महीने की कमाई 8 हजार और लेन-देन 12 करोड़ का, आयकर विभाग ने दिया नोटिस

Spread the love

जयपुर। भीलवाड़ा शहर के एक साधारण से स्टेशनरी विक्रेता और उसके पूरे परिवार की नींद इन दिनों आयकर विभाग के एक नोटिस ने उड़ा दी है। आयकर विभाग ने उसके पैन कार्ड से जुड़ी दो कंपनियों द्वारा 12 करोड़ रुपए से अधिक के लेन-देन को लेकर जवाब मांगा है। वहीं इस बारे में स्टेशनरी विक्रेता का कहना है कि किसी ने उसके पैन कार्ड का दुरुपयोग किया है।
मामले के अनुसार भीलवाड़ा की संजय कॉलोनी में रहने वाला किशनगोपाल छापरवाल फोटोग्राफर का काम करने के साथ स्टेशनरी की दुकान भी चलाता है। उसे 28 मार्च को आयकर विभाग का एक नोटिस डाक से मिला। इसके बाद उसके पूरे परिवार की नींद उड़ गई। बाद में एक चार्टर्ड एकाउंटेंट से परामर्श करने पर छापरवाल को पता चला कि उसके पैन कार्ड का मुंबई और सूरत में किसी ने दुरुपयोग किया है। किसी ने उसके पैन कार्ड का उपयोग करते हुए करोड़ों रुपए का फर्जी लेन-देन करने के लिए हीरा कारोबार करने वाली दो कंपनियां खोल ली।

पीड़ित ने दी थाने में शिकायत

छापरवाल ने बताया कि मैं स्टेशनरी की एक छोटी सी दुकान चलाता हूं और शादी समारोह में फोटोग्राफर के रूप में भी काम करता हूं। मैंने कर्ज लेकर लेकर काम शुरू किया था। बैंक की किस्तें तो मैं चुका नहीं पा रहा। हर महीने 8 से 10,000 रुपए मेरी कमाई है। उसने कहा कि इन दो फर्जी कंपनियों से उसका कोई लेना-देना नहीं है और कुछ जालसाजों ने उससे धोखा किया है। उन्होंने आगे कहा कि आयकर विभाग ने मुझे 12.23 करोड़ रुपए से अधिक के लेन-देन से संबंधित विवरण प्रस्तुत करने के लिए नोटिस दिया है। छापरवाल ने इस बारे में सुभाष नगर थाने में शिकायत दर्ज करवाई है कि कोई उसकी वित्तीय जानकारी का दुरुपयोग कर रहा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *