सामाजिक परिवर्तन का मुख्य आधार है विकास संचार

Spread the love

25 जून को शुरू होगा इग्नू का नया डिप्लोमा


जयपुर.
इंदिरा गांधी राष्ट्रीय मुक्त विश्वविद्यालय 25 जून 2021 को पोस्ट ग्रेजुएट डिप्लोमा इन डेवलपमेंट कम्युनिकेशन में नए शैक्षणिक कार्यक्रम का शुभारंभ करने जा रहा है। इंदिरा गांधी राष्ट्रीय मुक्त विश्वविद्यालय ;प्ळछव्न्द्ध के माननीय कुलपति प्रोफेसर नागेश्वर राव इस कार्यक्रम को राष्ट्रीय स्तर पर वर्चुअल मोड के माध्यम से लॉन्च करेंगे। इस अवसर पर मुख्य वक्ता के रूप में और विकास संचार के बारे में महत्वपूर्ण ज्ञानवर्धक जानकारी देने के लिए माखनलाल चतुर्वेदी पत्रकारिता विश्वविद्यालय भोपाल के कुलपति प्रोफेसर केजी सुरेश इग्नू के नए कार्यक्रम के शुभारंभ के अवसर पर अपना उल्लेखनीय व्याख्यान देंगे। कार्यक्रम समन्वयक डॉ. रमेश यादव ने कहा कि मुख्य अतिथि और वक्ता के रूप में प्रोफेसर जे एस यादव पूर्व निदेशक भारतीय जनसंचार संस्थान भारत में विकास संचार पर प्रकाश डालेंगे देंगे। प्रोफेसर जे एस यादव भारत में विकास संचार के प्रसिद्ध प्रोफेसर हैं। डीन अकादमिक मामले आईआईएमसी नई दिल्ली के प्रोफेसर गोविंद सिंह इस अवसर पर विकास संचार पर अपना अनुभव साझा करेंगे। यह कार्यक्रम डॉ. रमेश यादव की देखरेख में स्कूल ऑफ जर्नलिज्म एंड न्यू मीडिया स्टडीज इंदिरा गांधी राष्ट्रीय मुक्त विश्वविद्यालय नई दिल्ली द्वारा तैयार और डिजाइन किया गया है। डॉ. रमेश यादव इस कार्यक्रम के संयोजक हैं।
इग्नू के सक्षम प्राधिकारी की मंजूरी मिलने के बाद शैक्षणिक कार्यक्रम लॉन्च की अधिसूचना विश्वविद्यालय द्वारा जारी की गई है और विकास संचार में स्नातकोत्तर डिप्लोमा (पीजीडीडीसी) जुलाई 2021 सत्र से ओपन और डिस्टेंस लर्निंग मोड के माध्यम से उपलब्ध हो रहा है। यह विकास संचार के क्षेत्र में एक महत्वपूर्ण कार्यक्रम है और विकास संचार में स्नातकोत्तर डिप्लोमा जुलाई 2021 सत्र से मुक्त और दूरस्थ शिक्षा मोड के माध्यम से संभावित शिक्षार्थियों और छात्रों के लिए पेश किया जा रहा है जो विकास संचार क्षेत्र में अपना करियर बनाना चाहते हैं। एक छात्र के रूप में एक विकास संचारक की भूमिका विकास पहल में सकारात्मक परिवर्तन प्राप्त करने के लिए आम सहमति बनाने और ज्ञान साझा करने की सुविधा है। यह कार्यक्रम हमारे छात्रों को इस दिशा में प्रशिक्षित करेगा और विकास संचार के विषय को समझने और समझाने के लिए मजबूत मंच प्रदान करेगा।
