कलश यात्रा के साथ देवस्थान विभाग के श्रीमद्भागवत कथा यज्ञ की शुरुआत

Spread the love

1100 महिलाओं के साथ देवस्थान मंत्री ने कलश यात्रा में लिया हिस्सा,

जयपुर, 1 मार्च। राजस्थान की अशोक गहलोत सरकार के देवस्थान विभाग के सानिध्य में श्री बलदेव मंदिर परशुराम द्वारा में मंगलवार से सात दिवसीय श्रीमद्भागवत कथा यज्ञ की शुरुआत हुई।
अकिंचन महाराज के मुखारविंद से मंगलवार को पहले दिन श्रीमद्भागवत महात्म्य, गोकर्ण उपाख्यान, सृष्टि वर्णन भीष्म स्तुति का वर्णन किया। अकिंचन महाराज ने आज की कथा में शुकदेव जी के आगमन और भगवान के वराह अवतार के प्रसंगों की भावपूर्ण व्याख्या करते हुए श्रोताओं को भाव विभोर कर दिया। श्रीमद्भागवत कथा सप्ताह का आयोजन देवस्थान विभाग द्वारा स्व. श्री जय दयाल शर्मा मेमोरियल एण्ड चेरिटेबल ट्रस्ट, निर्मल छाया विकास समिति और जनकल्याण आमेर रोड़ विकास समिति के सहयोग से किया गया है।

श्रीमद्भागवत कथा की शुरुआत से पहले उद्योग एवं वाणिज्य और देवस्थान मंत्री शकुंतला रावत ने कलश यात्रा की शुरुआत की। रावत के साथ कलश यात्रा में करीब 1100 महिलाएं राधानिवास मंदिर आमेर रोड से रवाना होकर कथा स्थल श्री बलदेव मंदिर परशुराम द्वारा पहुंची। कलश यात्रा मे बड़ी संख्या में मुस्लिम भाई बहनों ने फूलों की वर्षा कर सांप्रदायिक सौहार्द और प्रदेश की गंगा जमुनी संस्कृति का परिचय दिया।

देवस्थान मंत्री Ÿशकुंतला रावत ने जयपुर को देवों की नगरी बताते हुए प्रदेश में अमन चैन, प्रेम भाव, सुख-शांति की कामना की। उन्होंने बताया कि देवस्थान विभाग के इस कदम की मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने सराहना की है।

इस अवसर पर पीएचईडी मंत्री महेश जोशी ने कहा कि जयपुर धर्म परायण शहर है। उनके विधानसभा क्षेत्र से इस तरह के आयोजन की शुरुआत के लिए उन्होंने जयपुरवासियों की ओर से आभार भी व्यक्त किया।

राजसिको के चेयरमैन राजीव अरोड़ा, मोतीडूंगरी श्री गणेश जी के महंत कैलाश शर्मा, शिल्प माटीकला बोर्ड के अध्यक्ष डूंगर राम गैदर आदि ने कथा श्रवण कर प्रदेशवासियों के लिए मंगलकामनाएं की।

श्रीमद्भागवत कथा में अकिंचन महाराज बुधवार को श्री कपिल अवतार, शिव-सती चरित्र, जड़-भरत चरित्र प्रसंगों का वर्णन करेंगे। कथा दोपहर एक बजे से सांय पांच बजे तक होगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published.