नौतपा में प्रचंड गर्मी के आसार

Spread the love

स्वामी सौरभ राघवेंद्र आचार्य ने दी जानकारी


जयपुर। आगामी 25 मई से नौतपा प्रारंभ होने वाला है। इस दौरान प्रचंड गर्मी होने के आसार है। इसके बारे में स्वामी सौरभ राघवेंद्र आचार्य महाराज ने बताया कि ग्रहों के राजा सूर्य देव 25 मई को सुबह 8.47 पर 15 दिन के लिए रोहिणी नक्षत्र में रहते हैं। सूर्य के उग्र होने की वजह से शुरुआती 9 दिनों में गर्मी बहुत ज्यादा मात्रा में बढ़ जाती है। इस वजह से आरंभ के 9 दिन को नौतपा कहां जाता है। रघुनाथ धाम रामानुज आश्रम के पीठाधीश्वर स्वामी सौरभ राघवेंद्र आचार्य महाराज ने बताया कि 25 मई से नौतपा आरंभ होने जा रहा है। इस बार वैशाख मास की शुक्ल पक्ष चतुर्दशी मंगलवार प्रात: 8.46 मिनट पर सूर्य रोहिणी नक्षत्र के प्रथम चरण में प्रवेश करेगा। जब से नौ तपा आरंभ हो जाएगा। इस समय सूर्य ग्रह वृषभ राशि में राहु बुध शुक्र ग्रह के साथ गोचर कर रहे होंगे राहु ग्रह भी रोहिणी नक्षत्र के 3 चरण में रहेगा रोहिणी नक्षत्र का स्वामी चंद्र ग्रह माना जाता है। जब सूर्य के साथ रोहिणी नक्षत्र का प्रवेश होता है तो गर्मी अधिक होती है इस बार भी गर्मी अधिक रहेगी।

हल्की बारिश की भी संभावना

रघुनाथ धाम रामानुज आश्रम के ज्योतिषाचार्य पंडित निलेश शास्त्री ने बताया कि सूर्य ग्रह 25 मई मंगलवार से 8 जून मंगलवार तक रोहिन्न नक्षत्र में रहेंगे। नौ तपा 9 दिन तक चलता है। यह 25 मई से 2 जून बुधवार तक रहेगा जब तक गर्मी का तापमान अधिक रहेगा नौ तपा के आरंभ में के समय गर्मी अधिक होगी। जेष्ठ मास होने के कारण गर्मी में अधिकता रहेगी। हल्की बारिश आने की भी संभावना बन रही है नौतपा में गर्मी अधिक रहती है तो आने वाले बारिश के दिनों में वर्षा अच्छी होती है।

कौन कौन से ग्रह बदलेंगे अपनी चाल

नौ तपा के दूसरे और तीसरे दिन यानी बुधवार और गुरुवार को बुध और शुक्र ग्रह अपनी चाल बदलेंगे। वृषभ राशि से सूर्य राहु का साथ छोड़ कर शुक्र एवं बुध ग्रह मिथुन राशि में मंगल के साथ युति कर लेगे। इससे गर्मी अधिक होने की संभावना हैं। नौ तपा के अंतिम दिन यानी 2 जून को संवत्सर के राजा मंत्री मंगल ग्रह भी कर्क राशि पुनर्वसु नक्षत्र के 4 चरण में प्रवेश करेंगे। 27 मई से ज्येष्ठ का महीना आरंभ हो जाएगा। इस समय लू हैजा आदि रोगों की संभावना अधिक बन जाती है। नौतपा के आरंभ से अंत तक कई जयंती उत्सव भी मनाए जाएंगे। इस समय घर से बाहर नहीं निकले। घर में रह कर ही सभी उत्सव जयंती आदि पर्व मनाए। इन पर्वों में 25 मई को भगवान नृसिंह जयंती, 26 मई बुद्ध पीपल पूर्णिमा, 27 मई श्री नारद जयंती प्रमुख रूप से मनाई जाएगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *