बालक-बालिकाओं को बनाएं आत्मनिर्भर: सांसद दीयाकुमारी

Spread the love

क्षत्रिय युवक संघ के बालिका प्रशिक्षण शिविर का समापन

राजसमन्द। सांसद दीयाकुमारी ने महाराणा नाथद्वारा के प्रताप छात्रावास में आयोजित श्री क्षत्रिय युवक संघ के बालिका प्राथमिक प्रशिक्षण शिविर के समापन पर कहा कि बदलते परिवेश में बालक-बालिकाओं का आत्मनिर्भर होना बहुत आवश्यक है। उन्हें शिक्षित और संस्कारवान बनाना होगा, तभी वो आत्मनिर्भर बन पाएंगे। यह जिम्मेदारी किसी एक व्यक्ति या समूह की नहीं, पूरे समाज की है। आज जरूरत इस बात की है कि हम उनका ऐसा पालन पोषण करें कि वह अपना निर्णय खुद ले सकें।

हमारी संस्कृति और संस्कारों का भी कराएं बोध

23 सितम्बर से 26 सितंबर तक आयोजित शिविर के समापन सत्र पर अपने अध्यक्षीय उद्बोघन में सांसद दीयाकुमारी ने कहा कि बालक बालिकाओं को हमारी संस्कृति और संस्कारों का बोध कराना चाहिए। उन्हें धैर्यवान और कर्मशील बनाए, निर्णय लेने की स्वतंत्रता दें ताकि उन्हें अच्छे बुरे की पहचान हो सके। बालिकाओं को आत्मरक्षा के गुर सिखाने चाहिए। स्किल एजुकेशन को बढ़ावा देने के साथ खेलों के माध्यम से उनका शारीरिक और मानसिक विकास करना चाहिए। हमारी बेटियां कई खेलों में प्रथम स्थान लेकर हमेह गौरवान्वित कर रही हैं। हमें उनकी प्रतिभा को प्रोत्साहित करना चाहिए तथा बालकों को गलतियों से सीखने की प्रेरणा देनी चाहिए। क्षत्रिय युवक संघ बालिकाओं के सर्वांगीण विकास में हर संभव प्रयास कर अन्य समाजों को भी प्राेत्साहित करे ताकि समग्र रूप से सभी समाजों का विकास हो सके। यही हमारा क्षात्र धर्म है और यही संघ की शक्ति भी है। सांसद ने युवक संघ के संस्थापक स्वर्गीय तन सिंह को श्रद्धांजलि भी दी।

कार्यक्रम में महेश प्रताप सिंह चौहान, भीम सिंह चौहान, सम्भाग प्रमुख ब्रजराज सिंह, मानसिंह बारहठ, कुलदीप सिंह ताल, सुमेर सिंह झाला, नारायण सिंह, हरदयाल सिंह, मदन सिंह, निर्भय सिंह, डॉ. लक्ष्मी कुमारी के साथ शिविरार्थी बालिकाएं उपस्थित थी।

मानावतों का गुढ़ा में कमलोत्सव कार्यक्रम

भारतीय जनता पार्टी के संस्थापक पण्डित दीनदयाल उपाध्याय की जयंती पर कमलोत्सव अभियान के अन्तर्गत संसदीय क्षेत्र राजसमंद की विधानसभा कुम्भलगढ़ के ग्राम मानावतों का गुढ़ा बूथ संख्या-144 पर भाजपा कार्यकर्ताओं के साथ कमलोत्सव कार्यक्रम आयोजित किया गया। कार्यक्रम के दौरान बूथ अध्यक्षों एवं लम्पी संक्रमण से ग्रसित गायों की देखरेख करने वाले गौ सेवकों का सम्मान करते हुए पौधरोपण किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *