लिए आम के फायदे

दमा के मरीज भी आम का सेवन कर सकते हैं। आम में एंटी-अस्थमैटिक गुण मौजूद होते हैं, जिस कारण दमा के मरीजों के लिए यह फायदेमंद हो सकता है। आम में विटामिन सी भी मौजूद होता है। वहीं, एक अन्य अध्ययन के अनुसार, विटामिन-सी एलर्जी की समस्या को कम कर सकता है और संक्रमण से लड़ने में मदद कर सकता है। सिर्फ आम ही नहीं, बल्कि इसकी गुठली भी दमा के लिए फायदेमंद हो सकती है। जिन्हें एलर्जी की समस्या है या जिन्हें किसी खास तरह के फल या खाद्य पदार्थ से एलर्जी है, तो वो आम का सेवन डॉक्टर से पूछकर करें।

  1. किडनी स्टोन के लिए आम के फायदे

गुर्दे की पथरी यानी किडनी स्टोन से बचाव के लिए भी आम का सेवन लाभकारी हो सकता है। आम विटामिन-बी6 से भरपूर होता है। एक अमेरिकी अध्ययन के अनुसार, यह विटामिन ऑक्सालेट पथरी को कम कर सकता है। ऐसे में किडनी स्टोन से बचाव के लिए आम का सेवन किया जा सकता है।

  1. हड्डियों के लिए आम के फायदे

अगर हड्डियों को स्वस्थ रखना है, तो भी आम का सेवन करना जरूरी है। आम में विटामिन-ए और सी मौजूद होता है। साथ ही इसमें कैल्शियम भी होता है, जो हड्डियों को मजबूत व स्वस्थ रखने में मदद करता है। इतना ही नहीं आम में ल्यूपॉल नामक एक यौगिक भी होता है, जो सूजन और गठिया से बचाव कर सकता है।

  1. खून की कमी यानी एनीमिया में आम के फायदे

सही खान-पान न होने से और शरीर को जरूरी पौष्टिक तत्व न मिलने से खून की कमी की समस्या हो सकती है। ऐसे में आम का सेवन लाभकारी हो सकता है। सिर्फ आम नहीं, बल्कि आम का फूल भी खून की कमी में काफी फायदेमंद हो सकता है। आम कई तरह के पौष्टिक तत्वों से भरा हुआ है। आम में मौजूद विटामिन-सी शरीर में आयरन के अवशोषण में मदद कर सकता है और एनीमिया की समस्या से राहत दिलाने में मदद कर सकता है।

  1. डायरिया के लिए आम के फायदे

यह कई लोगों को थोड़ा चौंका सकता है कि डायरिया में आम का सेवन करना फायदेमंद हो सकता है। कई बार लोग इस दौरान आम का सेवन करने से मना करते हैं, क्योंकि यह गर्म होता है। वहीं, अगर आप डॉक्टर की सलाह लेकर आम का सेवन करते हैं, तो आपको फायदा हो सकता है। आम और आम के बीज में एंटी-डायरियल गुण मौजूद होते हैं। इसके अलावा, सिर्फ फल नहीं, बल्कि आम के पत्ते भी लाभकारी हो सकते हैं। आम के पत्ते टैनिन से भरपूर होते हैं और डायरिया के इलाज के लिए इसे सुखाकर खाया जा सकता है। इतना ही नहीं कैरेबियाई द्वीप समूह के कुछ हिस्सों में आम के पत्तों के काढ़े का उपयोग दस्त के इलाज के लिए किया जाता है।

  1. नशा उतारने के लिए आम के फायदे

दोस्तों के साथ पार्टी करना या ऑफिस के सहकर्मियों के साथ पार्टी में जाना और शराब का सेवन करना आजकल आम हो गया है। इसमें कोई दो राय नहीं कि शराब का सेवन सेहत के लिए हानिकारक है। फिर अगर आप शराब पीते हैं, तो उसका हैंगओवर उतारने के लिए आप आमतौर पर नींबू पानी का सहारा लेते हैं। आप नींबू पानी की जगह आम का भी सेवन कर सकते हैं। आम या आम का छिलका हैंगओवर को ठीक करने में मदद कर सकता है।

  1. आम में हैं एंटी अल्सर गुण

आजकल के गलत खान-पान के कारण कई तरह की पेट संबंधी समस्याएं होती हैं और अल्सर उन्हीं में से एक है। भूख न लगना व पेट में दर्द इसके लक्षण होते हैं। ऐसे में डॉक्टर की सलाह और दवाइयों के साथ-साथ आम का सेवन भी फायदेमंद हो सकता है। आम में एंटी-अल्सर गुण मौजूद हैं, जिससे अल्सर की समस्या से राहत मिल सकती है। आम के पॉलीफेनोलिक सूजन को कम करने में मदद कर सकते हैं।

