Budget 2022 : 50 यूनिट तक मुफ्त बिजली, 10 हजार अंग्रेजी शिक्षकों की होगी भर्ती

Spread the love

जयपुर, 23 फरवरी। राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने 23 फरवरी 2022 को वित्त मंत्री के रूप में वर्ष 2022-23 का राज्य बजट पेश किया। इस दौरान उन्होंने कई ऐतिहासिक घोषणाएं करते हुए जनता को राहत प्रदान करने की बात कही। आज पेश किए गए बजट में घरेलू उपभोक्ताओं को 50 यूनिट तक बिजली फ्री देने सहित शहरी क्षेत्रों में रोजगार, चिरंजीवी स्वास्थ्य योजना को 5 लाख से बढ़ाकर 10 लाख रुपए रुपए करने सहित कई घोषणाएं शामिल हैं।

बजट की प्रमुख घोषणाएं

आज पेश किए गए बजट मेें मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने मनरेगा की तर्ज पर शहरों में रोजगार उपलब्ध कराने के लिए इंदिरा गांधी शहरी रोजगार गारंटी योजना लागू करने की घोषणा की है। अगले साल से शहरी क्षेत्रों में मनरेगा की तर्ज पर मांगे जाने पर 100 दिन का रोजगार मिलेगा। इस पर 800 करोड़ खर्च होंगे।
साथ ही मनरेगा में रोजगार के दिवस 100 से बढ़ाकर 125 दिन करने की घोषणा की है। इस पर 700 करोड़ खर्च होंगे, जो राज्य सरकार वहन करेगी।

राज्य में घरेलू उपभोक्ताओं को 50 यूनिट तक बिजली मुफ्त दी जाएगी। 100 यूनिट तक उपभोग करने वालों से भी 50 यूनिट बिजली का शुल्क नहीं लिया जाएगा। साथ ही सभी घरेलू उपभोक्ताओं को 150 यूनिट तक 3 रुपए अनुदान और 150 से 300 यूनिट तक 2 रुपए अनुदान के रुप में दिए जाएंगे। इससे ऊपर के कंज्यूमर को भी स्लैब के हिसाब से लाभ दिया जाएगा। इस पर 4000 करोड़ रुपए खर्च होंगे।
200 नए खाद्य सुरक्षा अधिकारियों के पद सृजित किए, फूड सेफ्टी लैब खोलने की घोषणा की गई

चिरंजीवी स्वास्थ्य योजना में 10 लाख का कवर

चिरंजीवी स्वास्थ्य योजना में 10 लाख तक का कवर मिलेगा। कॉकलियर इंप्लांट सहित कई गंभीर बीमारियां भी जोड़ी गई हैं। साथ ही जरूरतमंद व्यक्तियों को कलेक्टर चिरंजीवी स्वास्थ्य कार्ड के बिना भी इस योजना का फायदा दिला सकेंगें।
राज्य के सबसे बड़े अस्पताल एसएमएस, जयपुर में 5 नए विभाग खोले जाएंगे। साथ ही अस्पताल में रोबोटिक सर्जरी शुरू की जाएगी। इन पर करीब 300 करोड़ खर्च होंगे।

महानरेगा में कार्य करने वाले श्रमिकों का सरकारी अस्पतालों में आउटडोर और इनडोर में हर तरह का इलाज कैशलेस, कोई पैसा नहीं लगेगा।

बजट में मुख्यमंत्री चिरंजीवी दुर्घटना बीमा की घोषणा की गई है। इसमें 5 लाख तक का एक्सीडेंट कवर मिलेगा।

आगामी वर्ष में ऐसे 18 जिले, जिनमें अभी तक नर्सिंग कॉलेज नहीं हैं, उनमें नर्सिंग कॉलेज खोले जाएंगे।

अजमेर, जोधपुर और कोटा में नए मेडिकल इंस्टीट्यूट पर 250 करोड़ खर्च होंगे।

राजस्थान में 1000 नए उपस्वास्थ्य केंद्र खोले जाएंगे, 50 उप स्वास्थ्य केंद्रों को क्रमोन्नत किया जाएगा। साथ ही 50 ही नए प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र खोले जाएंगे।

शिक्षा की घोषणाएं-
प्रदेश के 3800 माध्यमिक स्कूलों को सीनियर सैकण्डरी में क्रमोन्नत करने की घोषणा बजट में की गई है। सीनियर सेकंडरी में क्रमोन्नत करने की घोषणा।

शहरी और ग्रामीण क्षेत्रों में 1000—1000 अंग्रेजी मीडियम स्कूल खोले जाएंगे। साथ ही अंग्रेजी मीडियम के स्कूलों के शिक्षकों का अलग से कैडर बनेगा। अंग्रेजी के 10 हजार शिक्षकों की भर्ती की घोषणा भी बजट मेें की गई है।

जयपुर के एचसीएम रीपा में स्टेट रोड सेफ्टी इंस्टीट्यूट खोला जाएगा। राज्य मेंं रोड सेफ्टी एक्ट लागू किया जाएगा।

रेगिस्तानी जिलों में 200 नए प्राइमरी स्कूल खोले जाएंगे।

जेएलएन मार्ग जयपुर की शिक्षण संस्थाओं को मिलाकर एजुकेशन हब बनेगा। 250 करोड़ खर्च होंगे। पोद्दार स्कूल, राधाकृषण लाइब्रेरी एजुकेशन हब के हिस्से होंगे।
हर जिले में 50 लाख की लागत से वाचनालय खोले जाएंगे।

जयपुर का खेतान पॉलिटेक्निक अब इंजीनियरिंग कॉलेज बनेगा। 100 करोड़ रुपए होंगे खर्च।

राज्य के 19 जिलों में 36 कन्या महाविद्यालय खोले जाएंगे।

पैरा ओलंपिक पदक विजेताओं को भी ओलंपिक पदक विजेताओं की तरह ही जमीन और दूसरी सुविधाएं दी जाएंगी।

कुश्ती और कबड्डी के लिए भरतपुर में नया स्टेडियम बनेगा।

स्व अध्ययन करने वाले अभ्यर्थियों को मुफ्त में पत्र पत्रिकाएं उपलब्ध कराई जाएंगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *