बताया जीएसटी ऑडिट के बारे में

Spread the love

मार्बल उद्योग से संबंधित मुद्दों पर भी चर्चा


मदनगंज-किशनगढ़.
द इंस्टीट्यूट ऑफ चार्टर्ड अकाउंटेंट्स ऑफ इंडिया की किशनगढ़ शाखा द्वारा मंगलवार को एक वेबीनार आयोजित किया गया। यह वेबीनार सीएमआईबी कमेटी नई दिल्ली के संयुक्त तत्वाधान में आयोजित किया गया।
इस वेबीनार के मुख्य अतिथि सीएमआईबी कमेटी नई दिल्ली के चेयरमैन सीए हंसराज छग व वाइस चेयरमैन सेंट्रल काउंसिल मेंबर सीए दुर्गेश कुमार काबरा मुख्य अतिथि के रुप में शामिल हुए जिनका स्वागत उद्बोधन किशनगढ़ शाखा अध्यक्ष सीए साकेत कालानी ने किया।
वेबीनार के मुख्य वक्ता सीए एडवोकेट रंजन मेहता जयपुर एवं सीए अर्पित हल्दिया जोधपुर से थे। सीए रंजन मेहता ने बताया कि विभागीय जीएसटी की ऑडिट की तैयारी कैसे करनी चाहिए इसके अलावा आईटीसी का रिवर्सल और आईटीसी के अनउपलब्धता के बारे में भी विस्तृत जानकारी दी। इसके साथ ही शेयर लेनदेन वहन से संबंधित आईटीसी और व्यक्तिगत आईटीसी पर प्रकाश डाला ।
सीए अर्पित हल्दिया ने बताया कि मार्बल व्यवसाय में कई तरह के फेंक इनवॉइस जाली बिल बहुत ज्यादा प्रचलन में हैं इनमें जाली बिलों की रोकथाम करने के लिए क्या क्या सावधानियां बरतनी चाहिए। एक चार्टर्ड अकाउंटेंट्स को इन जाली बिलों की जानकारी होना अति आवश्यक है। इसके साथ कई तरह के केस लॉ की भी जानकारी दी। सी ए अंकित सोमानी ने बताया कि इस वेबीनार में पूरे देश से मार्बल व्यवसाय से संबंधित 528 सीए ने भाग लिया और उनके कई सवालों का बारी बारी से दोनों वक्ताओं ने जवाब दिया। अंत में मोहित जैन ने जी रंगनाथन एवं श्वेता गोयल का धन्यवाद ज्ञापित किया। इस वेबीनार का सफल संचालन शाखा सचिव सीए मोहित जैन सचिव किशनगढ़ ब्रांच ने किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published.