सरकारी योजनाओं का लाभ लेना है तो बनवा लीजिए जन आधार कार्ड

Spread the love

अगर आपको राजस्थान सरकार की ओर से संचालित विभिन्न जन कल्याणकारी योजनाओं का लाभ लेना है तो उसके लिए जन आधार कार्ड होना जरूरी है। राजस्थान सरकार ने भामाशाह योजना बन्द कर उसके स्थान पर जन आधार कार्ड योजना शुरू की है।

जन आधार कार्ड योजना

जन आधार कार्ड 10 अंकों का परिवार पहचान कार्ड होगा, जो महिला मुखिया के नाम से बनाया जाएगा। जन आधार को कई योजनाओ से जोड़ा गया है, जो भामाशाह कार्ड से ज्यादा डिजिटल होगा। जन आधार कार्ड से कई सुविधा मिलेगी और जन आधार से कई डॉक्यूमेंट की प्राथमिकता ख़त्म हो जाएगी।

जन आधार कार्ड के लाभ

जन आधार कार्ड से कई तरह के लाभ मिलने वाले है। सबसे महत्वपूर्ण ये है कि जन आधार से लोगों को योजनाओ के लाभ के साथ अन्य कई सुविधा मिलेगी, जिसमें जन आधार के विवरण में बदलाव के लिए सुविधा होगी। इसके लिए राशन कार्ड जैसे दस्तावेज की प्राथमिकता कम हो जाएगी। नया सदस्य ऑटो एड होगा। जब कोई सदस्य आधार कार्ड बनवाएगा तो जन आधार कार्ड में अपने आप एड हो जाएगा।
जन आधार में 10 अंकों की परिवार पहचन संख्या मिलेगी, जो हर योजना के लिय मान्य होगी। नगद लाभ हस्तांतरण, प्रत्यक्ष लाभ और गैर नगद लाभ जैसे ट्रांजेक्शन जन आधार द्वारा प्रमाणित होने पर मिलेंगे। बीमा, ई-कॉमर्स जैसे लाभ व सुविधा जन आधार के जरिए प्राप्त की जा सकेगी। सभी सरकारी योजना का लाभ लेने वाले सदस्य को कभी भी जीवित प्रमाण पत्र की आवश्यकता नहीं होगी।

परिवार में किसी नए सदस्य का आधार कार्ड बनते ही जन आधार में नाम जुड़ जाएगा।
सभी सरकारी योजना का लाभ लेने याले सदस्य को कभी भी जीवित प्रमाण पत्र की आवश्यकता नहीं होगी।

महिला मुखिया के नाम से होगा कार्ड

जन आधार कार्ड 18 वर्ष से ऊपर की महिला मुखिया के नाम से बनाया जाएगा। जन आधार के लिय महिला न होने पर पुरुष के नाम से बनाया जा सकता है। जन आधार बनाने के लिए आधार की आवश्यता होगी। इसके साथ जन आधार कार्ड के लिए सभी सदस्य की फोटो व अन्य डॉक्यूमेंट परिचय पत्र, बैंक अकाउंट, परिवार का आय प्रमाण पत्र, राशन कार्ड, जॉब कार्ड आदि डॉक्यूमेंट के साथ ऑनलाइन जन आधार बनवाया जा सकता है।

ऐसे बनवाएं जन आधार कार्ड

जन आधार कार्ड बनाने के लिए ई-मित्र या जन सूचना पोर्टल से जन आधार कार्ड बनवाया जा सकता है। जन आधार कार्ड उन्हें ही बनवाना होगा, जिनका भामाशाह नहीं बना है। जिन लोगों का भामाशाह कार्ड बना हुआ है, उन लोगों को जन आधार पंजीयन नहीं करवाना है, उन्हें भामाशाह में जुड़े मोबाइल नंबर पर एसएमएस द्वारा या वॉइस कॉल से जन आधार नंबर मिल जाएंगे। इसके बाद एसएसओ या ई – मित्र से जन आधार कार्ड डाउनलोड कर सकते हैं।

About newsray24

Check Also

देश की सड़कों पर दौड़ रहे 21 करोड़ दुपहिया व 7 करोड़ चार पहिया वाहन

Spread the love नई दिल्ली। देश में 21 करोड़ से अधिक दोपहिया और सात करोड़ …

Leave a Reply

Your email address will not be published.