डायबिटीज के मरीज डाइट में शामिल करें जौ, कंट्रोल होगा शुगर लेवल

Spread the love

भारत सहित पूरी दुनिया में डायबिटीज के मरीजों की संख्या में बड़ी तेजी से वृद्धि हो रही है। भारत में डायबिटीज के मरीज सबसे अधिक हैं। ऐसे में भारत को डायबिटीज की राजधानी भी कहा जाने लगा है। इस बीमारी में व्यक्ति को अपने खानपान पर विशेष ध्यान देना पड़ता है। लापरवाही बरतने पर डायबिटीज से शरीर के अन्य अंगों को भी नुकसान पहुंचता है। इसके लिए डायबिटीज के मरीजों को सही दिनचर्या, खान-पान का ध्यान रखने के साथ रोजाना वर्कआउट करना चाहिए। इस बीमारी में सबसे जरूरी है चीनी से परहेज। जो भी व्यक्ति डायबिटीज का मरीज है और शुगर कंट्रोल करनाा चाहता है तो उसे भोजन में जौ जरूर शामिल करना चाहिए। जौ के सेवन से शुगर कंट्रोल में रहता है। कई रिसर्च से यह साबित हो चुका है कि जौ डायबिटीज और मोटापा के मरीजों के लिए रामबाण है।

प्राचीन समय में लोग खाने में जौ का इस्तेमाल करते थे। इसके लिए वो रोटी, दलिया व सत्तू बनाकर जौ का उपयोग करते थे। जौ की तासीर ठंडी होने के कारण इसका उपयोग गर्मी में विशेष रूप से किया जाता रहा है। शायद इसके पीछे यही कारण था कि जौ ब्लड में शुगर की मात्रा को नियंत्रित करता है। जैसे ही हमने जौ का उपयोग कम किया, डायबिटीज ने लोगों को आ घेरा। ऐसे में हम जौ का उपयोग कर ब्लड शुगर को काफी हद तक नियंत्रित कर सकते हैं।

जौ का पानी भी उपयोगी

एक शोध में भी जौ के फायदे को बताया गया है। यह शोध इंसानों पर किया गया था। इस शोध में 20 लोगों को शामिल किया गया, जिन्हें दो वर्गों में बांटा गया। इस शोध में शामिल एक वर्ग के लोगों को जौ का दलिया एक महीने तक डाइट में खाने के लिए दिया गया। एक महीने बाद ब्लड शुगर की जांच की तो पाया गया कि जौ के सेवन से शुगर स्तर कम हुआ। डायबिटीज के मरीज ब्लड शुगर कंट्रोल करने के लिए जौ के पानी का सेवन भी कर सकते हैं। इसके लिए जौ को पानी में उबाल लें। इसके बाद पानी को ठंडा करने के बाद छानकर पी सकते हैं।

हार्ट को भी रखता है हैल्दी

जौ में बीटा-ग्लूकेन, फाइबर और फाइटोस्टेरोल्स जैसे महत्वपूर्ण तत्व पाए जाते हैं, जो वजन कम करने में सहायक सिद्ध होते हैं। विशेषज्ञों के अनुसार बीटा-ग्लूकेन क्रेविंग (नसों में ऐंठन) से निजात दिलाता है। डाइटरी फाइबर होने के कारण कोलेस्ट्रॉल के लेवल को ठीक रखने के साथ हार्ट को भी हैल्दी रखने में सहायक। वहीं, फाइबर से पेट हमेशा भरा रहता है। इससे भूख कम लगती है। इसके लिए मोटापे से परेशान व्यक्ति जो को अपनी डाइट में शामिल कर वजन कम कर सकते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.