गुरू पूर्णिमा वर्चुअल महोत्सव संपन्न

Spread the love

रघुनाथ धाम से हुआ आयोजन


जयपुर.
कोरोना महामारी की वजह से रघुनाथ धाम में इस बार स्वामी सौरभ राघवेंद्र आचार्य महाराज एवं उनके ट्रस्ट के पदाधिकारियों के निर्णय के अनुसार गुरु पूर्णिमा महोत्सव वर्चुअल तरीके से मनाया गया। जिसमें भक्तों का प्रवेश निषेध रहा। 5000 लोगों के भंडारे को कोरोना महामारी की वजह से निरस्त करके सिर्फ कार्यक्रम में ट्रस्ट के 50 पदाधिकारियों के द्वारा स्वामी सौरभ राघवेंद्र आचार्य महाराज के दर्शन एवं पूजा अर्चना ऑनलाइन सोशल मीडिया के माध्यम से ही करवाई गई। रघुनाथ धाम में भारत के सुप्रसिद्ध यज्ञआचार्य विष्णु भारद्वाज के सानिध्य में 21 विद्वान आचार्यों के द्वारा 24 अक्टूबर से चल रही नव दिवसीय रामायण पठन विशेष वर्चुअल गुरु पूर्णिमा महोत्सव का समापन हुआ। रघुनाथ धाम धर्मार्थ सेवा संस्थान ट्रस्ट के राष्ट्रीय अध्यक्ष गोपाल भाई एवं महेश वाधवानी ने बताया कि रघुनाथ धाम में पिछले 24 जुलाई से 9 दिन से वाल्मीकि रामायण तुलसीदास रामायण एवं राधेश्याम रामायण का पठन किया गया तथा रघुनाथ धाम के पीठाधीश्वर संत स्वामी सौरभ राघवेंद्र आचार्य महाराज का नौ दिवसीय गुरु पूजन किया गया। कार्यक्रम में रघुनाथ धाम धर्मार्थ सेवा संस्थान ट्रस्ट के राष्ट्रीय अध्यक्ष गोपाल भाई, कोषाध्यक्ष महेश वाधवानी, सहायक सचिव संदीप भार्गव, ज्योतिषाचार्य घनश्याम शर्मा, ज्योतिषाचार्य अनीश व्यास, प्रचार प्रसार मंत्री राजेश अत्री, सुरेंद्र आषिवाल, महामंत्री झलकन सिंह राठौड़, मीडिया प्रभारी पवन तिवारी, रघुनाथ धाम चैरिटेबल ट्रस्ट के अध्यक्ष हरिशंकर केदावत, महिला विंग की राष्ट्रीय अध्यक्ष महिमा चतुर्वेदी, राष्ट्रीय महासचिव ज्योति शर्मा एवं कोषाध्यक्ष मैमूना नरगिस इत्यादि ट्रस्ट के पदाधिकारियों ने सोशल मीडिया के माध्यम से पूज्य गुरुदेव संत स्वामी सौरभ राघवेंद्र आचार्य महाराज के दर्शन भक्तों को घर बैठे करवाएं।

श्रीराम काव्य पाठ ऑनलाइन प्रतियोगिता प्रारंभ

मदनगंज-किशनगढ़.
राष्ट्रीय कवि संगम द्वारा श्रीराम काव्यपाठ राष्ट्रीय प्रतियोगिता का आयोजन किया जा रहा है। जिसमें राष्ट्रीय कवि संगम अजमेर जिला इकाई द्वारा प्रतियोगिता 1 अगस्त से प्रारंभ हो चुकी है। इस प्रतियोगिता में नियमित 12 प्रतिभागी रोज ऑनलाइन भाग ले रहे हैं यह प्रतियोगिता 15 अगस्त तक आयोजित की जाएगी। पंजीकरण प्रारम्भ कर दिया गया है जिसकी अंतिम दिनांक 5 अगस्त रहेगी।
प्रतियोगिता के जिला संयोजक लक्ष्मीनारायण सोनगरा के अनुसार इस ऑनलाइन प्रतियोगिता में प्रतिदिन दोपहर 2 बजे से 4 बजे तक दो सत्र रखे जा रहे हैं जिसमें प्रति सत्र एक प्रतिभागी को क्वाटर फाइनल में चयनित किया जायेगा। क्वाटर फाइनल में चयनित प्रतिभागी सेमीफाइनल में चयनित होंगे। उसके बाद फाइनल में तीन विजेताओं को चयनित कर प्रांत स्तर पर भेजा जाएगा।
प्रतियोगिता में पंजीकरण कराने के लिए जिला संयोजक के व्हाट्सएप नम्बर 92144 35610 पर अपना नाम, आयु, एक पासपोर्ट आकार का नवीन फोटो, घर का पता, मोबाइल और व्हाट्सएप का नम्बर भेजें। जिला स्तरीय प्रतियोगिता विजेताओं में प्रथम को 3100 रूपए, द्वितीय का 2100 रूपए, तृतीय को 1100 रूपए पुरस्कार दिया जाएगा।
महामंत्री नरेन्द्र भारद्वाज ने जानकारी देते हुए बताया कि काव्यपाठ का विषय श्रीराम की महिमा, उदारता, शक्ति और शील सौंदर्य का वर्णन रहेगा। ऐसी कोई भी कविता जिसमें श्रीराम की महिमा की झलक न हो उसे प्रतियोगिता के योग्य नहीं माना जाएगा। यह विराट प्रतियोगिता तीन स्तरों पर होगी। जिला स्तर पर, प्रांत स्तर पर व राष्ट्रीय स्तर पर। समय सीमा न्यूनतम 2.30 से अधिकतम 4 मिनट रहेगी। देश की मान्यता प्राप्त कोई भी भाषा का उपयोग किया जाएंगा। एक ही आयु वर्ग होगा। आयु का कोई बंधन नहीं रहेगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *