सांसद चौधरी ने आक्सीजन कंसंट्रेटर के लिए जारी किए 90.16 लाख

Spread the love

अजमेर लोकसभा क्षेत्र की आठों विधानसभा क्षेत्रों के चिकित्सालयों में 90.16 लाख की लागत से होगा कार्य
जयपुर। वर्तमान कोविड महामारी के बढ़ते प्रकोप एवं ऑक्सीजन की कमी की पूर्ति के लिए अजमेर सांसद भागीरथ चौधरी ने सांसद मद से 90.16 लाख रूपए स्वीकृत किए है। इससे 115 नए ऑक्सीजन कंसंट्रेटर लोकसभा क्षेत्र के विभिन्न चिकित्सालयों में लगवाएं जाएंगे। साथ ही गंभीर रोगियों के लिए एक एंबुलेंस के लिए भी 30 लाख रूपए की राशि स्वीकृत की है।
राजकीय यज्ञनारायण चिकित्सालय किशनगढ़, राजकीय सामुदायिक स्वास्थ केन्द्र अरांई, जिला चिकित्सालय केकड़ी, राजकीय चिकित्सालय सरवाड़, राजकीय चिकित्सालय नसीराबाद, राजकीय चिकित्सालय पीसांगन, राजकीय चिकित्सालय पुष्कर, राजकीय चिकित्सालय रूपनगढ़, राजकीय चिकित्सालय विजयनगर, राजकीय चिकित्सालय चिकित्सालय मसूदा, राजकीय सेटेलाईट चिकित्सालय अजमेर, राजकीय सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र पंचशील अजमेर, राजकीय जवाहर लाल नेहरू चिकित्सालय अजमेर, राजकीय उपजिला चिकित्सालय दूदू, राजकीय चिकित्सालय फागी, राजकीय चिकित्सालय मौजमाबादए के लिए उपलब्ध कराने के लिए स्वीकृति जारी कराने की अनुशंसा जारी की है। सांसद चौधरी ने 90.16 लाख की राशि जारी कर कलक्टर अजमेर एवं जयपुर को पत्र लिखा कि वर्तमान समय में कोविड के गंभीर मरीजों को ऑक्सीजन की कमी ना हो इसके लिए शीघ्र ही उपरोक्त चिकित्सालयों में ऑक्सीजन कंसंट्रेटर अविलंब क्रय कर उपलब्ध कराएं।

एंबुलेंस भी खरीदें

इसके साथ ही किशनगढ़, दूदू, पुष्कर, केकड़ी, नसीराबाद, मसूदा, केकड़ी विधानसभा क्षेत्र के गंभीर ग्रामीण रोगियों को लाने ले जाने के लिए क्रिटिकल केयर एम्बुलेंस के लिए भी सांसद मद से 30 लाख की राशि जारी कर एंबुलेंस क्रय की अनुशंसा की है। उक्त एंबुलेंस किशनगढ़ स्थित राजकीय यज्ञनारायण चिकित्सालय पर उपलब्ध रहेगी।

हेल्पलाइन भी चालू

इसके अतिरिक्त कोविड महामारी के इस समय में सांसद भागीरथ चौधरी ने हेल्पलाइन जारी की है जिसके नम्बर 9414011998, 9414011798, 9414869247 है जिसकी मोनिटरिंग स्वयं सांसद द्वारा की जा रही है। गंभीर रोगियों को आपात चिकित्सा एवं जयपुर दिल्ली रेफर हो रहे रोगियों के निरन्तर फोन इस हेल्पलाइन पर आ रहे हैं जिनकी यथा संभव मदद भी हेल्प लाइन द्वारा की जा रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.