गरीब को शिक्षा से नहीं होने देंगे वंचित : डॉ. तोमर

Spread the love

निम्स विश्वविद्यालय में इंटरनेशनल एजुकेशन कॉन्क्लेव 2022 का आयोजन
कान्क्लेव में शामिल हुए 9 देशों के राजदूत और प्रतिनिधि
बैंड की लाइव परफॉर्मेंस पर झूमे निम्स के स्टूडेंट


जयपुर.
निम्स यूनिवर्सिटी की स्थापना के समय से ही हमारा यह विचार रहा है कि पैसों की वजह से किसी भी गरीब विद्यार्थी को शिक्षा से वंचित नहीं रहने देंगे। निम्स यूनिवर्सिटी में प्रतिभाशाली विद्यार्थियों को स्कॉलरशिप दी जा रही है तो बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ की सोच के साथ निम्स अस्पताल में जन्म लेने वाले बच्चों को निम्स इंटरनेशनल स्कूल में मुफ्त शिक्षा दी जा रही है। यह विचार डॉक्टर और निम्स यूनिवर्सिटी के चेयरमैन चांसलर प्रो. डॉ. बलवीर सिंह तोमर ने प्रकट किए। डॉ. तोमर निम्स विवि के सुंदरवन गार्डन में आयोजित इंटरनेशनल एजुकेशन कॉन्क्लेव-2022 को संबोधित कर रहे थे। कॉन्क्लेव में मंगोलिया, नाइजर, मलावी, कोमोरोस, कांगो, अफगानिस्तान, नेपाल, बुर्किना फासो और केन्या के राजदूत एवं अन्य प्रतिनिधि भी शामिल हुए। इन्होने निम्स विवि के स्टूडेंट्स से संवाद किया और बेहतर भविष्य की शुभकामनाएं दी।
शिक्षा के विविध आयामों पर चर्चा
इंटरनेशनल एजुकेशन कॉन्क्लेव-2022 में मंगोलिया के राजदूत गैनबोल्ड दमबाजव, नाइजर के राजदूत एडो लेको, मलावी के उच्चायुक्त लियोनार्ड मंगेजी, कोमोरोस के महावाणिज्य दूत और विदेश मंत्री के सलाहकार के एल गंजू और कांगो दूतावास में प्रतिनिधि सिरिएक गणवेला शामिल हुए। इसके अलावा अफगानिस्तान दूतावास में व्यापार कार्यालय प्रमुख कादिर शाह, नेपाल दूतावास में सांस्कृतिक एवं शैक्षिक काउंसलर यदुनाथ पौडेल, बुर्किना फासो दूतावास में कांसुलर मामलो के प्रमुख हर्वे डी कूलिबली, नाइजर दूतावास में प्रथम सचिव मुस्तफा डियोरी एवं वित्तीय सलाहकार इस्सा गैम्बो, केन्या उच्चायोग में राजनयिक पेट्रिक ओडियाम्बो ओमिएनो और दक्षिणी पूर्वी अफ्रीकन डिवीजन के अमराराम गुर्जन ने भी कॉन्क्लेव में शिरकत की। सभी ने एजुकेशन से जुड़े विभिन्न पहलुओं पर प्रकाश डाला। कार्यक्रम को निम्स विवि के प्रो. चांसलर डॉ. संजीव शर्मा, एकेडमिक मामलों के चेयरमैन डॉ. पंकज गुप्ता ने भी संबोधित किया। कार्यक्रम में निम्स विवि के कुलपति, डॉयरेक्टर्स सहित विभिन्न पदाधिकारी शामिल हुए।
मान और गोरा की लाइव परफार्मेंस ने रंग जमाया
कॉन्क्लेव में मशहूर म्यूजिक बैंड देसी हसलर्स के मान सिंह और गोरा सिंह का लाइव परफॉर्मेंस हुआ। बैंड की पधारो म्हारे देश प्रस्तुति पर निम्स विवि के स्टूडेंट्स और आगंतुक आनंद से सराबोर हो झूमते हुए नजर आए।
परंपरागत तरीके से मेहमानों का स्वागत
इससे पहले निम्स यूनिवर्सिटी में 9 देशों के राजदूतों और प्रतिनिधियों का परंपरागत तरीके से स्वागत किया गया। निम्स विवि के कुलपति डॉ. संदीप मिश्रा ने यूनिवर्सिटी की रिसर्च, मेडिकल एजुकेशन विभिन्न गतिविधियों और नवाचारों की जानकारी गणमान्य आगंतुकों को दी। वहीं डॉ. दीपक नाथिया ने निफ्क्स एलईडी लाइट्स द्वारा किए जा रहे नवाचारों की जानकारी आगंतुकों को दी।
निम्स विवि के प्रयासों की सराहना
