उत्तर-पश्चिम रेलवे में 27 हजार का वैक्सीनेशन

Spread the love

रेलवे अस्पतालों में 260 बेड कोविड मरीजों के लिए आरक्षित
जयपुर।
उत्तर-पश्चिम रेलवे के चिकित्सा विभाग द्वारा कोविड-19 महामारी के मद्देनजर अब तक 27 हजार से अधिक रेलकर्मियों का वैक्सीनेशन ्रके साथ कई आवश्यक कार्यों को क्रियान्वित किया जा रहा है।
उत्तर-पश्चिम रेलवे के उप महाप्रबन्धक (सामान्य)/ मुख्य जनसम्पर्क अधिकारी लेफ्टिनेंट शशि किरण के अनुसार उत्तर पश्चिम रेलवे के 15 हजार 288 कर्मचारियों को वैक्सीनेशन की प्रथम डोज एवं 2675 कर्मचारियों को द्वितीय डोज लगा दी गई है। इसी प्रकार रेलवे द्वारा 8999 लाभार्थियों को प्रथम डोज एवं 919 लाभार्थियों को द्वितीय डोज लगा दी गई है। इस प्रकार प्रथम एवं द्वितीय डोज मिलाकर 27,881 का वैक्सीनेशन किया जा चुका है।

कोविड मरीजों के लिए बेड आरक्षित

उत्तर-पश्चिम रेलवे ने 260 बेड्स को कोविड मरीजों के लिए डेडिकेटेड किया है, इनमें केन्द्रीय चिकित्सालय, जयपुर में 100, मण्डल चिकित्सालय, अजमेर में 60, मण्डल चिकित्सालय, जोधपुर में 50 एवं मण्डल चिकित्सालय, बीकानेर में 50 बेड्स को आरक्षित किया गया है। आवश्यकता होने पर केन्द्रीय चिकित्सालय जयपुर में 50, जोधपुर में 50 एवं अजमेर में 15 बेड्स की अतिरिक्त व्यवस्था के लिए पूरी तैयारी कर ली गई है। महामारी के बढते प्रकोप को देखते हुए रेलवे प्रशासन ने आइसोलेशन के लिए अजमेर में राजस्थान सरकार के सहयोग से कायड़ विश्राम स्थली में 400-500 बेड्स, क्षेत्रीय रेल प्रशिक्षण संस्थान-उदयपुर, वाणिज्य प्रशिक्षण संस्थान-बीकानेर, हॉलीडे होम, यूनियन ऑफिस-जोधपुर के साथ ही पुराने महाप्रबन्धक कार्यालय तथा पुरानी ओपीडी बिल्डिंग को चिन्हित किया गया है, जिन्हें आवश्यकता पडऩे पर तुरंत उपयोग में लिया जा सकता है।

चिकित्सा सामग्री की खरीद जारी

उत्तर-पश्चिम रेलवे के उप महाप्रबन्धक (सामान्य)/ मुख्य जनसम्पर्क अधिकारी लेफ्टिनेंट शशि किरण ने बताया कि कोविड महामारी के लिए उत्तर पश्चिम रेलवे के चिकित्सा विभाग द्वारा विभिन्न प्रकार कि चिकित्सा सामग्री जैसे पीपीई किट, एन-95 मास्क एवं अन्य सामग्री की खरीद के लिए सम्बन्धित प्रभारियों को दिशा-निर्देश प्रदान कर दिए गए है। चिकित्सा विभाग की ओर से उत्तर-पश्चिम रेलवे में 19 चिकित्सक विशेष रूप से कोविड के संदर्भ अनुबन्ध के लिए नियुक्त किए गए हैं, जो कि वर्तमान में कार्यरत हैं। साथ ही 9 ऑनररी विजिटिंग स्पेशलिस्ट को अनुबन्ध के तहत 4 विशेषज्ञ डॉक्टरों की सेवाएं लेने के लिए अनुबन्ध किया गया है। उत्तर पश्चिम रेलवे के अस्पतालों में ऑक्सीजन की निर्बाध सप्लाई के लिए 4 ऑक्सीजन जनरेशन प्लांट स्थापित करने का कार्य प्रगति पर है।

About newsray24

Check Also

भारत में समुद्र के अंदर दौड़ेगी बुलेट ट्रेन

Spread the love देश में पहली बार समुद्र के अंदर दौड़ेगी बुलेट ट्रेन, जानें कितनी …

Leave a Reply

Your email address will not be published.