रेलवे ने माल लदान से कमाई रिकॉर्ड आय

Spread the love

रेलवे ने बढ़ाई माल लदान की स्पीड
रिकॉर्ड कमाई का मिला फायदा


रेलवे ने कोरोना काल के दौरान माल लदान बढ़ाने की गति लगातार बढ़ाई है। इसका फायदा रेलवे को बढ़ती आय के रूप में मिलने लगा है। उत्तर पश्चिम रेलवे जयपुर मंडल ने मंडल रेल प्रबंधक मंजूषा जैन के नेतृत्व में बने बिजनेस डेवलपमेंट यूनिट के प्रयासों से माह फरवरी 2021 में माल लदान कर रिकॉर्ड आय अर्जित की है।

कमाई में टूटा वर्ष 2017-18 का रिकॉर्ड

8 फरवरी 2021 तक मंडल ने माल लदान से 480.04 करोड रुपए की आय अर्जित, जो कि संशोधित लक्ष्य 479.0 करोड रुपए से अधिक है। उसके बाद दिनांक 17 फरवरी 2021 तक मंडल ने 500.83 करोड रूपए का राजस्व प्राप्त कर वर्ष 2018-19 के वार्षिक माल लदान आय के रिकॉर्ड 499.45 करोड रुपए को पीछे छोड़ा। अंत में दिनांक 28/02/2021 तक जयपुर मंडल ने 524.48 करोड रूपए का सर्वोच्च माल लदान राजस्व अर्जित कर वर्ष 2017-18 के रिकॉर्ड 522.42 करोड रूपए के माल लदान राजस्व को पार किया। सिर्फ माह फरवरी 2021 की बात की जाए तो भी फरवरी माह में सर्वाधिक 52 गाड़ियों में पत्थर की चिट्टियों का लदान किया गया, जिससे 8.07 करोड रूपए का राजस्व प्राप्त हुआ जबकि माह जनवरी 2021 में 39 गाड़ियों में लदान से 5.87 करोड़ रूपए का राजस्व मिला। प्रतिदिन के राजस्व की गणना में दिनांक 11.02.21 को 3.75 करोड रूपए की सर्वोच्च माल लदान आय प्राप्त हुई जोकि पिछले वर्ष में इसी दिन प्राप्त आय रुपए 0.84 करोड़ रुपए से 345.26 प्रतिशत एवं निर्धारित लक्ष्य से 331.18 प्रतिशत अधिक रही। एक दिन के माल लदान आय का पिछला रिकॉर्ड दिनांक 30.08.2020 का 2.99 करोड़ रूपए का था। माहवार माल लदान राजस्व में भी माह फरवरी 2021 में जयपुर मंडल को 60.79 करोड़ रूपए की आय प्राप्त हुई जोकि पिछले वर्ष के 29.28 करोड़ रुपए से 107.59 प्रतिशत तथा निर्धारित लक्ष्य से 149.44 प्रतिशत अधिक है। इससे पूर्व एक माह में सर्वोच्च माल लदान आय सितंबर 2020 में 58.34 करोड़ रुपए था।

जयपुर मंडल ने माल भाड़ा वर्ग में वृद्धि के लिए नियमित पहल की है विशेष रूप से भागेगा , माउंडा, जिलो और निजामपुर स्टेशनों से पत्थरों के लदान के लिए सभी प्रकार की सहायता दी जा रही है।माल गाड़ियों के उपभोक्ताओं के संतोष के लिए सभी तरह के प्रयास किए जा रहे है जिनमे राज्य सरकार के विभिन्न विभागों से समन्वय करना भी सम्मिलित है। इस उपलब्धि के लिए जयपुर मंडल के अधिकारियों का उत्साहवर्धन तथा बिजनेस डेवलपमेंट यूनिट् का परिश्रम ही मुख्य कारण रहा। बिजनेस डेवलपमेंट यूनिट द्वारा माल यातायात बढ़ाने के लिए निजी सहभागिता से जयपुर मंडल के विभिन्न स्टेशनों पर माल गोदाम के विकास के भी प्रयास किए जा रहे हैं।
विकास कार्यों में लोडिंग / अनलोडिंग हेतु प्लेटफार्म विकास, सर्कुलेटिंग एरिया का विकास, प्रकाश व्यवस्था, मजदूरों के लिए विश्राम स्थल, व्यापारी के लिए कक्ष, मुख्य सड़क से माल गोदाम तक संपर्क मार्ग, आधारभूत सुविधाओं का कार्य कराया जाएगा। इस तरह माल परिवहन को सड़क मार्ग के स्थान पर रेल मार्ग की ओर लाने के प्रयास किए जा रहे हैं।

About newsray24

Check Also

भारत में समुद्र के अंदर दौड़ेगी बुलेट ट्रेन

Spread the love देश में पहली बार समुद्र के अंदर दौड़ेगी बुलेट ट्रेन, जानें कितनी …

Leave a Reply

Your email address will not be published.