पशुधन बचाने के लिए रेलवे का अभियान

Spread the love

मुख्य सचिव आर्य से मिलीं जोधपुर डीआरएम पांडेय

जयपुर। जोधपुर मंडल रेल प्रबन्धक गीतिका पाण्डेय ने राजस्थान सरकार के मुख्य सचिव निरंजन आर्य से मुलाकात की। इस मुलाकात में रेलपटरियों पर दुर्घटनाग्रस्त होकर मर जाने या घायल हो जाने वाले पशुओं के प्रति संवेदनशीलता दिखाते हुए उन्हें बचाने के संबंध में रेलवे प्रशासन तथा राज्य सरकार के संयुक्त प्रयासों पर चर्चा हुई।
मुख्य सचिव निरंजन आर्य ने इसी दौरान जोधपुर के सम्भागीय आयुक्त, नागौर जिलाधीश तथा अन्य अधिकारियों से फोन पर वार्ता कर जोधपुर रेल मंडल की ओर से चलाए जा रहे पशुधन बचाओ अभियान में उठाए जा रहे कदमों की जानकारी ली। साथ ही मंडल रेल प्रबन्धक पाण्डेय से रेलवे संबंधी विषयों पर चर्चा की। इस मुलाकात में राज्य सरकार की ओर से रेलवे के पशुधन बचाओ अभियान में सहयोग करने तथा पशुपालकों व आमजन में इस विषय में जागरुकता लाने के लिये प्रयास करने पर सहमति बनी।
उत्तर पश्चिम रेलवे के मुख्य जनसम्पर्क अधिकारी गौरव गौड़ ने बताया कि जोधपुर मंडल रेल प्रबन्धक गीतिका पाण्डेय की ओर से शुरु किए गए ‘पशुधन बचाओ’ अभियान में राज्य सरकार द्वारा भी मदद करने के लिए कदम उठाये जाने का निर्णय लिया गया है। उल्लेखनीय है कि डीआरएम पाण्डेय की अभिनव पहल पर देश में पहली बार पशुधन के रेलपटरियों पर दुर्घटनाग्रस्त हो जाने के मामलों में संवेदनशीलता दिखाते हुए उन्हें बचाने की आवश्यकता बताई गई। उन्होंने निरीह, पालतु और गैर पालतु पशुओं के रेलपटरियों पर रेलगाडिय़ों से टकरा कर मर जाने या घायल हो जाने के प्रति संवेदनशीलता दिखाते हुए उन्हें दुर्घटनाग्रस्त होने से बचाने के लिये ‘पशुधन बचाओ’ अभियान की शुरुआत की है।

मुख्यमंत्री गहलोत ने दिए निर्देश

इस अभियान में सभी पक्षों के सहयोग की आवश्यकता को देखते हुए मंडल रेल प्रबन्धक पाण्डेय ने राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत से विशेष मुलाकात करते हुए उनसे सहयोग की मांग की थी। मुख्यमंत्री गहलोत ने पशुओं को बचाने के प्रति विशेष सहृदयता दिखाते हुए महत्वपूर्ण बिन्दु बताये तथा राज्य सरकार के पूर्ण सहयोग प्रदान करने के लिये दिशानिर्देश दिए। उल्लेखनीय है कि पश्चिमी राजस्थान में पानी और खेती की कमी के कारण ग्रामीण क्षेत्रों में पशुधन जीविका का प्रमुख साधन है।

ताकि बचे पशुधन

इस बारे में जन जागरुकता लाने के लिये इस अभियान में रेलवे सुरक्षा बल के जवानों, जनप्रतिनिधियों, पशुप्रेमियों व सामाजिक कार्यकर्ताओं द्वारा लगातार ग्रामीणों, पशुपालकों को समझाइश के जरिये पशुओं की महत्ता को बताया जा रहा है तथा उन्हें रेल पटरियों से दूर रखने को कहा गया है । पशु पालकों को अपने पशुओं को रेलपटरियों और उसके आसपास चराने नहीं लाने के बारे में समझाया जा रहा है। इसके साथ- साथ पशुओं के प्रति प्रेम व संवेदनशीलता दिखाते हुए उनकी जान की रक्षा के लिए प्रयास करने के लिये प्रेरित किया जा रहा है।

About newsray24

Check Also

लायंस क्लब के शिविर में 280 रोगियों की नेत्र जांच

Spread the love मदनगंज किशनगढ़. लायन्स क्लब किशनगढ़ क्लासिक के तत्वावधान में जिला अंधता निवारण …

Leave a Reply

Your email address will not be published.