  1. थायराइड के लिए आम के फायदे

थायराइड की समस्या को ठीक करने के लिए भी आम का सेवन किया जा सकता है। दरअसल, आम, खरबूजा और तरबूज के छिलके के मिश्रण के सेवन से थायराइड हॉर्मोन संतुलित होते हैं और थायराइड की समस्या से कुछ हद तक राहत मिल सकती है। आपको इन तीनों छिलकों के मिश्रण का पाउडर बाजार में सप्लीमेंट के तौर पर मिल सकता है।

  1. लिवर के लिए आम के फायदे

पेट से जुड़ी समस्याओं में लिवर की परेशानी भी हो सकती है। ऐसे में खाने-पीने का ध्यान रखना बहुत जरूरी होता है। इस स्थिति में डॉक्टर से बात करके आप आम को अपनी डाइट में शामिल कर सकते हैं। आम में हेपटोप्रोटेक्टिव गुण होते हैं, जिस कारण यह लिवर को स्वस्थ रखने में मदद कर सकता है।

  1. मलेरिया से बचाव के लिए आम के फायदे

मलेरिया मच्छरों से फैलने वाली एक गंभीर बीमारी है। अगर वक्त रहते इस पर ध्यान न दिया जाए, तो इससे मरीज की जान को खतरा हो सकता है। इसलिए इसके बचाव पर ध्यान देना जरूरी है। दरअसल, आम के छाल के अर्क में एंटी-मलेरियल गुण मौजूद होता है। ऐसे में आम के छाल का अर्क मलेरिया के लिए उपयोगी हो सकता है।

  1. त्वचा के लिए आम के फायदे

इस भागादौड़ भरे वक्त में शरीर के साथ-साथ त्वचा का ध्यान रखना भी जरूरी है। देखभाल के अभाव और प्रदूषण की वजह से त्वचा अपनी चमक खोने लगती है। इस स्थिति में फलों का सेवन खासकर आम का सेवन लाभकारी हो सकता है। वर्ष 2013 में एक कोरियाई अध्ययन के दौरान पाया गया कि सूरज की हानिकारक किरणों के कारण चूहों की खराब हुई त्वचा पर आम के अर्क ने सकारात्मक प्रभाव दिखाया।

आम में भरपूर मात्रा में बीटा-कैरोटीन (विटामिन-ए का ही एक रूप) पाया जाता है। एक जर्मन अध्ययन के अनुसार ये कैरोटीनॉयड त्वचा को स्वस्थ बनाने में मदद कर सकते हैं। बीटा-कैरोटीन भी एक फोटोप्रोटेक्टिव एजेंट है, जो त्वचा को पराबैंगनी किरणों से बचाता है। आम में मौजूद पॉलीफेनोल एंटीकैंसर गतिविधि को प्रदर्शित करते हैं, जो त्वचा के कैंसर को रोक सकते हैं।

एक शोध में आम में एंटी एक्ने गुण होने का भी जिक्र मिलता है। यह एक्ने का कारण बनने वाले बैक्टीरिया के जोखिम कम कर सकता है। आप कील-मुंहासों से परेशान हैं, तो अपनी डाइट में आम को शामिल कर सकते हैं। साथ ही आम में मौजूद विटामिन-ए त्वचा को स्वस्थ बनाता है और झुर्रियों के शुरुआती लक्षणों को कम कर सकता है।

  1. बालों के लिए आम के फायदे

त्वचा के साथ बालों की खूबसूरती भी जरूरी है। बाल अगर लंबे हों, लेकिन स्वस्थ न हों, तो कोई फायदा नहीं है। बालों को स्वस्थ बनाने के लिए सिर्फ शैंपू, कंडीशनर और तेल ही नहीं, बल्कि सही डाइट भी जरूरी है। बालों को खूबसूरत और चमकदार बनाने के लिए आप आम का सेवन कर सकते हैं। आम में प्रचुर मात्रा में विटामिन-सी पाया जाता है, जो कोलेजन उत्पादन को बढ़ावा देता है और बालों को स्वस्थ बनाने में मदद करता है। इसके अलावा भी आम में कई पौष्टिक तत्व हैं, जो बालों को घना और चमकदार बना सकते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.