राजसमंद में खेल स्टेडियम के लिए राशि आवंटन की कवायद

Spread the love

सांसद दीयाकुमारी ने केंद्रीय खेल मंत्री अनुराग ठाकुर से की मुलाकात


राजसमन्द.
सांसद दीयाकुमारी ने केंद्रीय खेल एवं युवा मामलात मंत्री अनुराग ठाकुर से भेंट कर राजसमंद जिला खेल स्टेडियम हेतु ग्राम भाणा में आवंटित भूमि पर खेलो इंडिया योजना के तहत राशि स्वीकृत कराये जाने का आग्रह किया है।
मुलाकात के दौरान सांसद दीयाकुमारी ने कहा कि बीते दिनों ही राजसमन्द की खेल प्रतिभा ने अंतरराष्ट्रीय स्तर की सुविधा प्राप्त किये बिना टोक्यो ओलंपिक में भारत का प्रतिनिधित्व किया है। यहां तक कि राजसमन्द में खेल स्टेडियम भी नहीं है। बिना सुविधाओं के भी संघर्ष करते हुए राजसमन्द ने राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय स्तर के खिलाड़ी दिए हैं। अगर राष्ट्रीय स्तर की सुविधाएं ही उपलब्ध हो जाए तो सफलता प्राप्त करने से कोई नहीं रोक सकता।
सांसद दीयाकुमारी ने भाणा राजसमंद में स्थित खेल स्टेडियम हेतु आवंटित भूमि पर इनडोर स्टेडियम, रनिंग ट्रेक एवं हॉकी टर्फ के लिए खेलो इंडिया के अंतर्गत राशि स्वीकृत करने के संबंध में भी चर्चा की। मुलाकात के दौरान केंद्रीय खेल मंत्री अनुराग ठाकुर ने सांसद को विश्वास दिलाया कि इस संबंध में जल्दी ही कार्रवाई कर राजसमन्द में खेल सुविधाओं के लिए पर्याप्त राशि आवंटित की जाएगी।

प्रधानमंत्री श्रम पुरस्कारों की घोषणा

भारत सरकार ने साल 2018 के लिए प्रधानमंत्री श्रम पुरस्कारों पीएमएस की घोषणा की है। ये पुरस्कार केंद्र और राज्य सरकारों के विभागीय उपक्रमों और सार्वजनिक क्षेत्र के उपक्रमों और 500 या उससे ज्यादा लोगों को रोजगार देने वाली निजी क्षेत्र की इकाइयों में कार्यरत 69 श्रमिकों को प्रदान किए जाने हैं। ये पुरस्कार श्रमिकों को उनके विशिष्ट प्रदर्शन, नवीन क्षमताओं, उत्पादकता के क्षेत्र में उत्कृष्ट योगदान और असाधारण साहस व बुद्धिमत्ता का प्रदर्शन करने के लिए दिए जाने हैं।
इस साल प्रधानमंत्री श्रम पुरस्कार तीन श्रेणियों में दिए गए हैं। ये श्रेणियां हैं . श्रम भूषण पुरस्कार जिसमें 100000 रुपये का नकद पुरस्कार दिया जाता है। श्रम वीर श्रम वीरांगना पुरस्कार जिसमें 60000 रुपये का नकद पुरस्कार दिया जाता है और श्रम श्री श्रम देवी पुरस्कार जिसमें प्रत्येक को 40000 रुपये का नकद पुरस्कार दिया जाता है।
साल 2018 हेतु श्रम भूषण पुरस्कारों के लिए 4 नामांकन श्रम वीर श्रम वीरांगना पुरस्कारों के लिए 12 नामांकन और श्रम श्री श्रम देवी पुरस्कारों के लिए 17 नामांकनों को चुना गया है। जहां इस वर्ष प्रदान किए गए श्रम पुरस्कारों की कुल संख्या 33 है। वहीं पुरस्कार प्राप्त करने वाले श्रमिकों की संख्या 69 है क्योंकि कुछ पुरस्कार श्रमिकों और श्रमिकों की टीमों द्वारा साझा किए गए हैंए जिनमें एक से ज्यादा कर्मचारी शामिल हैं। कुल पुरस्कार विजेताओं में से 49 कर्मचारी सार्वजनिक क्षेत्र से हैं जबकि 20 कर्मचारी निजी क्षेत्र से हैं। पुरस्कार पाने वालों में 8 महिला कार्यकर्ता शामिल हैं।
श्रम भूषण पुरस्कारों की कुल संख्या 4 है। इसमें 100000 रुपये का नकद पुरस्कार और एक सनद जाता है। सार्वजनिक क्षेत्र के उपक्रमों और निजी क्षेत्र में साल 2018 के लिए श्रम भूषण पुरस्कार विजेताओं की कुल संख्या 10 है।
श्रम वीर/श्रम वीरांगना पुरस्कारों की कुल संख्या 12 है। इसमें 60000 रुपये का नगद पुरस्कार और एक सनद दिया जाता है। श्रम वीर श्रम वीरांगना पुरस्कार विजेताओं की कुल संख्या 21 है जिनमें साल 2018 के लिए 1 महिला कर्मचारी शामिल है।
श्रम श्री/श्रम देवी पुरस्कारों की कुल संख्या 17 है। इसमें 40000 रुपये का नकद पुरस्कार और एक सनद दिया जाता है। श्रम श्री/श्रम देवी पुरस्कार विजेताओं की कुल संख्या 38 है जिसमें 7 महिला कर्मचारी शामिल हैं।

About newsray24

Check Also

बार एसोसिएशन ने मनाई गांधी व शास्त्री जयंती

Spread the love राष्ट्र पिता महात्मा गांधी एवं जय जवान जय किसान के प्रेरणा स्त्रोत …

Leave a Reply

Your email address will not be published.