बंगाल में 79.79 व असम में 72.14 फीसदी मतदान

Spread the love

असम और पश्चिम बंगाल में विधानसभा चुनाव के दौरान प्रथम चरण में शनिवार को 77 विधान सभा सीटों पर मतदान हुआ। इनमें बंगाल की 30 और असम की 47 सीटें शामिल हैं। चुनाव आयोग के अनुसार शाम 6 बजे तक बंगाल में 79.79 प्रतिशत और असम में 72.14 प्रतिशत मतदान हुआ। मतदान का समय शाम 6 बजे तक तय किया गया था। कोरोना की वजह से इसे 1 घंटे बढ़ाया गया था।

बंगाल में 60 मतदान केन्द्रों पर ईवीएम से छेड़छाड़ की शिकायतें सामने आई हैं। कुछ केन्द्रों पर ईवीएम में तकनीकी दिक्कत की वजह से लोगों को वोट डालने के लिए को 2 घंटे तक इंतजार करना पड़ा।

इसीा बीच, पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री और तृणमूल कांग्रेस की नेता ममता बनर्जी ने खडग़पुर में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर हमला बोलते हुए कहा कि चुनाव के दौरान प्रधानमंत्री बांग्लादेश गए हुए हैं और वहां बंगाल पर भाषण दे रहे हैं। यह चुनाव आचार संहिता का खुला उल्लंघन है। हम चुनाव आयोग में इसकी शिकायत करेंगे।

मिदनापुर में 2 सुरक्षाकर्मी घायल

पूर्वी मिदनापुर के भगवानपुर विधानसभा इलाके के सतसतमल में फायरिंग की घटना हुई है। इसमें सुरक्षा बलों के दो जवान घायल हो गए। बीजेपी के जिला अध्यक्ष अनूप चक्रवर्ती ने तृणमूल कांग्रेस के कार्यकर्ताओं पर आरोप लगाते हुए कहा है कि इलाके के लोगों को डराने की कोशिश की जा रही है। वहीं पश्चिमी मिदनापुर के सालबोनी में माकपा उम्मीदवार सुशांत घोष पर हमले की खबर है। यहां भी हमले का आरोप तृणमूल कांग्रेस के कार्यकर्ताओं पर लगा है।

असम में भाजपा के 100 से ज्यादा सीटें जीतने का दावा

मिदनापुर की जिन 13 सीटों पर शनिवार को वोटिंग हुई है, इन पर तृणमूल कांग्रेस से बीजेपी में आए शुभेंदु अधिकारी का दबदबा माना जाता है। इधर, असम में पहले फेज में ही मुख्यमंत्री सर्बानंद सोनोवाल मैदान में हैं। असम के मुख्यमंत्री सर्बानंद सोनोवाल ने वोट डालने से पहले डिब्रूगढ़ की बोगा बाबा मजार पर प्रार्थना की। वोट डालने के बाद उन्होंने कहा कि भाजपा 100 से ज्यादा सीटें जीतेगी।
बंगाल और असम की 77 सीटों पर 455 प्रत्याशी मैदान में हैं। दोनों राज्यों में मिलाकर 1.54 करोड़ मतदाता इन प्रत्याशियों के भाग्य का फैसला करेंगे। दोनों राज्यों में भारी तादाद में पुलिस बल तैनात किया गया है। बंगाल में केंद्रीय पुलिस बल की 730 कंपनियां तैनात की गई हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.