जीवन में होती है गुरू की आवश्यकता

Spread the love

मनाया गया गुरू पूर्णिमा उत्सव


मदनगंज-किशनगढ़.
आर्यसमाज भवन में आर्य समाज एवम पतंजलि योग समिति किशनगढ़ तहसील से जुड़े पदाधिकारियों द्वारा गुरु पूर्णिमा उत्सव को हर्षोल्लास पूर्वक मनाया गया।
भारत स्वाभिमान न्यास पतंजली प्रभारी गिरधारी अमरवानी ने बताया अजमेर से गुरुकुल के आचार्य श्याम लाल ने यज्ञ करवाया और देश के पाणिनी, पतंजलि, कणाद, कपिल, जैमिनी आदि महान आचार्यों, गुरुओं व ऋषियों द्वारा खोजे और अनुभव किए गए ज्ञान को मनुष्य जीवन की अनंत संभावनाओं में प्रवेश के लिए महत्वपूर्ण बताया।
प्रभुलाल कुमावत ने परमपिता परमेश्वर को गुरुओं का भी गुरु बताया और कहा कि मनुष्य का बच्चा सिखाने पर ही सीखता है इस लिए हमारे जीवन में गुरु की आवश्यकता होती है। मंजू कुमावत ने भी अपने विचार व्यक्त करते हुए एक गुरु वंदना प्रस्तुत की। सीमा वाष्र्णेय ने गुरु पूर्णिमा का महत्व समझाया। सरोज मालू ने इस पूरे आयोजन का संचालन किया और गुरु क्या मिले भगवान मिल गए सुमधुर भजन प्रस्तुत किया।
पंडित दिलीप कुमार ने यज्ञ आदि की सुंदर व्यवस्था की। इस कार्यक्रम में दिनेश मालू, पतंजली योग समिति प्रभारी कैलाश कुमावत, भारत स्वाभिमान पतंजली प्रभारी गिरधारी अमरवाणी, पतंजली महिला पतंजली योग प्रभारी सरोज शर्मा, सीमा वाष्र्णेय रेखा और संगीता अग्रवाल आदि गुरु भाई बहनों ने भाग लेकर इसकी शोभा बढ़ाई।

श्रीराम काव्य पाठ 1 अगस्त से

राष्ट्रीय कवि संगम द्वारा श्री राम काव्य पाठ राष्ट्रीय प्रतियोगिता का आयोजन किया जा रहा है। जिला संयोजक लक्ष्मीनारायण सोनगरा के अनुसार राष्ट्रीय कवि संगम अजमेर जिला इकाई द्वारा प्रतियोगिता 1 अगस्त से 14 अगस्त तक आयोजित की जाएगी। इसके लिए पंजीकरण शनिवार से प्रारंभ कर दिया गया है और पंजीकरण की अंतिम दिनांक 5 अगस्त रखी गई है इसमें आयु सीमा का कोई बंधन नहीं है। इस ऑनलाइन प्रतियोगिता में प्रतिदिन दोपहर 2 बजे से शाम 4 बजे तक दो सत्र रखें जाएंगे। जिसमें प्रति सत्र एक प्रतिभागी को क्वार्टर फाइनल में चयनित किया जाएगा। क्वार्टर फाइनल में चयनित प्रतिभागी सेमीफाइनल में चयनित होंगे उसके बाद फाइनल में तीन विजेताओं को चयनित करके प्रांतीय स्तर पर भेजा जाएगा। जिला स्तरीय प्रतियोगिता में विजेताओं में प्रथम आने वाले को 3100, द्वितीय को 2100 व तृतीय को 1100 पुरस्कार दिया जाएगा। प्रतियोगिता का पंजीकरण नि:शुल्क रखा गया है।

मानसरोवर मुक्ति का संकल्प

चित्तौडगढ़़.
महाभारत ग्रंथ एवं पुराणों के रचयिता महर्षि वेदव्यास के जन्म दिवस एवं भगवान बुद्ध के निर्वाण दिवस पर तिब्बती दलाई लामा के दिशा निर्देश राष्ट्रीय अध्यक्ष डॉ. संजय शुक्ला की मुहिम पर महामंत्री मिहिर शिकारी के सहयोग से अहिंसा एवं शांति एक कदम अखंड विश्व की ओर बढ़ाया गया।
गुरु पूर्णिमा पर चाणक्य नीति को याद करते हुए उन्हें पुन: संगठित राष्ट्र के मार्ग पर राजस्थान प्रदेश अध्यक्ष भारतीय वैष्णव के दिशा निर्देश पर जिला अध्यक्ष यशोदा भंडारी महामंडलेश्वर चंद्र भारती महाराज के अभिनंदन के साथ मीडिया प्रभारी रेनू मिश्रा एवं महामंत्री गायत्री उपाध्याय, नगर अध्यक्ष मधु पारीक, नगर महामंत्री सपना सोनी, ममता वैष्णव गुरु के मार्गदर्शन पर मानसरोवर मुक्ति का संकल्प लिया गया। महामंडलेश्वर चंद्र भारती महाराज ने कहा कि समाज सेवा के नाम पर स्वार्थ सेवा जो मानव मात्र में हावी है उसे जड़ से खत्म करना है जिस तरह हम स्वार्थ के नाम पर संगठनों के टुकड़े-टुकड़े कर रहे हैं उसी तरह हमारे राष्ट्र के भी टुकड़े.टुकड़े हो रहे हैं। हम जैसे शिक्षित वर्ग ही राष्ट्र को स्वयं के अहंकार की बलि चढ़ा रहे हैं।

About newsray24

Check Also

बार एसोसिएशन ने मनाई गांधी व शास्त्री जयंती

Spread the love राष्ट्र पिता महात्मा गांधी एवं जय जवान जय किसान के प्रेरणा स्त्रोत …

Leave a Reply

Your email address will not be published.