बांसवाड़ा में भारी बरसात

Spread the love

कई बांधों के गेट खोले


जयपुर.
बांसवाड़ा जिले में भारी बरसात का दौर जारी है। इसके कारण कई बांधों के गेट खोलने पड़े है। अब भी कई जगह बरसात हो रही है। वहीं जयपुर में दोहहर तक गर्मी और उमस से लोगों का हाल बेहाल रहा।
बांसवाड़ा जिले में सोमवार रात से जारी हल्की बारिश का दौर लगातार 12 घंटों से बना हुआ है। मंगलवार सुबह 8 बजे समाप्त बीते 24 घंटों में जिले के भूंगड़ा में 8 इंच, बागीदौरा में 7 इंच, केसरपुरा में 6 इंच, बांसवाड़ा और सज्जनगढ़ में साढ़े चार इंच से अधिक बारिश हुई है।
बांसवाड़ा जिला मुख्यालय से ग्रामीण क्षेत्रों में बारिश का दौर सोमवार रात 8बजे से आरंभ हो गया था जो पूरी रात बना रहा। बांसवाड़ा जिला मुख्यालय पर सारी रात बारिश होती रही जो मंगलवार सुबह 9.30 बजे तक बनी हुई है। दूसरी ओर जिले के कुछ क्षेत्रों में जमकर मेघ मेहरबान हुए। इन इलाकों में झमाझम बारिश से समूचा इलाका तर हो गया है। कलक्ट्री स्थित बाढ़ नियंत्रण कक्ष के अनुसार मंगलवार सुबह 8 बजे समाप्त हुए बीते 24 घंटों में भूंगड़ा में 203 मिमी, बागीदौरा में 177, केसरपुरा में 152, सज्जनगढ़ में 120, बांसवाड़ा में 118, शेरगढ़ में 113 गढ़ी में 112, दानपुर में 99, सल्लोपाट में 92, अरथुना में 67, कुशलगढ़ में 25, लोहारिया में 28, जगपुरा में 23, और घाटोल में 22 एमएम पानी बरसा है।
झमाझम बारिश के बाद दाहोद मार्ग स्थित सुरवानिया बांध के 10 गेट मंगलवार सुबह 8 बजे खोल दिए गए। इससे पहले तडक़े 3 बजे दो गेट तीन तीन फीट खोले गए। इधर बांसवाड़ा मुख्यालय पर बने कागदी पिकअप वियर के पांच गेट सुबह 4 बजे आधा-आधा मीटर खोले गए। पानी की लगातार आवक के बाद सुबह 5 बजे दो गेट 1 मीटर तक तथा तीन गेट आधा.आधा मीटर खोलकर पानी की निकासी की गईए जो अब तक जारी है।
झमाझम बारिश के बाद जिले के ग्रामीण क्षेत्रों में नदी नाले उफन गए हैं। गांवों को जोडऩे वाले छोटे पुलियाओं पर पानी की चादर चल रही है। जिससे आवागमन भी प्रभावित हुआ हैं। सुरवानिया बांध के गेट खोलने पर तलवाड़ा के निकट गामडी गांव की पुलिया पर भी पानी की चादर चल रही है।

About newsray24

Check Also

Bisalpur Dam लबालब: सुबह 7 बजे खोले जाएंगे गेट, 5 बजे बज उठेगा अलर्ट के लिए सायरन

Spread the love जल स्तर पहुंचा 315.45 मीटर आसपास के ग्रामीणों को किया अलर्ट जिला …

Leave a Reply

Your email address will not be published.