इंटरनेशनल एजुकेशनल कॉन्क्लेव में निम्स चेयरमैन डॉ. तोमर ने विभिन्न देशों के राजदूतों और प्रतिनिधियों से शिक्षा-स्वास्थ्य क्षेत्र में निम्स द्वारा किए जा रहे नवाचारों और प्रयासों की जानकारी दी। इस मौके पर निम्स विवि की 21 वर्ष की सफलतम यात्रा को वीडियो के माध्यम से दिखाया गया। कार्यक्रम में सभी देशों के डेलीगेट्स ने शिक्षा और स्वास्थ्य क्षेत्र में निम्स यूनिवर्सिटी द्वारा किए जा रहे प्रयासों की सराहना की।
मशहूर चिकित्सक और प्रतिष्ठित बिजनेसमैन हैं डॉ. तोमर
निम्स यूनिवर्सिटी के चेयरमैन और चासंलर प्रो. डॉ. बलवीर सिंह तोमर राजस्थान के जाने माने पीडियाट्रिक गेस्ट्रोएंट्रोलॉजी विशेषज्ञ चिकित्सक हैं और स्वास्थ्य सेवा के क्षेत्र में एक विशिष्ठ पहचान रखते हैं। डॉ. तोमर एक सफल बिजनेसमैन हैं और निम्स यूनिवर्सिटी, निम्स अस्पताल, ईवा अस्पताल, निफ्लक्स एलईडी लाइट आदि व्यापारिक संस्थानों का संचालन कर रहे हैं। डॉ. तोमर ने किंग्स कॉलेज हॉस्पिटल स्कूल ऑफ मेडिसिन यूनिवर्सिटी ऑफ लंदन, हार्वर्ड यूनिवर्सिटी जैसे प्रतिष्ठित संस्थानों से मेडिकल की एजुकेशन ली है और वे डब्ल्यूएचओ एवं कॉमनवेल्थ फेलो भी रह चुके हैं। डॉ. तोमर पीडियाट्रिक गेस्ट्रोएंट्रोलॉजी ऑर्गन ट्रांसप्लांट स्टेम सेल न्यूट्रिशन एंड पब्लिक हेल्थ की विभिन्न राष्ट्रीय अंतरराष्ट्रीय संस्थाओं में अध्यक्ष और निदेशक हैं। वे वर्तमान में नेशनल काउंसिल ऑन स्किल डवलपमेंटए एसोचैम के अध्यक्ष हैं।
डॉ. तोमर का समाज से है गहरा जुड़ाव
डॉ. बलवीर सिंह तोमर ने गुणवत्तापूर्ण शिक्षा और स्वास्थ्य सेवाओं तक आमजन की आसान पहुंच बनाने के लिए निम्स यूनिवर्सिटी और निम्स अस्पताल की नींव रखी थी। डॉ. तोमर के सामाजिक सरोकारों के तहत निम्स यूनिवर्सिटी में गरीब और प्रतिभाशाली विद्यार्थियों को स्कॉलरशिप दी जाती है। देश सेवा में काम करने वाले सैनिकों, खिलाडिय़ों के बच्चों को अध्ययन हेतु स्कॉलरशिप दी जाती है। बेटी पढ़ाओ-बेटी बचाओ के सिद्धांत पर चलते हुए निम्स अस्पताल में जन्म लेने वाली बेटियों को निम्स इंटरनेशनल स्कूल में 12वीं तक की शिक्षा निशुल्क दी जाती है। गरीबों और जरूरतमंदों तक स्वास्थ्य सेवाएं पहुंच सकें इसके लिए निम्स अस्पताल की ओर से पूरे राजस्थान और नजदीकी राज्यों में हेल्थ कैंप लगाए जाते हैं। मरीजों को अस्पताल आने जाने में परेशानी न होए इसके लिए निशुल्क बस सुविधा भी निम्स समुह द्वारा चलाई जाती है।
70 से अधिक देशों के विद्यार्थी की पसंद है निम्स यूनिवर्सिटी
अचरोल के नजदीक जयपुर-दिल्ली हाइवे स्थित निम्स यूनिवर्सिटी विश्व स्तरीय शिक्षा एवं अंतरराष्ट्रीय माहौल देने में देश में अग्रणी है। चिकित्सा शिक्षा के मामले में निम्स यूनिवर्सिटी की खास पहचान है। यूजीसी एवं एनएएसी नेक द्वारा मान्यता प्राप्त निम्स विवि देश के साथ-साथ विदेशों में भी गुणवत्ता शिक्षा को लेकर अनूठी पहचान रखता है। वर्तमान में निम्स में 70 से अधिक देशों के विद्यार्थी बड़ी संख्या में अध्ययनरत हैं। अरावली पहाडयि़ों की गोद में बसे निम्स में 400 से अधिक पाठ्यक्रम संचालित हैं। विद्यार्थियों के सर्वांगीण विकास के लिए निम्स द्वारा 150 से अधिक एमओयू साइन किए गए हैं। यहां परिसर में बैंक, पोस्ट ऑफिस, मॉल, ग्रोसरी स्टोर, रेस्टोरेंट सभी आवश्यक सुविधाएं उपलब्ध हैं। यहां विद्यार्थियों की सुरक्षा के भी माकूल इंतजाम किए गए हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *