कामगारों को सौंपे राशन किट

Spread the love

रेलवे अधिकारियों ने किया वितरण


मदनगंज-किशनगढ़.
कोरोना काल में आर्थिक विषमता से जूझ रहे रेलवे कामगारों की सहायता के लिए उत्तर पश्चिम रेलवे जयपुर मंडल की मंडल रेल प्रबंधक मंजूषा जैन अपने अधिकारियों व कर्मचारियों को लगातार प्रेरित और निर्देशित कर रही हैं। इसी क्रम में शुक्रवार को दौसा व बांदीकुई रेलवे स्टेशनों पर काम करने वाले आर्थिक रूप से कमजोर हुए कामगारों जो अपनी आजीविका के लिए पूर्ण रूप से रेलवे पर निर्भर है जैसे कुली, कैटरिंग, वेंडर, स्टेशन, सफाई कर्मी इत्यादि को राशन सामग्री के किट का वितरण मंडल वाणिज्य प्रबंधक अजीत कुमार मीना द्वारा किया गया। राशन सामग्रियों में प्रत्येक कर्मी को 10 किलो आटा, 5 किलो चावल, 3 किलो दाल, 2 किलो खाने का तेल, 2 किलो चीनी, 1 किलो नमक, 2 किलो आलू तथा मिर्च, धनिया, हल्दी, गरम मसाला और चाय पत्ती के एक-एक पैकेट दिए गए। ये कार्य पूर्ण रूप से रेलवे अधिकारियों व कर्मचारियों के आर्थिक सहयोग से किया जा रहा है। इस अवसर पर स्टेशन अधीक्षक मुख्य वाणिज्य निरीक्षक, स्वस्थ निरीक्षक, मुख्य माल पर्यवेक्षक जैसे रेलवे कर्मचारी उपस्थित रहे।

सफाई कर्मचारी लगातार दे रहे सेवाएं

कोरोना संक्रमण की महामारी को रोकने के लिए उत्तर पश्चिम रेलवे के प्रमुख स्टेशनों पर सफाई कर्मचारी दिन रात रेलवे परिसरों को स्वच्छ रखने में जुटे हुए है, जिससे यात्रियों को संक्रमण से बचाया जा सके।
उत्तर पश्चिम रेलवे के उपहाप्रबंधक (सामान्य) व मुख्य जनसम्पर्क अधिकारी लेफ्टिनेंट शशि किरण के अनुसार कोरोना महामारी में हर कोई अपने अपने स्तर पर रोकथाम में जुटा हुआ है। रेलवे स्टेशनों पर कार्य करने वाले सफाई कर्मचारी रेलवे का एक ऐसा वर्ग भी है जो पूरी तरह बिना किसी प्रचार प्रसार के पूर्ण मनोयोग के साथ सेवा और समर्पण की भावना के साथ स्वच्छता के काम में जुटा हुआ है और कोरोना संक्रमण के विरूद्ध लड़ाई में अपना योगदान दे रहा है। रेलवे स्टेशनों को साफ सुथरा रखने में सबसे बड़ा योगदान सफाई रेल कर्मचारियों का हैं, ये सफाई कर्मचारी दिन रात कार्य कर अपने काम पूरी मुस्तैदी से निभा रहे है। उत्तर पश्चिम रेलवे के प्रमुख स्टेशन पर दैनिक आधार पर यात्रियों की यात्रा संक्रमण मुक्त रखने के लिए रेलवे स्टेशन पर कार्यरत सफाई कर्मचारी भी पूरी मुस्तैदी के साथ लगातार कार्य कर रहे है। संक्रमण मुक्त करने के लिए प्रत्येक गाड़ी के आगमन/प्रस्थान के बाद प्लेटफॉर्म धोया जाता है, सभी कॉमन ऐरिया जैसे वाटर हट, शौचालय, टिकट काउंटर, आगमन/प्रस्थान गेट, प्रतीक्षालय कक्ष आदि को निरंतर सैनेटाइज किया जा रहा है। इसके साथ ही सफाई कर्मचारियों को भी प्रत्येक एक घंटे के बाद सैनेटाईजिंग प्रोसेस द्वारा सुरक्षा उपलब्ध करवाई जा रही है। उन्हें मास्क/सैनेटाईजर की निरंतर आपूर्ति सुनिश्चित की जाती है एवं सफाई के उपकरणों को भी निरंतर संक्रमण मुक्त किया जाता है, जिससे रेल यात्रियों को संक्रमण रहित यात्रा उपलब्ध कराई जा सके।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *