एन एस एस शिविर: स्वरोजगार से विद्यार्थी कैरियर को दें नई ऊंचाई

Spread the love

किशनगढ़, 24 फ़रवरी। श्री रतनलाल कंवरलाल राजकीय स्नातकोत्तर महाविद्यालय किशनगढ़ की राष्ट्रीय सेवा योजना इकाई के तत्वावधान में सात दिवसीय विशेष शिविर के चौथे दिन का शुभारंभ सामान्य योगाभ्यास एवं परासिया पार्क में श्रमदान के द्वारा किया गया। चौथे दिन के प्रथम सत्र में एन.एस.एस. अधिकारी महेंद्र कुमार वर्मा ने जीवन कौशल पर स्वयं सेवकों के साथ परिचर्चा की। शिविर के चौथे दिन के अगले सत्र में महाविद्यालय के सहायक आचार्य भजन लाल ने व्यक्तित्व विकास पर व्याख्यान दिया। उन्होंने स्वयं सेवकों को बताया कि संपूर्ण व्यक्तित्व बनता है विचार, आचार, विचारों की समझ, दूरदर्शिता, सुसंस्कृत आचरण, व्यवहारिक सोच, कार्य करने के तरीके और जीवन के प्रति अपने दृष्टिकोण से। व्यक्तित्व के कुछ पहलू को बदलना कठिन हो सकता है, लेकिन व्यक्तित्व को मनचाही दिशा दे पाना संभव है। अगले सत्र में महाविद्यालय के ही सहायक आचार्य अर्जुन लाल ने स्वयंसेवकों को स्वरोजगार के बारे में बताया। उन्होंने बताया कि सभी विद्यार्थियों को अपने पुश्तैनी एवं परंपरागत कार्य जैसे पशुपालन ,खेती-बाड़ी, मुर्गी पालन, सिलाई, एवं अन्य परंपरागत कार्य को अपनाना चाहिए एवं उनमें रुचि रखनी चाहिए, जिससे अध्ययन के साथ- साथ पार्ट टाइम कार्य से उनको कुछ कमाई हो सके और वह उन रूपयों को उनकी पढ़ाई में लगा कर पढाई को आगे जारी रख सकते है और अपना सफल केरियर बना सकते है।
शिविर के अंतिम सत्र में हार्टफुलनेस संस्थान अजमेर के नितेंद्र उपाध्याय ने विद्यार्थी जीवन में अध्यात्म व ध्यान की महत्वता पर व्याख्यान प्रस्तुत किया तथा विद्यार्थियों को ध्यान का अभ्यास करवाया। कार्यक्रम का संचालन एनएसएस अधिकारी जितेंद्र सिंह बीका ने किया एवं उनका सहयोग महाविद्यालय के सहायक आचार्य एवं एनएसएस अधिकारी अब्दुल रशीद ने किया l

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *