मांग के बावजूद सोने चांदी की कीमतों में कमी

Spread the love

जानें, धनतेरस-दिवाली से पहले कितना सस्ता हुआ सोना-चांदी

मुंबई. इस बार सोने चांदी की कीमतों में कुछ कमी नजर आ रही है जबकि त्यौहार नजदीक है इसका सबसे बड़ा कारण डॉलर में मजबूती आना लग रहा है। डॉलर मजबूत होने के कारण अधिकतर निवेश संभवत डॉलर में हो रहा है। जिसका असर सोने-चांदी की कीमतों पर पड़ा है। धनतेरस और दीपावली दो बड़े ऐसे त्योहार हैं जिनके आसपास देश में सोना और चांदी की खूब खरीदारी होती हैं। दरअसल, इसके पीछे इस समय में सोना और चांदी खरीदने की एक खास वजह समझी जाती है। भारत में लोगों की मान्यता है कि ‘धनतेरस’ और ‘दीपावली’ के आसपास सोना और चांदी खरीदने से घर में समृद्धि आती है और धनत्रयोदशी के दिन यदि सोना खरीद कर उसकी पूजा कर उसे धारण किया जाए तो वह सौभाग्यता और धन का प्रतीक बन जाता है। इसलिए इसे एक खास मुहूर्त से जोड़कर भी देखा जाता है और माना जाता है कि इस मुहूर्त में सोना खरीदने से वह शुभ मुहूर्त जीवन में आपके साथ-साथ चलता रहता है।

भारतीय सर्राफा बाजार में हलचल तेज

यही कारण है कि धनतेरस और दीपावली का त्योहार जैसे-जैसे नजदीक आ रहा है, वैसे-वैसे भारतीय सर्राफा बाजार में भी हलचल तेज होती जा रही है। ग्राहकों के लिए अच्छी बात यह है कि त्योहारी सीजन होने के बावजूद सप्ताह के पहले दिन यानि सोमवार को सोने और चांदी दोनों धातुओं की कीमत में कमजोरी का रुख नजर आया। यानि बाजार में सोना और चांदी सस्ता हो गया है। ऐसे में ग्राहक भी इसकी खूब खरीदारी कर रहे हैं। मार्केट एक्सपर्ट बताते हैं कि इस सप्ताह सर्राफा बाजार में आखिरी 2 दिन के दौरान तेजी का रुझान दिवाली तक जारी रह सकता है।

मार्केट में सोना-चांदी की कीमत

बीते सोमवार सोने की अलग-अलग श्रेणियों में 123 रुपए प्रति 10 ग्राम से लेकर 72 रुपए प्रति 10 ग्राम की कमजोरी दर्ज की गई। इसी तरह बाजार में त्योहारी मांग बढ़ने के बावजूद चांदी के कारोबार में प्रति किलोग्राम 590 रुपए गिर गया। वहीं मंगलवार को इनके दाम में गिरावट का सिलसिला जारी रहा। इंडियन बुलियन एंड ज्वैलर्स एसोसिएशन (आईबीजेए) की ओर से उपलब्ध कराई गई जानकारी के मुताबिक घरेलू सर्राफा बाजार में कारोबारी यानी 24 कैरेट (999) सोने की औसत कीमत 91 रुपए की कमजोरी के साथ गिरकर 50,339 रुपए प्रति 10 ग्राम (अस्थाई) हो गई। इसी तरह 23 कैरेट (995) सोने की कीमत भी 91 रुपए की सुस्ती के साथ 50,137 रुपए प्रति 10 ग्राम (अस्थाई) हो गई। जबकि जेवराती यानी 22 कैरेट (916) सोने की कीमत में 83 रुपए प्रति 10 ग्राम की कमजोरी दर्ज की गई। इसके साथ ही 22 कैरेट सोना 46,111 रुपए प्रति 10 ग्राम (अस्थाई) के स्तर पर पहुंच गया। इसके अलावा 18 कैरेट (750) सोने की कीमत में प्रति 10 ग्राम 69 रुपए की कमजोरी दर्ज की गई। इस गिरावट के साथ 18 कैरेट सोना 37,754 रुपए प्रति 10 ग्राम (अस्थाई) के स्तर पर पहुंच गया जबकि 14 कैरेट (585) सोना 54 रुपए टूट कर 29,448 रुपए प्रति 10 ग्राम (अस्थाई) के स्तर पर पहुंच गया। जबकि चांदी (999) में 462 रुपए प्रति किलोग्राम की गिरावट दर्ज की गई, जिसके कारण ये चमकीली धातु फिसल कर 56,105 रुपए प्रति किलोग्राम (अस्थाई) के स्तर पर पहुंच गई।

निवेशकों के लिए एक्सपर्ट्स की सलाह

भारतीय सर्राफा बाजार में जारी उथल-पुथल की वजह से बड़े निवेशक बाजार से दूरी बनाए हुए हैं। इस समय में बाजार में होने वाली ज्यादातर खरीदारी व्यक्तिगत निवेशकों द्वारा ही की जा रही है। कारोबारी निवेशक फिलहाल अंतरराष्ट्रीय बाजार में सोने और चांदी की कीमत में लगातार हो रहे उतार चढ़ाव पर नजर रख रहे हैं। यही कारण है कि वे अभी खुलकर कारोबार करने से बच रहे हैं। विशेषज्ञ बताते हैं कि दीपावली के बाद सर्राफा बाजार को एक बार फिर अंतरराष्ट्रीय बाजार के दबाव में गिरावट का सामना करना पड़ सकता है। ऐसे में त्योहारी खरीदारी करने के अलावा छोटे निवेशकों को फिलहाल निवेश योजनाओं को कुछ समय के लिए टाल देना ही ज्यादा बेहतर है।

हॉलमार्क वाला सोना ही खरीदें

ग्राहकों को धोखाधड़ी से बचाने के लिए ISO ने कहा है कि सोना खरीदने से पहले हॉलमार्क जरूर चेक करें। हालांकि, कई छोटी जगह अभी भी ज्वैलर्स बिना हॉलमार्क वाले गहने बेच रहे हैं। हॉलमार्क के जरिए आप असली और नकली सोने के बीच का फर्क कर पाते हैं। इसलिए सिर्फ हॉलमार्क वाले ही गहने खरीदें। हॉलमार्क वाले गहने अगर 18 कैरेट सोने से बने हैं तो उसपर 750 लिखा रहेगा, 21 कैरेट पर 875, 23 कैरेट पर 958 और 24 कैरेट सोने के पर 999 लिखा रहता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.