रेलवे में ई नीलामी प्रक्रिया शुरू

Spread the love

भारतीय रेलवे पर वाणिज्यिक अनुबंधों (कान्ट्रेक्ट) की ई-नीलामी प्रक्रिया प्रारम्भ
वाणिज्यिक अनुबंधों (कान्ट्रेक्ट) के लिए ई-नीलामी शुरू होने के बाद अनुबंधों में पारदर्शिता, प्रतिस्पर्धा और दक्षता में उल्लेखनीय वृद्धि
ई-नीलामी पोर्टल के माध्यम से आय सम्बंधी कॉन्ट्रेक्ट से राजस्व में वृद्धि

भारतीय रेलवे ने ई-प्रोक्योरमेंट सिस्टम (आईआरईपीएस) के माध्यम से वाणिज्यिक आय और गैर-किराया राजस्व अनुबंधों (कान्ट्रेक्ट) को इलेक्ट्रॉनिक नीलामी (ई-ऑक्शन) के दायरे में लाने के लिए कदम उठाए हैं। इस प्रक्रिया के प्रारम्भ होने से रेलवे के राजस्व में वृद्धि होने के साथ-साथ पारदर्शिता, प्रतिस्पर्धा और कार्य दक्षता में उल्लेखनीय वृद्धि हुई है।

जयपुर. रेलवे पर वाणिज्यिक मदो में पार्सल वैन, पे एंड यूज टॉयलेट, स्टेशन सर्कुलेटिंग एरिया और कोचों पर विज्ञापन अधिकार, एसी वेटिंग रूम, क्लोक रूम, पार्किंग लॉट, प्लास्टिक बॉटल क्रशर, एटीएम, स्टेशन को-ब्रांडिंग, वीडियो स्क्रीन पर विज्ञापन को ई-नीलामी के लिये चिन्हित किया गया है। इससे रियल टाइम आधार पर वाणिज्यिक अनुबंधो की निगरानी में सुधार होगा और दक्षता में सुधार होगा।

उत्तर पश्चिम रेलवे के मुख्य जनसम्पर्क अधिकारी कैप्टन शशि किरण के अनुसार उत्तर पश्चिम रेलवे पर महाप्रबंधक विजय शर्मा के निर्देश पर पार्सल, पार्किंग, विज्ञापन, पे एंड यूज प्रसाधन, एटीएम, वातानुकूलित प्रतीक्षालय, गाड़ियों के अंदर एवं बाहर विनाइल रैपिंग, रेलवे प्लेटफार्मों पर डिस्प्ले नेटवर्क (टीवी स्क्रीन) पर विज्ञापन आदि की इलेक्ट्रॉनिक नीलामी प्रारम्भ कर दी गई है।

उत्तर पश्चिम रेलवे पर वाणिज्यिक आय के ई-नीलामी के तहत कार्यो को सफलतापूर्वक तरीके से निष्पादित करना प्रारम्भ हो गया है। जयपुर मण्डल पर ई-नीलामी के तहत अभी तक वाणिज्यिक आय के 21 अनुबंधों (कान्ट्रेक्ट) को अवार्ड किया गया है। जिसमें रेवाडी, सीकर, दौसा, बांदीकुई व फुलेरा स्टेशनांे पर पे एंड यूज टॉयलेट के 3 वर्ष के अनुबंध से 17.47 लाख रूपये, 7 ट्रेनों के एसएलआर लीजिंग से 2 वर्ष के लिये 1674 ट्रिप से 2.36 लाख रूपये प्रति ट्रिप, विज्ञापन अनुबंध से 40.38 लाख रूपये तथा रेवाडी, कनकपुरा, फुलेरा, सीकर तथा गैटोर जगतपुरा स्टेशनों पर 3 वर्ष के लिये पार्किग अनुबंध से 50.26 लाख रूपये की वाणिज्यिक आय प्राप्त की गई है।

इसके साथ ही जोधपुर मण्डल पर ई-नीलामी के अनुबंधों के तहत उत्कृष्ट उपलब्धियां हासिल की गई है जिनमें दिनांक 23.08.2022 को पे एंड यूज अनुबंध के दो लॉट आफर खोले गये, जिनसे 06 माह के लिये 12.86 लाख रूपये का अतिरिक्त राजस्व प्राप्त हुआ। दिनांक 12.09.2022 को 07 एसएलआर के लिये ई-नीलामी के ऑफर खोले गये, जिनमें 5 एसएलआर के लिये 2 वर्षों हेतु 3.6 करोड़ रूपये की अनुबंध राषि प्राप्त की गई। इसके साथ ही जोधपुर स्टेशन पर टू व्हीलर पार्किंग हेतु ई-नीलामी अनुबंध में 25 लाख रूपये की लाईसेंस फीस के साथ आवंटित किया गया। इसके अतिरिक्त बीकानेर मण्डल पर अभी तक लीजिंग, ऑउट होम, पे एंड यूज टॉयलेट के 25 अनुबंधों की ई-नीलामी से 12.06 करोड की आय अर्जित की गई है।

ई-ऑक्शन के लाभः
-इस पोर्टल के माध्यम से देश में कहीं से भी बोलीदाता रेलवे के किसी भी फील्ड यूनिट की नीलामी में भाग ले सकते हैं।
-कॉन्ट्रैक्ट अवार्ड होने के बाद रेलवे को ऑनलाइन भुगतान करने की सुविधा उपलब्ध है। अभी तक यह कार्य मैन्युअल तरीके से होता था, जो एक जटिल प्रक्रिया थी।
-बेहतर निगरानी प्रक्रिया के परिणामस्वरूप ई-ऑक्शन में समय की बचत होती है।
-प्रक्रिया के सरलीकरण के फलस्वरूप निविदा को फाइनल करने में लगने वाले समय में उल्लेखनीय कमी होती है।
-किसी ठेकेदार के असफल होने की दशा में निविदा को तत्काल पुर्नआवंटित (रि-एवार्ड) करने की सुविधा उपलब्ध है।
-ई-ऑक्शन के परिणामस्वरूप प्रतिस्पर्धात्मक वातावरण विकसित होने के कारण वाणिज्यिक एसेट्स से प्राप्त होने वाले रेल राजस्व में वृद्धि होगी।
-40 लाख रूपये तक कोई अर्हता मापदंड न होने से स्टार्ट-अप को प्रोत्साहन मिलेगा।

About newsray24

Check Also

तेजी से ट्रैक बिछा रहा है रेलवे

Spread the love रेलवे ट्रैक परियोजनाओं को जल्द पूरा करने को प्राथमिकता दे रही है …

Leave a Reply

Your email address will not be published.