मेजर ध्यानचंद के परिजन का किया सम्मान

Spread the love

लोकतंत्र रक्षा मंच ने किया आयोजन


कोटा.
लोकतंत्र सेनानियों ने हॉकी के जादूगर मेजर ध्यानचंद की जन्म जयंती पर एवं राष्ट्रीय खेल दिवस पर उनके चित्र पर पुष्प अर्पण कर किया। कोटा जंक्शन क्षेत्र में रह रहे उनके परिवार जनों को माला पहनाकर, श्रीफल देकर, शाल ओढ़ाकर सम्मान किया गया। लोकतंत्र रक्षा मंच जिला कोटा ने यह कार्यक्रम उनके निवास पर जाकर किया। मेजर ध्यानचंद की पुत्रवधु शिवकुमारी, सुपौत्र अजय सिंह, सुपौत्रवधु आभा सिंह, सुपौत्री अंजू सिंह का सम्मान किया गया। इस अवसर पर भीममण्डी सिनी हायर सेकेंडरी स्कूल के सेवानिवृत्त हुए हॉकी के कोच भंवर लाल शर्मा को भी माला पहनाकर सम्मान किया।
लोकतंत्र रक्षा मंच राजस्थान के कार्यवाहक प्रदेश अध्यक्ष हनुमान शर्मा ने कहा कि हॉकी के जादूगर मेजर ध्यानचंद ने भारत का गौरव बढ़ाया। उन्होंने टीम की अगुवाई करते हुए 1928, 1932 और 1936 में लगातार तीन ओलंपिक स्वर्ण पदक जीतने का रिकॉर्ड बनाया था। बर्लिन जर्मनी स्टेडियम में मौजूद 40 हजार दर्शक उस समय हैरान रह गए जब हिटलर ने उनसे हाथ मिलाने के बजाय सेल्यूट किया। हिटलर ने मेजर ध्यान चंद से कहा जर्मन राष्ट्र आपको अपने देश भारत और राष्ट्रवाद के लिए सेल्यूट करता है। हिटलर ने ही उन्हें हॉकी का जादूगर का टाइटल दिया था।
लोकतंत्र रक्षा मंच के प्रदेश उपाध्यक्ष गणपतलाल शर्मा ने कहा कि देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आमजन की मांग पर मेजर ध्यानचंद खेल रत्न पुरस्कार कर खिलाडियों का सम्मान किया है प्रधानमंत्री मोदी ने अभी हाल में टोक्यो जापान ओलंपिक पदक जीतने वाले ओर ओलंपिक में जाने वाले खिलाडियों को आजादी के अमृत महोत्सव में बुलाकर और खिलाडियों से व्यक्तिश: बात कर उनका उत्साह बढ़ाया है।
लोकतंत्र रक्षा मंच के संभागीय सयोजक रमेश गोचर ने बताया कि मेजर ध्यानचंद हॉकी के जादूगर की हॉकी को तोड़ा गया यह देखा गया कि इसमें चुम्बक तो नही है गेंद उनकी हॉकी से चिपटकर चलती थी अद्भुत था। मंच के जिला अध्यक्ष गिरिराज यादव ने सबको धन्यवाद दिया एवं आभार व्यक्त किया। इस कार्यक्रम में सुंदरलाल जेठवानी, गिरिराज यादव, नंदलाल गौड़, महेंद्र गुप्ता, दामोदर दयाल गुप्ता, सत्यनारायण चौरसिया, श्रीकृष्ण जोशी, राजेन्द्र सिंह, छोटेलाल शर्मा, जुगल किशोर विजय इत्यादि रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *