सीरिया में लगाए जयपुर फुट

Spread the love

भगवान महावीर विकलांग सहायता समिति ने लगाया शिविर
जयपुर।
संयुक्त राष्ट्र संघ की सुरक्षा परिषद में सीरिया में चल रहे युद्व के कारण मानवीय क्षति के प्रति भारत ने अपनी चिन्ता एवं संवेदना व्यक्त की हैं। संयुक्त राष्ट्रसंघ में भारत की स्थायी प्रतिनिधि टी.एस. तीरूमूर्ति ने सोमवार को संयुक्त राष्ट्र परिषद में सीरिया की वर्तमान स्थिति पर चर्चा पर भारत की प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए कहा कि सीरिया में युद्व से त्रस्त सीरियाई नागारिकों के प्रति भारत अपनी चिन्ता व्यक्त करता हैं। भारत ने सीरिया का ऐसी विषम परिस्थितियों में हर सम्भव सहयोग दिया हैं। तिरूमूर्ति ने कहा कि पद्म भूषण डी.आर. मेहता के नेतृत्व में जयपुर फुट की निर्माता संस्था भगवान महावीर विकलांग सहायता समिति (बी.एम.वी.एस.एस.) ने दमिश्क (सीरिया की राजधानी डैमास्कस) में शिविर लगाकर 500 से अधिक सीरियाइयों का पुर्नवास किया जो भारत का योगदान हैं।
भगवान महावीर विकलांग सहायता समिति (बी.एम.वी.एस.एस.) के संस्थापक और मुख्य संरक्षक डी. आर. मेहता ने कहा कि भारत सरकार के विदेश मंत्रालय द्वारा महात्मा गाँधी की 150वीं जयन्ती पर “इण्डिया इन हयूमैनिटीज” कार्यक्रम के अन्तर्गत दिसम्बर 2019 से जनवरी 2020 तक दमिष्क में आयोजित शिविर जिसका नेतृत्व राजस्थान सरकार के पूर्व मुख्य सचिव सलाउद्दीन अहमद ने किया। वह बी.एम.वी.एस.एस. के कार्यकारी अध्यक्ष भी हैं और कुल 515 सीरियाई विकलांगों को जयपुर फुट प्रदान किया गया।
कार्यकारी अध्यक्ष सलाउद्दीन अहमद ने कहा कि सीरिया जो पिछले दस वर्षों से युद्वग्रस्त हैं। वहां बड़ी संख्या में पुरूष, महिला और बच्चों ने बमबारी और गोलाबारी के कारण अपने अंग खो दिए थे। बी.एम.वी.एस.एस. ने विषम परिस्थितियों में जोखिम उठाते हुए वहाँ 10 तकनीशियन ले जाकर विशेेष शिविर का आयोजन कर विकलांगों को लाभान्वित किया। सलाउद्दीन अहमद ने कहा कि इस शिविर से सीरियाई लोगों के बीच भारत की बड़ी प्रशंसा हुई। अहमद ने कहा कि वर्तमान कोविड स्थितियां जैसे ही सामान्य होगी। बी.एम.वी.एस.एस. का दल पुन: सीरिया जाकर वहाँ विकलांगों की सेवा करेेगा ।

Leave a Reply

Your email address will not be published.