संकट काल में मदद के लिए दौड़ रही है रेलवे

Spread the love

10 हजार मीट्रिक टन ऑक्सीजन का किया परिवहन


जयपुर.
भारतीय रेलवे कोविड की विषम परिस्थितियों में राष्ट्र के लोगों की सहायता के लिए स्पेशल ट्रेन, पार्सल स्पेशल एवं ऑक्सीजन एक्सप्रेस के जरिए महत्वपूर्ण सामग्री जरूरतमंदों एवं स्थानों तक पहुंचाकर अपनी अहम भूमिका अदा कर रही है।
उत्तर पश्चिम रेलवे के मुख्य जनसम्पर्क अधिकारी लेफ्टिनेंट शशि किरण के अनुसार भारतीय रेलवे ने 600 से अधिक टैंकरों द्वारा कई राज्यों में 10,000 मीट्रिक टन से अधिक ऑक्सीजन का परिवहन किया है। इस क्रम में उत्तर पश्चिम रेलवे के कनकपुरा (जयपुर) स्टेशन पर 03 ऑक्सीजन एक्सप्रेस के द्वारा 106.2 टन लिक्विड मेडिकल ऑक्सीजन पहुंचाई गई। उत्तर पश्चिम रेलवे के क्षेत्राधिकार से अब तक कुल 24 ऑक्सीजन स्पेशल ट्रेनों का आवागमन हो चुका है।
उत्तर पश्चिम रेलवे के सभी विभागों के अधिकारियों, कर्मचारियों ने विषम परिस्थितियों में भी लगातार कार्य करते हुए देशसेवा में अपना योगदान दिया है। ऑक्सीजन एक्सप्रेस को संचालित करने वाले कुछ स्टाफ ने गर्वान्वित होते हुए अपने अनुभव साझा किए।
अजमेर मण्डल के आबूरोड मुख्यालय के लोको पायलेट-गुड्स हिम्मत सिंह रावत ने कहा कि उसे ऑक्सीजन एक्सप्रेस को संचालन करने का कॉल मिला, तो खुशी का ठिकाना नहीं रहा। क्यों ना हो आखिरकार यह ऑक्सीजन कई मरीजों का जीवन बचाने में काम आने वाली थी। भारतीय रेल के एक सदस्य के तौर पर इसमे अपना योगदान देने में वह अपने आपको बहुत गौरवान्वित महसूस कर रहे हैं। आबूरोड के ही गुरमीत सिंह, लोको पायलेट-गुड्स बताते है कि जान है तो जहान है ध्येय वाक्य को ध्यान में रखते हुए सभी कोरोना प्रोटोकॉल का पालन करते हुए ऑक्सीजन एक्सप्रेस का संचालन कर लोगों की जिंदगी बचाने वाला यह प्रयास उनके जीवन की अमिट स्मृतियों मेें रहेगा।
लेफ्टिनेंट शशि किरण ने बताया कि ऑक्सीजन एक्सप्रेस के मार्ग में सभी जगह ग्रीन कोरिडोर बना कर सभी स्टेशनों पर सुचारू रूप से गाड़ी पास करने के सभी इंतजाम किए जाते है, जिससे कोई बाधा ना हो। सभी संचालन से जुड़ा स्टाफ सजगता एवं पूरी मुस्तैदी से अपना कत्र्तव्य निभाकर अपना सराहनीय योगदान दे रहा है। रेलवे सम्पूर्ण देश में ऑक्सीजन की आपूर्ति करने के लिए निरंतर एवं निर्बाध रूप से परिवहन करने के लिए कृत संकल्प है देशभर में लिक्विड मेडिकल ऑक्सीजन पहुंचा कर कोविड-19 के प्रसार को रोकने में देश के प्रयास में रेलवे का योगदान निरंतर जारी है। राज्य सरकारों की बढ़ती मांग को देखते हुए रेलवे की मांग के अनुसार अधिक संख्या में ऑक्सीजन एक्सप्रेस चलाने के लिए तैयार है।

मंडल रेल प्रबंधक ने किया निरीक्षण

उत्तर पश्चिम रेलवे जयपुर मंडल की मंडल रेल प्रबंधक मंजूषा जैन ने मंगलवार को रेलवे की गेटोर जगतपुरा रेलवे कॉलोनी तथा उत्तर पश्चिम रेलवे मुख्यालय स्थित स्वस्थ इकाइयों का निरीक्षण किया। इस निरीक्षण में उनके साथ अपर मंडल रेल प्रबंधक इंफ्रा मनोज कुमार गर्ग, मुख्य चिकित्सा अधीक्षक एम एल मीना, वरिष्ठ मंडल कार्मिक अधिकारी सुनील चौधरी, वरिष्ठ मंडल वित्त प्रबंधक विष्णु बजाज, वरिष्ठ मंडल इंजीनियर मुख्यालय, ललित कुमार बघेरवाल उपस्थित रहे। गेटोर जगतपुरा स्वस्थ इकाई में टीकाकरण कार्यक्रम चल रहा है। मंडल रेल प्रबंधक ने इस संबंध में तथा स्वास्थ्य सुविधाओं में सुधार और बढ़ोतरी करने के लिए मुख्य चिकित्सा अधीक्षक डॉ. एम एल मीना एवं ड्यूटी डॉक्टर प्रियदर्शनी को आवश्यक निर्देश दिए। उत्तर पश्चिम रेलवे मुख्यालय स्थित स्वस्थ इकाई में भी डीआरएम जैन ने स्वास्थ्य सुविधाओं को बढ़ाने के साथ सेंटर की डॉक्टर अंजू भारती को कोरोना संक्रमण से बचने के लिए अधिक सावधानी बरतने के निर्देश दिए।

About newsray24

Check Also

एमआईएस के 2 छात्रों का अजमेर जिला क्रिकेट टीम में चयन

Spread the love मदनगंज किशनगढ़. अजमेर जिला क्रिकेट टीम चयन समिति ने 16वर्ष आयु (अंडर …

Leave a Reply

Your email address will not be published.