बैंकरप्सी कोड से मिलेंगे कई अवसर

Spread the love

सीए इंस्टीट्यूट किशनगढ़ ने आयोजित की वेबीनार


मदनगंज-किशनगढ़.
बैंकरप्सी कोड से सीए को कई अवसर मिलेंगे और इससे कई कंपनियों को भी उबरने में मदद मिलेगी।
इंस्टीट्यूट ऑफ चार्टर्ड अकाउंटेंट ऑफ इंडिया की किशनगढ़ शाखा द्वारा आयोजित वेबीनार में देश के विख्यात सीए एवं आईपी एक्सपर्ट दिलीप ने करीब 4000 से ज्यादा चार्टर्ड अकाउंटेंट के समक्ष अपने व्याख्यान में इस बात पर जोर दिया कि इंसॉल्वेंसी एंड बैंकरप्सी कोड 2016 सीए प्रोफेशनल के लिए नए अवसर लेकर आया है जोकि कंपनी व्यवसायियों के लिए निकास नीतियां बनाने में बहुत कारगर है। हालांकि आईबीसी कोड के तहत एक सीए को इसके लिए परीक्षा उत्तीर्ण करनी होगी जिससे कि वह एक आईपी बन सकता है। आईबीसी 2016 आईबी बोर्ड ऑफ इंडिया के तत्वाधान में कार्यरत है।
सीए दिलीप ने समझाया कि इस कोड के अनुसार मात्र 180 प्लस 90 दिनों के अंदर ही कंपनी की सभी इंसॉल्वेंसी प्रोसीडिंग्स का समाधान कर कंपनियों को निकाल के लिए आसान रास्ते प्रदान किए गए हैं। इस कोड की वजह से कई सारी कंपनियां जो की नुकसान में चल रही है उन्हें दिवालिया होने की स्थिति से उबरने में बहुत सी सहूलियत प्रदान की जाएगी।
इस वेबीनार में इंसोल्वेंसी बैंकरप्सी कोड कमेटी नई दिल्ली के चेयरमैन दुर्गेश कुमार काबरा एवं वाइस चेयरमैन तथा सेंट्रल काउंसिल मेंबर सीए प्रकाश शर्मा तथा कॉर्पोरेट व इकनोमिक लॉ के डायरेक्टर राकेश सहगल मुख्य अतिथि के रूप में शामिल हुए जिनका स्वागत-उद्बोधन अध्यक्ष सीए साकेत कालानी व किशनगढ़ ब्रांच कमेटी के सदस्यों ने किया।
इस सेमिनार में सीए साकेत कालानी, मोहित जैन, अंकित सोमानी, अभिषेक गर्ग के अलावा सीए एमसी गर्ग, सीए सीएम अग्रवाल, सीए अनिरुद्ध बियानी, सीए सुशील बंसल, सीए धर्मेंद्र काकानी, सीए आशीष गुप्ता इत्यादि शामिल हुए।
इस वेबीनार का प्रसारण आईसीएआई टीवी पर किया गया। व्याख्यान का संचालन शाखा सचिव सीए मोहित जैन और सीए रीटा सचिव आईबीसी कमेटी ने किया। उन्होंने बताया कि किशनगढ़ की ब्रांच के द्वारा पहली बार इस तरीके का वेबीनार आयोजित किया गया है।

About newsray24

Check Also

किशनगढ़ सहित 26 रेलवे स्टेशनों पर लगेंगे एस्केलेटर

Spread the love अजमेर सांसद भागीरथ चौधरी ने दी जानकारी सांसद भागीरथ चौधरी ने लोकसभा …

Leave a Reply

Your email address will not be published.