कार्यक्रम का विवरण इस प्रकार है यह न्यूनतम एक वर्ष का डिप्लोमा कार्यक्रम है और अधिकतम 3 वर्ष में पूरा किया जा सकता है। इस कार्यक्रम के लिए शिक्षा का माध्यम अंग्रेजी में होगा। कार्यक्रम के लिए पूर्ण शुल्क 5000. रुपये है और यह 36 के्रडिट का है। छात्र डिजिटल या प्रिंट मोड में अध्ययन सामग्री प्राप्त कर सकते हैं दोनों विकल्प उपलब्ध होंगे और उनकी पसंद के अनुसार शिक्षार्थी इसे चुन सकते हैं। कार्यक्रम संरचना एवं सूचना के आधार पर सहायक क्षेत्रीय निदेशक कमलेश मीणा ने कहा कि विकास संचार के क्षेत्र में इस अद्वितीय कार्यक्रम की पाठ्यक्रम सामग्री भिन्नता के साथ है और विकास संचार के सभी पहलुओं को कवर करने का प्रयास किया गया है। विकास संचार राजनीतिक और नीति प्रक्रियाओं का एक महत्वपूर्ण हिस्सा है। विकास संचार की मूल बातें मानव विकास और संचार, सामाजिक परिवर्तन के लिए विकास पत्रकारिता, विकास और संचार के मूल तत्वए मानव विकास और संचार, विकास संचार में मीडिया, विकास पत्रकारिता, सूचना और संचार प्रौद्योगिकी आदि पाठ्यक्रम इस एक वर्षीय डिप्लोमा कार्यक्रम के अनिवार्य घटक हैं। एक वैकल्पिक पाठ्यक्रम के रूप में यहां दो पाठ्यक्रम शामिल किए गए हैं। छात्र को इन उपलब्ध दो पाठ्यक्रमों में से किसी एक पाठ्यक्रम का चयन करने की आवश्यकता है। विकास संचार में अनुसंधान के तरीके और परियोजना कार्य या परियोजना कार्यपुस्तिका को शामिल किया है।
इंदिरा गांधी राष्ट्रीय मुक्त विश्वविद्यालय (इग्नू) दुनिया का सबसे बड़ा मुक्त और दूरस्थ विश्वविद्यालय है। केंद्र और राज्य सरकार के कर्मचारियों, सेना कर्मियों, गृहिणियों, व्यापारिक समुदाय और किसानों को उच्च शिक्षा प्रदान करता है। इग्नू समाज के वंचित और हाशिए पर पड़े तबके पर मुख्य रूप से ध्यान देता है ताकि मुक्त और दूरस्थ प्रणाली के माध्यम से न्यूनतम लागत पर उच्च शिक्षा का अवसर प्रदान किया जा सके। वर्तमान में इग्नू के देश भर में 56 क्षेत्रीय केंद्र हैं और 2000 अध्ययन केंद्र हैं और 11 क्षेत्रीय केंद्र केवल सेवा समय के दौरान उच्च शिक्षा के अवसर देने के लिए केवल भारतीय सेना के कर्मियों के लिए काम कर रहे हैं। इग्नू नैक द्वारा मान्यता प्राप्त एक डबल प्लस ग्रेड विश्वविद्यालय है। वर्तमान में भारत से बाहर इग्नू के 19 से अधिक अध्ययन केंद्र हैं।
कार्यक्रम समन्वयक डॉ रमेश यादव ने कहा कि पिछले एक साल से इस कार्यक्रम पर में काम चल रहा था लेकिन कोविड-19 के कारण इसमें कुछ अतिरिक्त समय लगा। इस उम्मीद के साथ कि यह कार्यक्रम रचनात्मक तरीकों से विकास संचार के माध्यम से सामाजिक परिवर्तन के लिए नया रास्ता खोलेगा। हमारे युवाओं को मानव समाज के सतत विकास लक्ष्य के इस महत्वपूर्ण पहलू के बारे में जानने का नया अवसर मिलेगा। इग्नू जुलाई 2021 सत्र से विकास संचार में नया कार्यक्रम शुरू कर रहा है।

About newsray24

Check Also

लायंस क्लब के शिविर में 280 रोगियों की नेत्र जांच

Spread the love मदनगंज किशनगढ़. लायन्स क्लब किशनगढ़ क्लासिक के तत्वावधान में जिला अंधता निवारण …

Leave a Reply

Your email address will not be published.