साढ़े 4 वर्षीय बालिका का अपहरण, बलात्कार व हत्या के अपराधी को फांसी की सजा

Spread the love

जयपुर जिले के नरैना कस्बे का मामला
जयपुर, 10 फरवरी।
विशिष्ट न्यायालय (पोक्सो एक्ट) जयपुर ने आज जयपुर ग्रामीण क्षेत्र के नरेना कस्बे में 11 अगस्त 2021 को साढ़े 4 वर्षीय बालिका का अपहरण कर बलात्कार के बाद हत्या के अपराधी सुरेश कुमार पुत्र मांगीलाल बलाई निवास कन्देवली थाना नरेना को फांसी की सजा सुनाई है।

पोक्सो में पांचवें अपराधी को सुनाई फांसी की सजा

महानिदेशक पुलिस एम एल लाठर ने बताया कि बालिकाओं व महिलाओं पर होने वाले अपराधों को लेकर राजस्थान पुलिस अत्यधिक संवेदनशील है एवं इन मामलों को अत्यधिक गम्भीरता से लेकर अपराधी की धरपकड और पर्याप्त साक्ष्य एकत्रित कर केस ऑफिसर स्कीम में लेकर अपराधी को संजा दिलाने तक पुख्ता कार्यवाही की जा रही है। उन्होंने बताया कि मासूम बच्चियों से बलात्कार के मामलों में पोक्सो के तहत पूर्व में 4 दोषियों को फांसी की सजा सुनायी जा चुकी है एवं फांसी की सजा से दण्डित किया गया यह पांचवां दोषी है।
विशिष्ट न्यायालय (पोक्सो एक्ट) जयपुर ने अपने फैसले में अपराध के आरोप में दोष सिद्ध किये जाने पर मृत्युदण्ड की सजा सुनाते हुए अपने फैसले में यह अंकित किया कि अभियुक्त को गर्दन में फांसी लगाकर तब तक लटकाया जाए जब तक कि उसकी मृत्यु नहीं हो जाती। साथ ही अभियुक्त को 2 लाख रूपए के अर्थ दण्ड से दण्डित किया गया है।

आठ दिन में पकड़ा गया अपराधी

जिला पुलिस अधीक्षक जयपुर ग्रामीण मनीष अग्रवाल ने बताया कि 11 अगस्त 2021 को कस्बा नरेना में साढे चार वर्षीय बालिका का अपहरण कर बलात्कार के बाद हत्या कर दी गई थी। पुलिस थाना नरेना में प्रकरण संख्या 120/2021 पंजीबद्ध किया गया था। प्रकरण की गंभीरता को देखते हुये तत्कालीन पुलिस अधीक्षक शंकर दत्त शर्मा द्वारा अज्ञात मुलजिम की तलाश हेतु विभिन्न टीमों का गठन कर करीब 700 पुलिस अधिकारियों एवं कार्मिको को लगाया गया था। टीमों द्वारा मात्र 15 घण्टे में ही अज्ञात आरोपी को चिन्हित कर अपराधी सुरेश कुमार पुत्र मांगीलाल जाति बलाई उम्र 25 वर्ष निवासी कन्देवली थाना नरेना को गिरफ्तार कर जघन्य वारदात का खुलासा किया।
इस अत्यधिक जघन्य प्ररकण में अनुसंधान हेतु पुलिस अधीक्षक जयपुर ग्रामीण के निर्देशन में विशेष अनुसंधान दल अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक (मुख्यालय) धर्मेन्द्र कुमार यादव के नेतृत्व में गठन किया गया। इस दल ने मात्र 8 कार्यदिवस में 25 अगस्त 2021 को आरोपी सुरेश कुमार पुत्र मांगी लाल जाति बलाई उम्र 25 साल निवास कन्देवली, थाना नरेना को गिरफ्तार कर चालान प्रस्तुत किया गया।
अग्रवाल ने बताया कि गठित विषेष अनुसंधान दल (एस.आई.टी.) द्वारा प्रकरण की न्यायालय में पैरवी करने हेतु केस ऑफिसर स्कीम के तहत लेकर महावीर सिंह को विशेष लोक अभियोजक नियुक्त करवाया गया एवं आरोपी को अधिक से अधिक सजा दिलाने हेतु दिन प्रतिदिन मॉनिटरिंग की गई। विशेष लोक अभियोजक महावीर सिंह ने प्रभावी एवं सराहनीय ढंग से मामले की पैरवी की। माननीय विशिष्ट न्यायालय, लैंगिक अपराधों से बालकों का संरक्षण अधिनियम, 2012 (पोक्सो एक्ट) जयपुर द्वारा गुरूवार को आरोपी को फांसी की सजा सुनाई गई है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *